मैं फ़ूलन !…फ़ूलन देवी !! Maurya News18

0
638

फ़ूलन देवी का पटना में दिया गया भाषण!

पटना, मौर्य न्यूज18 ।
politics : बिहार के पटना में लालू यादव के साथ मंच पर फूलन देवी । फाइल फोटो ।

25 जुलाई को दस्यूसुंदरी से संसद भवन में पहुंचने तक के सफर को याद करते हैं उनके चाहने वाले। याद करते हैं बलिदान दिवस के रूप में । याद करते हैं एक दलित महिला पर अत्याचार के रूप में। याद करते हैं साहसी महिला के रूप में। याद करते हैं लाख जुल्म सहकर भी खुद को बुलंदी के साथ उठ खड़ा होने वाली शक्ति के रूप में। याद करते हैं जुर्म के खिलाफ लड़ने की ताक के रूप में। फूलन को चाहने वाले हिंसा का राह छोड़ …समाज के मुख्यधारा में जुड़ने के रूप में भी याद करते हैं। वो फूलन देवी कभी बिहार के गांधी मैदान में आकर अपनी कुछ बातें रख गई । सुनिए और पढ़िए उसके कहे का अंश।

पटना के ऐतिहासिक #गांधी_मैदान से मैं आपकी फ़ूलन देवी बोल रही हूँ…

जिसने मेरी इज़्ज़त से खिलवाड़ किया था, मैंने उन बदतमीज़ों को दुनिया से ही विदा कर दिया… 

‘एकलव्य’ अब हिचकिचाएंगे नहीं, ‘द्रोणाचार्यों’ के हाथ काट लेंगे!…

25 जुलाई बलिदान दिवस है फ़ूलन देवी का। बिहार और देश के बाकी शहर गाँव में बेटियों और स्त्री जात का हाल भयावह है। ‘इज़्ज़त_लूट’ जैसे देश की पहचान बनने लगा हो। ताक़तवर अमीर और दबंग प्रभु वर्ग के अत्याचार से गरीब बेबस कुचले जा रहे।…ऐसे में 22 साल पहले पटना में ‘एकलव्य सेना’ को जगाने पहुंची फ़ूलन देवी ने जो कहा था,  वो आज के हाल-हालात में भी एक आह्वान है– #बलात्कार और #गैंगरेप के साथ ये क्यों भूल जाते हो कि इसके बाद #बेहमई भी होता है! 

” मैं गरीब हूं और गरीबों के उपर  किस तरह अत्याचार किया जाता है, मैंने  इसे काफी नजदीक से देखा है। आज तक गांव के प्रधान हमारे उपर जुल्म ढाते रहे हैं, लेकिन अब इसमें परिवर्तन लाना होगा। मेरे उपर जितने अन्याय हुए मैं उतनी ही आगे बढ़ी। मैंने उन बदतमीजों को दुनिया से ही विदा कर दिया, जिसने मेरी इज्जत से खिलवाड़ किया था। #नारी_पर_अत्याचार होगा, #महाभारत जारी रहेगा।

गरीबों पर अत्याचार हो तो एकलव्य सेना को उसका करारा जवाब देना चाहिए। एकलव्य सेना से जुडे नौजवान किसी भी गरीब पर जुल्म होते देखें नहीं बल्कि कानून की परवाह किये बगैर विरोध करें। याद रखिये गरीबों के बीच एकजुटता से ही न्याय हासिल किया जा सकता है। आज जरूरत है अमीरी हटाने की, क्योंकि अमीरी हटने पर गरीबी खुद ब खुद जायेगी।

एकलव्य हमारे उद्धारक थे, जिसे हमारे शोषकों ने अंगूठा काटकर जंगल भेज दिया। लेकिन अब समय बदल गया है तथा सैंकड़ो #एकलव्य पैदा हो गये हैं। अगर दुर्भाग्य से फिर किसी #द्रोणाचार्य ने अंगूठा काटने का काम किया तो इस-बार एकलव्य उनका हाथ काट डालेंगे।
पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह और लोजपा लीडर रामविलास पासवान के साथ फूलन देवी । फाइल फोटो।

मैं मंच पर आसीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद जी से आग्रह करना चाहती हूं कि वे महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रावधान करें। जब तक महिलायें पराया धन समझी जायेंगी। उनपर अत्याचार जारी रहेगा। साथ ही मैं एकलव्य सेना के सभी नौजवानों से कहना चाहती हूं कि वे अपनी बेटियों को पढ़ायें। उन्हें बुजदिल न बनायें। आज अगर कोई एक चांटा मारता है तो उसे उलट कर दो चांटा मारना चाहिए। चाहे मार खाने वाला लड़की का पति हो या भाई।

अंत में मैं यह कहना चाहती हूं कि मुझे जेल जाने का कोई डर नहीं है, जब तक जिंदा हूं अत्याचार के खिलाफ मेरी लड़ाई जारी रहेगी।”

( दस्यु_सुंदरी सह भूतपूर्व सांसद फूलन_देवी ने बिहार की राजधानी पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में दिनांक 18 फरवरी 1996 को एकलव्य_सेना द्वारा आयोजित रैली को संबोधित किया था। इस अवसर पर तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू_प्रसाद भी मौजूद थे। उन्होंने फूलन देवी को भारत की बहादुर_बेटी की संज्ञा दी थी।

आभार – नवेन्दु कुमार

फ़ारवर्ड_प्रेस के दस्तावेज से साभार )