यकीन मानिए अंक ज्योतिष कोरोना से भी बचाएगा…जिंदगी भी बदलकर रख देगा, मिलिए अंक की जादूगर सुनीता एसडी काबरा से . Maurya News18

0
929

कोरोना संकट में मिलिए मॉर्डन मास्टर न्यूमेरोलॉजिस्ट सुनीता एसडी काबरा से…बदलेगी आपकी जिंदगी ।

नयन, नई दिल्ली, मौर्य न्यूज18 ।

विज्ञान के दौर में ज्योतिष । ज्योतिष में भी अंक की गणना। यानि अंक ज्योतिष । ये अंक ज्योतिष जीवन में क्या कुछ कर सकता है। कितना जीवन बदल सकता है। क्या इस पर भरोसा किया जाए या नहीं। भरोसा करें भी तो क्यूं करें इस बात को समझना बहुत जरूरी है। कहने वाले कहते भी हैं कि अंकों की गणना करने वाले गलत हो सकते हैं लेकिन अंक ज्योतिष नहीं।

 विश्वास में बहुत ताकत है। विश्वास तभी सफल है जब आप किसी चीज में पूरा विश्वास करते हैं। कोरोना संकट औऱ लोगों की आर्थिक स्थिति , तरह-तरह की परेशानी औऱ आम लोगों की छोटी-छोटी समस्याएं जो पूरे जीवन को तबाह कर दे रही है। ऐसे संकट के दौर में आम इंसान क्या करे। अंक ज्योतिष क्या कोई मददगार साबित हो सकता है। ये सब जानने के लिए मौर्य न्यूज18 ने बात की देश की जानी-मानी अंक ज्योतिषय गणना करने में माहिर सुनीता एसडी काबरा से।  

हमने ये जानने की कोशिश की कि कोरोना संकट में अंक ज्योतिष आम लोगों की कितनी मदद कर सकता है।

श्रीमती काबरा कहती हैं – कोरोना संकट अभी मार्च 2021 तक परेशान करेगा। हर एक हजार साल पर कोई भी प्लानेट चरम पर आता है, 2020 की तरह ही, 1010 में चंद्रमा का असर था, और संकट आए थे। अब आगे भी जब 3030 आएगा तो शुक्र का भीषण असर होगा। अब तक का रिकार्ड यही बताता है। और ये  वर्ष 2020 भी उसी का हिस्सा है। ऐसे में इंसान को अपनी मानसिक मजबूती से रहना जरूरी है।

पर ये संकट में आम लोगों का दिमाग भी तो काम नहीं करता, ऐसे में अंक ज्योतिष कैसे मदद कर सकता है।

श्रीमती काबरा कहती हैं, बात सही है मानसिक मजबूती में भी दिक्कत है। कोरोना ने लोगों के मन में डर तो बैठा ही दिया है। यही घातक है। पहले तो मन से इस डर को हटा दें कि कोरोना जान लेवा है। इसके अलावा भी कई बीमारियां हैं जो जान लेवा है लेकिन मानसिक रूप से हम लड़ाई लड़ते हैं।

बात तो सही कह रही है लेकिन आप जिस ज्योतिष कला में माहिर हैं कोई उपाय बताएं जो आम लोग कर सकें और कोरोना से बच सकें।

जरूर उपाय तो है। लेकिन उनके लिए है जो अंधविश्वास नहीं विश्वास करते हैं उनके लिए उपाय है।सबसे पहले हर इंसान को किसी आसपास के हॉस्पिटल में जाकर वहां अगर कैंटिन हो तो उसमें कुछ खरीदकर या पानी का बोतल खरीद कर पी लेना है । यदि वहां कुछ ना मिले तो खुद से कहीं से भी कुछ खाने-पीने का सामान खरीद कर हॉस्पिटल में जाकर वहां पर उस खरीदे हुए चीज को खा ले। ऐसा करने से बहुत हद तक आप कोरोना संकट से बच सकते हैं। यहां, इस बात को ध्यान रखना है कि किसी को कोरोना हो चुका है तो ये उपाय उसका इलाज नहीं है। जिसको नहीं हुआ है वो इस उपाय को करके बहुत हद तक निश्चिंत हो सकते हैं। बांकी जो सुरक्षा के उपाय हैं वो तो आप करते रहें।

