मैं हूं बिक्रम का बेटा ! आइए मिलिए ! Maurya News18

0
327

खास मुलाकात – अतुल कुमार, भाजपा उम्मीदवार, बिक्रम विधानसभा क्षेत्र

हम राजनीति में मेहनत करके आगे बढ़े हैं, पार्टी ने मौका दिया है, जनता मालिक है…।

बिक्रम के लिए हम नए हैं…ऐसा कहना ठीक नहीं, मैं यहां का बेटा हूं – अतुल

नयन, बिक्रम, पटना, मौर्य न्यूज18 ।

  • ———————————————————————————–

बिहार की राजधानी पटना । पटना से सटे बिक्रम विधानसभा क्षेत्र। क्षेत्र की जनता ज्यादातर खेती पर निर्भर है। यहां प्रथम चरण की तारीख यानि 28 अक्टूबर 2020 को ही मतदान होना हैं। चुनावी मैदान में राजनीतिक पार्टियां यहां सारा दांव खेल रही है। सबको वोट चाहिए। किसी को जाति के नाम पर। किसी को रोजगार के नाम पर। किसी को सड़क, बिजली, पानी के नाम पर । किसी को किसानी के नाम पर । किसी को युवा के नाम पर। किसी को अनुभव के नाम पर। किसी को अपने किए काम के नाम पर। किसी को कुछ और के नाम पर । सबका अपना अंदाज है। वोट मांगने का सो, ये सब चल रहा है। अब मतदान की घड़ी है जनता को अपना निर्णय ले लेना है। चुनावी मैदान में मुकाबला त्रिकोणीय दिख रहा है… एक तो भाजपा के उम्मीदवार अतुल कुमार हैं। दूसरे हैं कांग्रेस के उम्मीदवार जो पहले से विधायक हैं…सिद्धार्थ। तीसरे हैं पूर्व विधायक , जो निर्णदलीय हैं, भाजपा के बागी नेता हैं…अनिल कुमार। जो दोनों दलीय उम्मीदवारों के सिर औऱ पांव दोनों में दर्द करा रखा है। कुल मिलाकर कह सकते हैं….

मुख्य मुकाबला भाजपा के अतुल कुमार और कांग्रेस उम्मीदवार सिद्धार्थ के बीच है। भाजपा के बागी निर्णदलीय अनिल कुमार मुकाबले को रोचक बनाए हुए हैं।

पटना के बिक्रम विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार के दौरान मौर्य न्यूज18 से खास बातचीत में हमारे साथ हैं भाजपा उम्मीदवार अतुल कुमार। फोटो – मौर्य न्यूज18
  • —————————————————————————-

इन सब के बीच मौर्य न्यूज18 की मुलाकात भाजपा के उम्मीदवार अतुल कुमार से हुई। अतुल भाजपा की ओऱ से युवा उम्मीदवार हैं, जो भाजपा जैसे संगठन में वर्षों पुराने कार्यकर्ता के तौर काम किए, कड़ी मेहनत की.., जो भी जिम्मेदारी मिली निभाया, भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बने, फिर तो शीर्ष नेताओं की नज़रों पर आए…तेजी से उभरे, पार्टी का भरोसा जीता औऱ फिर पार्टी ने पटना जिला के बिक्रम विधानसभा से टिकट थमा दिया।

भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या के साथ बिक्रम से भाजपा उम्मीदवार अतुल कुमार।
  • —————————————————————————–

अतुल के बारे में जनता के बीच चर्चा है कि भाजपा ने ऐसे उम्मीदवार को उतारा है जिन्हें पब्लिक पूरी तरह से जानती नहीं है…नए हैं….ऐसी बातें कही जा रही है…हमने अतुल कुमार से इन्हीं सवालों का जवाब मांगा….।

अतुल कहते हैं कि युवा हूं…पार्टी ने चुनाव में जाने की अनुमति दी। सौभाविक है लोग कुछ तो कहेंगे। लेकिन सिर्फ नया हूं कह देने से तो नहीं होगा। नया किसके लिए हूं जिनतक मैं नहीं पहुंच पाया। लेकिन पूरे चुनाव के दौरान जो भी ऐसा कहते रहे…अब तो मतदान होने को है….मतदान के दिन पूछिएगा जाकर सबके लिए पुराने हो चुका रहूंगा। जनता जानती है…कि बिक्रम का बेटा है…सेवा की भावना कूट-कूट कर भरी है। पढ़ा-लिखा है…जनता की समस्याओं का समाधान करता रहा है। आगे भी करने की भूख-प्यास है। हर तरह से करेगा।

