voting करने कोई आया ही नहीं…!

0
285

जमुई लोकसभा के तारापुर एरिया में दो बूथों पर जीरो मतदान, गांव वाले वोट के लिए घर से निकले ही नहीं

5 किलोमीटर की दूरी पर मतदान केन्द्र बनाए जाने से हुए नाराज, प्रशासन का मान-मनौल भी काम ना आया

नक्सल वारदात से सुरक्षा को लेकर गांव से दूर बनाए गए थे बूथ, मतदाताओं के लिए वाहन की भी थी व्यवस्था

सदानंद कुमार, जमुई, मौर्य न्यूज18।

जमुई लोकसभा क्षेत्र के तारापुल इलाके में दो बूथों पर कोई मतदान नहीं हुआ। गांव बासेपुर की दो बूथों पर लगभग दो हजार मतदाओं को वोट करना था पर ऐसा नहीं हो पाया। शून्य स्कोर के साथ पोलिंग ऑफिसर बोरिया बिस्तर समेट कर वापस लौट आए।

वजह, गांव से पांच किलोमीटर की दूरी पर मतदान केन्द्र बनाया गया था। प्रशासन ने नक्सल वारदात से सुरक्षा के मद्देनजर ये व्यवस्था की थी। लेकिन गांव वालों को ये व्यवस्था मंजूर नहीं था। नतीजा, प्रशासन के लाख मान-मनौवल के बाद भी कोई मतदान करने को बूथ तक नहीं पहुंचा। प्रशासन की ओर से मतदाताओं को बूथ तक पहुंचाने और घर तक छोड़ने के लिए पर्याप्त वाहनों की भी वयवस्था की गई थी। लेकिन सब बेकार गया।

सारी रिपोर्ट चुनाव आयोग तक लिखित की गई है।

आपको बता दें कि जमुई लोकसभा क्षेत्र देश में हो रहे आम चुनाव के पहले चरण का हिस्सा था। 11 अप्रैल 2019 को मतदान हुआ लेकिन बिहार चार लोकसभा में से यही एक अलग तरह की खबर सामने आयी है। प्रशासन तमाम पहलुओं पर विचार-विमर्श कर रहा है। कहा गया कि जहां पहले मतदान केन्द्र हुआ करता था वो पूरी तरह से असुक्षित था, वहां कभी भी नक्सलियों का हमला हो सकता था, इन्हीं सब को ध्यान में रखते हुए मतदान केन्द्र की परिवर्तित किया गया था।

जमुई से मौर्य न्यूज18 की रिपोर्ट।