व्यापार के लिए जरूरी है आधार । Maurya News18

0
249

अब नई कंपनियों के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन हुआ आसान

बिजनेस रिपोर्ट, नई दिल्ली, मौर्य न्यूज18 ।

अब नए कंपनियों के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन आसान हो गए हैं। इसके लिए बस आधार कार्ड का होना आवश्यक, सरकार ने पंजीकरण के लिए दस्तावेजों और प्रमाणपत्रों को अपलोड करने की जरूरत को ख़त्म कर ,स्व घोषणा के आधार पर ऑनलाइन पंजीकरण के दिशनिर्देश शुक्रवार को जारी किए,ये नए नियम 1 जुलाई 2020 से लागू किए जाएंगे ।अधिकारियों का ये कहना है कि यह आयकर और मॉल एवं gst प्रणालियों के साथ उधम प्रक्रिया को जोड़ने से संभव हो पाया है।उनका ये कहना है कि जो जानकारियां दी जाएगी उनका सत्यापन स्थाई खाता और जीएसटी पहचान संख्या से कि जा सकती हैं।

दूसरे कागज को जमा करने की जरूरत नहीं

एक आधिकारिक बयान में ये भी कहा गया है कि आधार नंबर के आधार पर किसी उधम को पंजीकृत किया जा सकता है ज्यादा जानकारी ये है कि किसी भी दस्तावेज को अपलोड या जमा करने की अब कोई जरूरत नहीं है।इस तरह ये सही अर्थों में एक दस्तावेज रहित प्रक्रिया है ,आगे ये भी कहा गया कि अब सूक्ष्म,लघु ,और मध्यम (एमएसएमई)इकाइयों के उधम से जाना जाएगा ।इस प्रक्रिया को उधम पंजीकरण का नाम दिया जाएगा,जैसा पहले भी बताया गया था,संयंत्र,मशीनरी ,अथवा उपकरण में निवेश और कारोबार,अब( एमएसएमई )के वर्गीकरण के लिए बुनियादी मापदंड है।

अधिसूचना यह स्पष्ट करती है कि किसी भी उधम के कारोबार की गणना करते समय वस्तुओं या सेवाओं या फिर दोनों के निर्यात को उनके कुल बिक्री की गणना से बाहर रखेंगे,फिर चाहे संबंधित उपक्रम सूक्ष्म ,लघु ,या मध्यम हो।आगे ये भी कहा गया है कि पंजीकरण कि जो भी प्रक्रिया है ,वो पोर्टल के माध्यम से कि जा सकती है,इस पोर्टल कि जानकारी 1 जुलाई 2020 से पहले सार्वजनिक कर दी जाएगी ।सूक्ष्म ,लघु,एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय ने 1 जून 2020 को निवेश एवं कारोबार के आधार पर एमएसएमई के वर्गीकरण के नए मानदंडों कि अधिसूचना जारी की थी।

ईपीएफ पर ब्याज दरों में हो सकती है कटौती

1 जुलाई 2020 से लागू होंगे नए नियम, एमएसएमई मंत्रालय ने उसी के आधार पर शुक्रवार को एक विस्तृत अधिसूचना जारी की ,जो एमएसएमई के वर्गीकरण के विस्तृत मापदंडों और पंजीकरण की प्रक्रिया में मंत्रालय द्वारा दिए गए सुविधा के लिए किए गए प्रबंधों की विस्तृत जानकारी देता है।

एमएसएमई मंत्रालय ने जिला स्तर पर एकल खिड़की प्रणाली के रूप में एमएसएमई के लिए मजबूत सुविधा तंत्र भी स्थापित किया है

अगले बयान में ये कहां गया है कि यह उन उद्यमियों को मदद करेगा जो किसी भी कारण वश उदमय पंजीकरण दर्ज करने में सक्षम नहीं है।जिन लोगो के पास वैध आधार नंबर नहीं है, वे एकल आधार प्रणाली से भी संपर्क कर सकते है,बस उन्हें आधार नामांकन अनुरोध या पहचान के साथ बैंक फोटो पासबुक,वोटर आईडी कार्ड,पासपोर्ट या ड्राइविंग लाइसेंस,और सिंगल विंडो सिस्टम उन्हें आधार संख्या प्राप्त करने के बाद पंजीकरण करने कि सुविधा प्रदान करेगा।इस पर एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी जी का कहना है कि एमएसएमई के वर्गीकरण ,पंजीकरण ,और सुविधा की नई प्रणाली एक अत्यंत सरल और सहज प्रणाली है ।यह कारोबार को बढ़ाने की दिशा में क्रांतिकारी कदम साबित होगा।

नई दिल्ली से मौर्य न्यूज18 के लिए बिजनेस रिपोर्ट ।