जनता को ये भी पता है कि बिक्रम का ये बेटा जनता के बीच सहज औऱ सुलभ तरीके से मौजूद रहेगा। कोई घमंड पाल कर मैं कभी नहीं जीता। मेरी उम्मीदवारी भी जनता की ताकत के आधार पर हुई है। विपक्ष के लोग बरगलाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। लेकिन नतीजा ये हो रहा है कि लोग जितना बरगला रहे हैं जनता उतना ही मुझ पर भरोसे का मुहर लगा रही है। कहते हैं मैं भी जनता के बीच जा रहा हूं।

जनता मुझसे कहती है…कि आपके बारे में ये सब कहा जा रहा है मैं इस संबंध में सीधा संवाद करता हूं। अब नया होने का मुद्दा रहा ही नहीं । जनता समझ चुकी है कि मेरे विधानसभा से मेरा बेटा चुनाव लड़ रहा है जिसका नाम है अतुल कुमार । इससे ज्यादा कुछ नहीं कहूंगा। अंतिम दिनों तक सर्वे कर लीजिएगा…पता चल जाएगा।

हमने एक और सवाल उठाए…जो क्षेत्र की जनता भी कह रही है…यहां जात-पात को लेकर कड़ा मुकाबला हो गया है…तीनों उम्मीदवार एक ही जाति से हैं…सो, वोट बंटेगे और खेल बिगड़ेगा।

बिक्रम विधानसभा क्षेत्र में आयोजित चुनावी सभा में मौजूद जनता-जनार्दन ।

अतुल कहते हैं कि मुकाबले में जो भी उम्मीदवार हैं एक ही जाति-समुदाय से हैं…तो ये तो मेरी वजह से नहीं है ना…औऱ यदि है भी तो जनता उसमें से बेहतर इंसान को तलाशेगी ही…तलाशनी चाहिए….जो बेहतर होगा वोट जनता उसी को करेगी….हमारी बात जहां तक है वो हमने अपने विचार-अपने मुद्दे जो क्षेत्र के विकास के मुद्दे हैं…हमारी एनडीए की सरकार के किए काम और बिहार में बेहतर सरकार बनाने के लिए कितना जरूरी है सही उम्मीदवार को चुनना…जनसंपर्क औऱ रैली…सभा के माध्यम से जनता के बीच ऱख दिए हैं। हम चाहते हैं कि लोकतंत्र में जनता का एक-एक महत्वपूर्ण होता है..जनता बखूबी जानती है उसे क्या करना है।

अतुल कहते हैं…देश में पीएम मोदी के नेतृत्व में जनता को बहुत सारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है….बिहार में एनडीए की सरकार ने भी जनता के लिए बिजली, सड़क, पानी की बेहतर व्यस्था की है…और आगे भी व्यापक व्यस्था का प्लान है…युवाओं के लिए करने को बहुत कुछ है…ऐसे में बिक्रम को एक युवा नेतृत्व की तलाश है…जो पूरी होगी।

आपके लिए पार्टी ने बहुत सारे स्टार प्रचारकों को क्षेत्र में उतारा है…इसका असर होगा जनता पर या फंसेंगा पेंच।

भाजपा नेता मनोज तिवारी के साथ अतुल कुमार ।
केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के साथ अतुल कुमार ।

कहीं पेंच नहीं फंसने वाला…जनता जब मतदान करती है तो सोच-समझ कर करती है…जनता ने अब तक जिसको मौका दिया है…उससे काफी खफा है..वो उम्मीदों पर नहीं उतरे। सो, अब उनकी उम्मीद भाजपा ही है। ऐसे में पार्टी की ओर से स्टार प्रचारकों का आना जनता को भी काफी पसंद आया। जनता चाहती है कि पार्टी के शीर्ष नेता आकर उनसे संवाद करें। उन्हें भरोसा दिलाएं कि सच में उनके लिए क्षेत्र में विकास का काम होगा…औऱ वो जिन्हें चुनेंगे वो भरोसे पर उतरेंगे। इसलिए स्टार प्रचारकों का आना यहां की जनता को खूब पसंद आया है…निश्चित रूप से जनता उन्हें सुनने के बाद अपना मन भाजपा की ओर बना चुकी है। इसमें कोई संशय नहीं होना चाहिए।

