डीजीपी को नशा मुक्ति का नशा

0
901

बिहार के गृह सचिव आमिर सुहानी ने भी सुनाई नशा मुक्ति केन्द्र खोलने की कहानी

नयन, मौर्य न्यूज18

पटना।

नशा मुक्ति दिवस पर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय और गृह सचिव आमिर सुहानी ने एक कार्यक्रम के जरिए बिहार के लोगों को नशा मुक्ति का संदेश दिया औऱ कहा कि ऐसी सामाजिक कुरितियों से मुक्ति पाना कितना जरूरी है।

बिहार के गृह सचिव आमिर सुहानी और डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय । फाइल फोटो >

इस अनूठे कार्यक्रम का आयोजन डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय की पहल पर शानदार तरीके से किया गया। जिसमें गृह सचिव आमिर सुहानी विशेष मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहे । औऱ उन्होंने पहली पोस्टिंग के टाइम में नशा के दुस्प्रभाव को देखकर जब चिट्टी लिखी वो वाक्या सुनाया। कहा कि तब नशा मुक्ति केन्द्र खोले जाने की पहल मैंने की थी लेकिन वो केन्द्र औऱ राज्य की सरकार के बीच काम का बंटवारा था जो चिट्टी लिखे जाने के बाद पता चला कि ये सब राज्य सरकार के अधीन है । फिर जाके 2016 में नशा मुक्ति केन्द्र खोलने में सफलता मिली।

गृह सचिव ने कहा कि नशा सामाजिक बुराइयों में सबसे गहरे तरीके से अपनी जगह बना रखा है औऱ इसे दूर करने के ढेैरों प्रयास हो रहे हैं। लेकिन जागरूक रहना और लोगों को निरंतर जाररूक करते रहना जरूरी होगा तभी एक दिन इससे मुक्ति पायी जा सकती है।

वही डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने अपनी आध्यात्मिक शैली में बातों को रखी। नशा मुक्ति अभियान को शुरू से चलाये रखने के लिए जाने जाने वाले पुलिस अधिकारी में डीजीपी एक ऐसे आईपीएस अधिकारी है जो नशा मुक्ति के लिए रात-दिन भरपूर कोशिशों में लगे रहते हैं। एक तरह से नशा मुक्ति समाज बनाने का नशा छाया सा है कह सकते हैं। अच्छी बात है बिहार के ऐसे पुलिस अधिकारी होने से सामज का भला होना तय है।

आपको बता दें कि डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने नशा मुक्ति दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में लोगों को काफी गहराई से इससे मुक्ति की जानाकारी दी और क्या कुछ कहा वीडीयो के माध्यम से आप सुन सकते हैं।