ये उपाय उन लोगों के लिए हैं जो ज्योतिष पर विश्वास रखते हैं। और मैं इस बात की गारंटी ले सकती हूं कि जो कोई भी इस उपाय को करेंगे, जरूर ही बहुत हद तक सुखी रह सकते हैं।

अगर ऐसी बात है तो फिर कई डाक्टर जो हॉस्पिटल में रहते हैं खाते-पीते हैं उनको तो कोरोना नहीं होना चाहिए था, पर ऐसा देखा गया है कि कई डाक्टर कोरोना से मौत के शिकार हुए हैं।

जी विल्कुल, ये बात आप ने सही कही, लेकिन यहां इस बात पर ध्यान देना होगा कि ये उपाय सिर्फ बचने के लिए है। जो आम लोग कर सकते हैं। रही बात जिन डॉक्टर की मौत हुई है उनके साथ संभवत:  कुछ औऱ भी ग्रह होंगे जिसकी वजह से मौत हुई होगी।

मैंने ये एक कॉमन उपाय बताएं हैं। इसके पीछे की वजह भी है। ज्योतिष विज्ञान ये कहता है कि जब कोई संकट की आशंका हो उसके रिलेटेड ग्रह का उपाय करना चाहिए। ये जो कोरोना का संकट है वो राहु की वजह से है। और राहु को शांत करने के कई उपाय हैं । अब चुकी इस वक्त राहु हेल्थ को इफेक्ट कर रहा है औऱ लोगों को हॉस्पिटल में भर्ती होने की नौबत ला रहा है, इसलिए हॉस्पिटल में जाकर कुछ समय बिताने औऱ खाने-पीने के लिए कह रही हूं, जो हर कोई कर सकता है।

दूसरा उपाय भी है जो किसी पास के पुलिस स्टेशन में जाकर खाने-पीने से भी दूर हो सकता है। क्योंकि राहु बहुत लोगों को एक्सिंडेट यानि सड़क दुघर्टना का शिकार भी बनाता है। इसलिए पुलिस स्टेशन में जाकर कुछ समय गुजारें और वहां कुछ खाने-पीने का काम करके आ जाएं।

ये छोटे-छोटे उपाय हैं, जो कोई भी कर सकता है । चाहे उसके राहु की स्थिति कुछ भी क्यों ना हो, अभी पूरे देश-दुनिया में राहु काल ही चल रहा है, इसलिए हमने ये बातें कहीं हैं।

चलिए ये तो बात हुई कोरोना से बचने की, लेकिन लाइफ में व्यवसाय और अन्य तरह के रोजगार भी लोग करते हैं । लाइफ में कई लक्ष्य और भी होते हैं उसमें अंक ज्योतिष किस तरह से मदद कर सकता है ?

जी सही सवाल किया आपने, अब मुद्दे की बात बताती हूं…हर इंसान अपने हिसाब से काम करता रहता है। लेकिन हर इंसान किसी ना किसी तारीख में जन्म लेता है। उसका समय काल खंड भी होता है औऱ मृत्यु के समय भी निर्धारित हैं। ऐसे में अंक ज्योतिष आपकी पूरी लाइफ हिस्ट्री तैयार कर सकता है। आप यदि जन्म के सही अंक और समय बताएंगे तो आपको पूरी तरह से ये जानकारी दी जा सकती है कि आपको क्या-क्या करना चाहिए। यहां तक की वर्तमान में जो आप कर रहे हैं और भविष्य में आपको क्या करना चाहिए इसका एक्चुअल लेखा-जोखा निकाला जा सकता है। ये सब आपको विश्वास करना होगा तभी आपकी हम अंक ज्योतिष विज्ञान की मदद से आपके हर उपायों को कर सकते हैं।

परेशानी की जहां तक बात है तो आये दिन लोग कहते हैं जो काम कर रहा हूं वो नहीं हो पाते हैं, आर्थिक स्थिति खराब हो जाती है, लक्ष्य से भटक जाते हैं, विवाह में बाधा आती है। कई परेशानियां हैं जो कॉमन है…मैं दावे के साथ कह सकती हूं कि लोग मुझसे संपर्क करें और अपने जन्म का सही अंक बताएं । मैं जो-जो कहूंगी वो आप होता हुआ देख सकते हैं।