हमने जो जनता से वायदे किए हैं…

सुना है कि आपकी ही पार्टी के बागी उम्मीदवार आपके पसीने छुड़ाए हुए हैं।

देखिए, एकबात साफ है…जब कोई राजनीति में आता है तो हर कोई चुनाव लड़ना चाहता है…आप जिनकी बात कर रहे हैं…उन्हें पार्टी मौका दी…और उन्हें जनता सदन में भी भेजने का काम की। लेकिन आप चाहेंगे कि हमेशा पार्टी आपको भी मौका दे…तो ये संभव नहीं होता…इसलिए जनता सब समझ रही है…कि वोट को बर्वाद नहीं करना है…बागी जोश में जनता को बरगलाते जरूर हैं लेकिन मतदान आते-आते जनता उन्हें पस्त कर देती है…समझा देती है…की कोई फायदा नहीं है। इसलिए उस विषय में कोई ज्यादा टिप्पणी करना भी जनता का अपमान है…क्योंकि जनता पूरी तरह से एनडीए औऱ भाजपा के पक्ष में है….उनका भरोसा अपने अपने बेटे अतुल पर है….और इस संबंध में कुछ नहीं कहूंगा…परिणाम आने दीजिए फिर आप मिलेंगे तो कहेंगे कि मैंने आपको जो कहा वो कितना सच साबित हुआ।

क्या राजद ने जिस तरह से 10 लाख नौकरी की बात कही है….और भाजपा ने 19 लाख रोजगार सृजन करने की बात कही है…उसका वोट पर असर पड़ेगा।

देखिए….जनता के बीच आप कोई प्रलोभन वाला मुद्दा छोड़ेंगे तो आपको मुक्की खानी पड़ेगी। जनता को पता नहीं है कि 10 लाख नौकरी एक ही दिन में कोई भी कहां से दे देगा। क्या आप इस तरह की बातों को फैला कर जनता को मुर्ख समझ रहे हैं। ऐसी मुर्खाता करने वालों के लिए ही भाजपा ने सच्चाई की राह चुनी है और 19 लाख रोजगार सृजन की बात कही है।

भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या और युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुजीत कुमार का हाथ थामे चुनाव प्रचार में अन्य साथियों के साथ अतुल कुमार।
भाजपा के युवा नेता संजय खंडेलिया औऱ संजय कुशवाहा के साथ चुनावी चर्चा पर।
भाजपा के युवा कार्तकर्ताओं का भी मिल रहा साथ। जो कहते हैं कदम-कदम हम हैं अतुल के साथ।

कहने को आप कुछ भी कह देंगे और वोट ले लेंगे…ऐसा नहीं है। इस संबंध में जनता के बीच हमने संवाद किए हैं…मंच से हमारी पार्टी के नेताओं से इस मुद्दे को जनता के बीच स्पष्ट तरीके से रखा है। अब जनता सब समझ गई है कि इसके पीछे कौन सी राजनीति की जा रही है। ये सब बिहार को बर्वाद करने वाले लोग हैं जो…झूठे वायदे करके फिर से बिहार पर कब्जा करने की फिराक में लोगों को बरगला रहे हैं लेकिन इसका कोई प्रभाव हमारी बिक्रम की जनता पर नहीं पड़ने वाला है….इतना समझ लीजिए। बुजुर्ग हों, माता हों, बहन हो, भाई हो…युवा हो…हर किसी को पता है करना क्या है। जनता का जिस तरह से दिनों दिन आशीर्वाद मिलता गया है। जनता गोलबंद है….और मुझ पर भरोसा बनाई हुई है।

शुक्रिया, आपने मौर्य न्यूज18 से खास बातचीत की। चुनाव परिणाम के बाद फिर मुलाकात होगी। तबतक के लिए नमस्कार।

मौर्य न्यूज18 को भी नमस्कार।

पटना के बिक्रम से मौर्य न्यूज18 के लिए नयन की खास रिपोर्ट ।