अभी-अभी राजद में लगी आग : तेजप्रताप यादव ने बनाई लालू-राबड़ी मोर्चा पार्टी

0
636
नई पार्टी की घोषणा करते राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के पुत्र तेजप्रताप समर्थकों के साथ

खुलकर किया चुनाव में उतरने का ऐलान

कहा- दो सीट मांगी थी, कौन सी गुनाह कर दी

अब तो छपरा से या तो मेरी मां लड़ेगी या मैं खुद

कहा- जब कमिटमेंट कर दिया तो खुद की भी नहीं सुनता

पॉलिटिकल डेस्क, पटना।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के लाल तेजप्रताप यादव ने आज सोमवार को नई पार्टी का ऐलान कर दिया। नाम रखा है लालू-राबड़ी मोर्चा पार्टी। कहा है कि ये राजद से अलग नहीं है। हमने तीन सीटें मांगी थी एक मिली । पर दो नहीं। मैंने दो सीटें मांग कर कौन सा गुनाह कर दिया। सो अब तो जंग छिड़ गई है तो जारी रहेगी। मैं जो कमिटमेंट कर देता हूं तो फिर अपनी खुद की भी नहीं सुनता हूं। फिल्मी स्टार सलाम खान के इस डायलॉग के साथ फिल्मी स्टाइल में ये भी घोषणा कर दी की छपरा से मेरी मां राबड़ी चुनाव लड़ेगी नहीं तो मैं खुद मैदान में उतरूंगा। यानि ससुर जी के खिलाफ भी वगावत का बिगूल फूंक दिया है। आपको बता दें कि छपरा से राजद ने चंद्रिका राय को टिकट दिया है। जो तेजप्रताप यादव के रिश्ते में ससुर लगते हैं। यानि एक साथ दो निशाने साधे हैं तेजप्रताप ने भाई तेजस्वी और ससुर चंद्रिका दोनों के खिलाफ।

अब रिपोर्ट विस्तार से।

लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप सोमवार को लालू-राबड़ी मोर्चा पार्टी का ऐलान किया। हालांकि, उन्होंने कहा कि उनका मोर्चा और राजद एक ही पार्टी है। लेकिन, तेज प्रताप ने शिवहर और जहानाबाद लोकसभा सीट की मांग की। उन्होंने अपने ससुर चंद्रिका राय के खिलाफ सारण सीट पर उतरने का ऐलान किया।

दो सीट मांगकर कौन सी गलती कर दी

तेजप्रताप ने कहा कि महागठबंधन में कोई 3 सीट मांग रहा है तो कोई 5, मैंने 2 सीट मांगकर कौन सी गलती कर दी। पार्टी में कार्यकर्ताओं की अनदेखी हो रही है। जो कार्यकर्ता पार्टी के लिए जी जान से लगा रहता है, वैसे लोगों को टिकट नहीं दिया गया। मैं तो सिर्फ जहानाबाद और शिवहर में दो कार्यकर्ताओं के लिए टिकट मांग रहा था। इस सवाल पर कि अभी तो शिवहर सीट पर प्रत्याशी का ऐलान नहीं हुआ है, तेजप्रताप ने कहा कि यह सीट मुझे कहां मिली है। मैंने शिवहर से अंगेश सिंह के लिए टिकट मांगा है, लेकिन उनके नाम का ऐलान अभी तक नहीं हुआ। जहानाबाद से चंद्र प्रकाश के लिए टिकट मांग रहा था, लेकिन सुरेंद्र यादव को चुनावी मैदान में उतारा गया।

परिवार को लड़ाने की कोशिश

राजद नेता ने कहा कि तेजस्वी के करीबी लोग उनको बरगला रहे हैं। उन्हें उल्टा-सीधा पढ़ाकर परिवार में फूट डालने की कोशिश कर रहे हैं। वे लोग चाहते हैं कि घरवालों को आपस में लड़ाकर राज किया जाए। मैं एक बात साफ कर देना चाहता हूं कि तेजस्वी ही मेरा अर्जुन है और उसे मुख्यमंत्री बनना मेरा लक्ष्य है। पार्टी में गलत काम करने वालों को निकाल बाहर करेंगे।

मौर्य न्यूज18 की रिपोर्ट