यहां आपको स्पष्ट कर दूं कि कई लोग ज्योतिष के चक्कर में लुट-पिट जाते हैं, बर्बाद हो जाते हैं लेकिन यहां जानना जरूरी है कि अंक ज्योतिष सदियों पुरानी पद्धति है, इसलिए अंक ज्योतिष में कोई खोट नहीं, हां बताने वाले में कमी हो सकती है। ये पूरी तरह से अंक गणित का विज्ञान है, इसकी गणना बहुत ही बारीक तरीके से होती है। इसलिए गणना सही करने वाले आपके जीवन को बदल कर रख सकते हैं। आपके जन्म तारीख और वर्ष में आपकी पूरी किस्मत छिपी हुई है।

इसके माध्यम से आप अपने लाइफ में किसी भी अनहोनी को भी कम कर सकते हैं। ये पूरी तरह से विश्वास करने वाली बात है। जिन्हें इस सब बातों में भरोसा है वही इसका पालन करें। अंधविश्वास या जादूटोना समझ कर इसे ना अपनाएं। आप किस डॉक्टर से इलाज करवा रहे हैं, उनका ज्ञान किस हद तक है ये सब बातें निर्भर करती है – समस्या और समाधान में।

एक छोटा सा उपाय जो कॉमन है बता रही हूं। हर इंसान प्रकृति से जुड़ा है। आप सुनते होंगे कि ज्योतिष ने लिख दिया है कि आप में राज योग है लेकिन फिर भी वो इंसान फकीरी में जिता है। औऱ आप ये भी देखते होंगे कि बहुत लोग जो सच में फकीरी में जन्म लेते हैं लेकिन आगे चलकर वो राजा की तरह जीते हैं। ऐसा क्यों होता है। ये सब अंक ज्योतिष आपको क्लियर करेगा।

एक उपाय जो मैं बताना चाहूंगी- आंटा और चीनी मिलाकर चिटी को जरूर खिलाना चाहिए

श्रीमती काबरा , आप ये सब कब से कर रही हैं।

कहती हैं, ये कई सालों से ये सीख रही थी लेकिन लोगों की समस्या का समधान पिछले ढ़ाई-तीन साल से कर रही हूं। इस विज्ञान के जरिए हम लोगों इन बिन्दुओं पर काम करते हैं।

1 . प्लानेट यानि ग्रहों की स्थिति को जानते हैं, उसे ठीक करती हूं।

2. मैंटल स्टेटस का पता लगाकर उसे ठीक करती हूं।

3. ग्रह और मैंटल स्टेटस जानने के बाद मोटिवेशन देते हैं, जो ज्योतिषिय़ विज्ञान पर आधारित होती है।

4. लॉ ऑफ एट्रेक्शन जैसे साइंस का भी उपयोग करती हूं।

ये कुछ मुख्य बिन्दू है। जो इंसान की जिंदगी को बेहतर बनाने में काफी उपयोगी और अचूक है।

कैसे लोगों को आपसे मदद लेनी चाहिए।

कहती हैं ये तो लोगों को समझना है। कि अंक ज्योतिष पर भरोसा है या नहीं। अगर जिन्हें इस पर भरोसा है उनके लिए बहुत कुछ किया जा सकता है। कई लोग सफलता की राह को पकड़े हैं जिन्हें जीवन में हमेशा निराशा रही है। और इस विज्ञान का उपयोग कर लाभान्वित हुए हैं। हमारा पता, मेल आईडी और फोन नम्बर है जिसके जरिए संपर्क किया जा सकता है।

काबरा जी आपका मौर्य न्यूज18 से बात करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

आपका भी शुक्रिया।

अपने पाठकों से ये बता दूं कि मॉर्डन मास्टर न्यूमेरोलॉजिस्ट सुनीता एसडी काबरा के जरिए मौर्य न्यूज18 सप्ताह में एकबार विभिन्न मुद्दों की जानकारी और आपकी समस्याओं का समाधान करेगा। आपके कोई भी सवाल हों तो [email protected] पर अपने सवाल लिखकर दे सकते हैं। आपके सवालों के जवाब श्रीमती काबरा देंगी। नीचे काबराजी से संपर्क पता पर भी आप सवाल लिखकर छोड़ सकते हैं। अपना नाम, पता, फोन नम्बर और जन्म की तारीख वर्ष के साथ। पूरा डिटेल अवश्य दें।