एक प्रयास : चलो ! कैंसर भगाएं !

0
487

होंगे कामयाब – स्तन कैंसर को पहचानों और सफाया करो

जागरूकता को पटना की सड़कों पर पिंक वॉक

रंग ला रही कैंसर विशेषज्ञ डॉ राजेश गोस्वामी औऱ गैस्ट्रोलॉजिस्ट डॉ मनोज की पहल, सबका मिल रहा साथ

पटना । मौर्य न्यूज18 ।

चलो कैंसर भगाया जाए। पटना के चिकित्सकों ने ही इसकी पहल की है। कई सालों से ये पहल की जा रही। जो अब रंग ला रही है। पहल ये कि समाज के बीच कैंसर के प्रति लोगों को जागरूक किया जाए। खास कर महिलाओं के लिए। जब देश बेटी-बचाओ, बेटी पढ़ाओ, आगे बढ़ाओ की नारा गढ रह है तो इसपर अमल करना भी जरूरी बनाता है। औऱ ये हर इंसान की जिम्मेवारी भी है। इसी सोंच को लेकर कैंसर स्पेशलिस्ट बिहार के युवा और जाने-माने चिकित्सक डॉ राजेश गोस्वामी स्तन कैंसर के प्रति महिलाओं-बेटियों को जागरूक कर रहे हैं।

इसके लिए कभी मिल जुलकर संवाद शैली, तो कभी गीत-संगीत औऱ सांस्कृति कार्यक्रम तो कभी सेमिनार के जरिए टॉक शो, तो कभी सड़कों पर दौड़ लगाकर, तो कभी सड़कों पर सामूहिक वॉक के जरिए जागरूक करने की ठानी है।  कई सालों से ये सब चल रहा है। अब डॉ गोस्वामी के साथ बड़ी तादाद में चिकित्सकों का समूह भी जुड़ गया है। कई संस्था भी आगे आई है। आम जन औऱ सामाजिक कार्यकर्ता तो साथ दे ही रहे। इसकी ताताद जितनी हो उतनी अच्छी होगी। और जन-जन तक स्तन कैंसर के प्रति जागरूक किया जा सकेगा।

पटना में हर साल की तरह अक्टूबर माह में पिछले दिनों पटना की सड़कों पर पिंक वॉक हुए। पूरी तरह से गुलाबी रंगों में सज-धज कर रैली निकली । सड़कों पर सब अपील करते रहे, चलो कैंसर को भगाया जाए। स्तन कैंसर के प्रति अपनी मां, बहन , पत्नी, बेटियों को बचाया जाए। जागरूक किया जाए ताकि उसे ये बूरी बला कभी छू ना सके।

औऱ इस कार्य को पटना के सन हॉस्पिटल औऱ लाइंस क्लब ऑफ पाटलिपुत्रा आस्था सहित कुछ संस्थानों ने मिलकर बखूबी निभाया।

शुरूआत सन हॉस्पिटल पाटलिपुत्र गोलबंबर से हुई। यहां से जुलूस की शक्ल में गुलाबी रैली निकाली गई। महिलाएं बड़ी तादाद में थीं, करीब 50 से अधिक चिकित्सकों का समूह भी जुटा रहा देखते-देखते 400  से अधिक लोग इस रैली का हिस्सा बन गये। सड़कों पर गुलाबी टी-शर्ट औऱ गुलाबी टोपी पहने स्तन कैंसर जागरूकता के बैनर लिए लोगों को इसकी जानकारी देते रहे।

डॉ गोस्वामी कहते हैं कि स्तन कैंसर को जागरूकता से भगाया जा सकता है। जानकारी के अभाव में आज की तारीख में ये काभी फैलता जा रहा है। औऱ जानलेवा स्टेज में पहुंच जाता है। जबकि स्तन कैंसर ऐसा है जो जानकारी होने पर महिलाओं या बेटियां खुद से इसे पहचान कर तुरंत इलाज की पहल कर सकती हैं। और इसे जड़ से भगा सकती हैं। डॉ गोस्वामी कहते हैं कि जब इसे जड़ से खत्म किया जा सकता है तो इसे पनपने ही क्यों दिया जाए।

वही सन हॉस्पिटल की ही डॉ रूमा गोस्वामी ने कहा कि महिलाएं परिवार और बच्चे सबका ख्याल रखती  हैं लेकिन खुद का ख्याल नहीं रख पाती। उन्हें इसके लिए जागरूक करना ही होगा। तभी स्तन कैंसर को सदा के लिए खत्म किया जा सकेगा।

वहीं डॉ विनिता त्रिवेदी कहती हैं कि इसकी जानकारी तो जन को लेनी चाहिए ताकि हर किसी को इसकी जानकारी रहेगी तो अधिक से अधिक इन बातों को शेयर किया जा सकेगा औऱ बातें जरूरत मंद तक पहुंच सकेगी । किसी भी मिशन में माउथ टू माउथ कैंपेन बहुत ही कारगर रहा है। इसके जरिए किसी भी बड़ी बीमारी से लड़ा जा सकता है।

डॉ मनोज कुमार बोले – घर-घर तक पहुंचे बात !

इस मौके पर क्लब के अध्यक्ष औऱ बिहार के जाने-माने पेट रोग विशेषज्ञ डॉ मनोज कुमार भी पिंक वॉक में शामिल हुए । औऱ कहा कि सड़कों में कदम-से कदम मिलाकर जिस तरह से चल रहे उसी तरह से हर घर में महिलाओं और बेटियों को इसकी जानकारी देना जरूरी है। स्तन कैंसर के फैलते जाल से बचने का उपाय यही है। बड़ी ताताद में कम उम्र में स्तन कैंसर से  महिलाओं की जान चली जा रही है। जबकि इस कैंसर को जड़ से खत्म करना आसान है। बशर्ते की पहले स्टेज में ही इसकी पहचान कर ली जाए। पहचान करना आसान है। इसके लिए जागरूक होना जरूरी है। डॉ कुमार ने ये भी कहा कि हर साल अक्टूबर माह में इस तरह का आयोजन कई सालों से हो रहा है। इसे औऱ व्यापाक किया जाएगा।

ये भी हुए शामिल

सवेरा हॉस्पिटल के डॉ वीपी सिंह, एस्म पटना से डॉ गीतांजलि, आईजीआईएमएस से डॉ दिनेश कुमार और डॉ दिवाकर तेजस्वी सहित बड़ी तादाद में चिकित्स भी इस रैली का हिस्सा बने औऱ जागरूकता के लिए दो शब्द बोले। औऱ कहा कि जहां भी जो लोग है वो स्तन कैंसर को “पहचानों” और “किल करो” के प्रति जागरूकता फैलाएं।

इस मौके पर स्कूली बच्चों ने भी हिस्सा लिया।

सबका एक ही उद्येश्य एक ही लक्ष्य चलो जागरूकता फैलाएं, स्तन कैंसर भगाएं। बेटियां बचाएं।

पटना से मौर्य न्यूज18 की रिपोर्ट