डीजीपी ने प्यार से समझाया- “बाबूजी” “भैयाजी” डीजे मत बजाना ! । Maurya News18

0
614
GUPTESHWAR PANDEY, DGP, BIHAR

बिहार की जनता को सोशल मीडिया के जरिए संदेश पहुंचा

गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा- होली की तरह रामनवमी को भी ऐतिहासिक बनाएं

प्यार से कड़े संदेश भी दिए, हुलड़बाजी करेंगे तो गुंडा लिस्ट पर नाम चढ़ जाएगा, और नेट पर जारी होगा नाम

नयन, पटना। मौर्य न्यूज18

नमस्कार ! मैं डीजीपी बिहार। गुप्तेश्वर पांडेय। एकबार फिर आपके सामने सोशल मीडिया के माध्यम से फेसबुल लाइव हूं। मुझे बहुत खुशी है कि आपने बहुत प्यार से होली मनाई। बहुत गर्व हुआ। आपने शालिनता का परिचय दिया। और होली बड़ी ऐतिहासिक तरीके से। शांतिपूर्व माहौल में मनाई गई। बिना हिंसा के सबकुछ अच्छे से बिता। पूरी दुनिया में इससे बिहार का मान बढ़ा। इससे पूरा बिहार गौर्वान्वित हुआ है। आपका सहयोग बहुत ही सराहनीय रहा।

रामनवमी आ रहा है, गैरकानूनी कार्य से कैसे बचें

अब रामनवमी आ रहा है। एकबार फिर इसे लेकर मैं आपलोगों ने हाथ जोड़कर विनती कर रहा हूं। कि उसी तरह से इस पर्व को भी शांति औऱ सौहार्द तरीके से आप मनाएंगे। इस मौके पर डीजे बजाने का प्रचल हो चला है। जुलूस में डीजे बजाए जाते हैं। औऱ डीजे के जरिए ऐसे गाने बजाए जाते हैं जो काफी भद्दे होते हैं। ऐसे नारे लगाये जाते हैं जो दूसरों को आहत कर सकते हैं। ऐसी हुलड़बाजी की जाती है जो किसी को चोट पहुंचाती है। और ऐसा करने वाले चंद लोग होते हैं। चार-से-पांच लोग ऐसा करते हैं और 50 लोग फंस जाते हैं। तो भाई मेरे, बंधु मेरे, साथी मेरे आपसे हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि ऐसा ना करें। ऐसा करेंगे तो कानून का उलंघन माना जाएगा और आपको कानून के दायरे में जो भी सजा होगी उससे गुजरना पड़ेगा। इसमें फिर कोई आपको बचा नहीं पाएगा। कोई पैरवी आपकी नहीं सुनी जाएगी।

आपकी एक गलती से आपका क्या होगा, ये भी जानिए

रामनवमी कैसे मनाए…….

Posted by IPS Gupteshwar Pandey on Sunday, April 7, 2019

आप समझ लें कि जिस तरह से मैंने आपको होली के मौके पर समझाया था कि आपकी एक गलती आपको गुंडा लिस्ट का हिस्सा बना देगी। उसी तरह से यहां भी अगर आप कोई ऐसी गलती करेंगे। जुलूस के नाम पर हुलड़बाजी। और डीजे बाजकर उत्तेजित करने वाले, दूसरों को आहत करने वाले नारेबाजी करेंगे तो आपको इसकी सजा भुगतनी ही पड़ेगी। फिर आपको कोई बचा नहीं पाएगा। इस दौरान ऐसा भी हो सकता है, गलती करे कोई और आप उसमें फंस जाएं। इसलिए बेहतर है कि इस तरह की हड़कत करने वाले से दूर रहें और पारंपरिक तौर तरीके से, सौहार्द का परिचय देते हुए रामनवमी मनाएं। जुलूस निकालें पर शांतिपूर्ण तरीके से । ऐसा करें कि हर कोई आपके जुलूस का हिस्सा बने और पर्व को खुशियों भरे माहौल में मनाएं। भाइचारे के साथ मनाएं।

जब आप ऐसा करेंगे तो पुलिस प्रशासन आपका साथ देंगे। लेकिन कोई गैर कानूनी कार्य करेंगे तो आप सजा के लिए तैयार रहें। औऱ समझ लें कि किसी कारण से एकबार गुंडा एक्ट में आपका नाम चढ़ गया। तो आपका कैरियर चौपट हो जाएगा। क्योंकि आपके नाम अब डिजिटल जुग में नेट पर जारी कर दिए जाएंगे और पूरी दुनिया आपके करतूत को जान लेगी। आप गलती अपने गांव में करेंगे और जानकारी पूरे बिहार के थाने को हो जाएगी। यूं कहें कि पूरे देश को हो जाएगी। फिर आप कहीं भी जाएंगे तो आपका रिकार्ड दिख जाएगा। इससे आपका जीवन पूरी तरह से चौपट हो सकता है। किसी भी फिल्ड में आपको करेक्टर सार्टिफिकेट की जरूरत होगी तो उसपर आपके करतूत दर्ज कर रिपोर्ट कर दी जाएगी। फिर समझिए क्या होगा। इसलिए आपलोगों से हाथ जोड़कर निवेदन कर रहा हूं। ऐसा कोई काम ना करें जो गैरकानूनी हो। पर्व को बेहतर औऱ खुशियों के साथ मनाएं।

मेरी आप सबों को ढ़ेर सारी शुभकामनाएं।

डीजीपी सोशल मीडिया का क्यों ले रहे सहारा, ये भी जानिए

कुछ इसी अंदाज में आजकल डीजीपी बिहार की जनता को समझाने में लगे हैं। मोटिवेशन के जरिए पर्व पर बिहार की जनता, खासकर युवाओं से अपील करने का एक नया तरीका डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने अपनाया है। डीजीपी का मानना है कि अब हर किसी के हाथ में मोबाइल है। नेट से सभी जुड़े हुए हैं। सोशल मीडिया। खासकर फेसबुक का प्रयोग हर कोई कर रहा है। ऐसे में इस माध्यम से लोगों तक आसानी से किसी भी बातों को रखी जा सकती है। इसलिए समय-समय पर इसका सहाराय लेते रहते हैं। इस अनोखे अंदाज से डीजीपी बिहार की जनता में भी काफी पॉपुलर होते जा रहे हैं। क्राइम कंट्रोल का ये तरीका होली के पर्व पर भी डीजीपी ने अपनाया था, जो काफी सफल साबित हुआ।

चलते-चलते..

उम्मीद है रामनवमी पर भी लोग डीजीपी के संदेश को आत्मसात करेंगे। समझेंगे। और पहल करेंगे।

पटना से मौर्य न्यूज18 के लिए नयन की खास रिपोर्ट।