बंगाल में भाजपा हाअ..हाअ..हाअ…! Maurya News18 । Kolkata ।

0
278

तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को है ममता दीदी पर भरोसा…!

एक मुलाकात : जुलू दा, युवा नेता, टीएमसी, न्यू टाउन हाथीशाला, कोलकाता, पश्चिम बंगाल

नयन, कोलकाता, पश्चिम बंगाल, मौर्य न्यूज18 ।

..एक दृश्य पेश कर रहा हूं…।

वो देखो…देखो..देखो..भेड़ को देखो…
अरे हां…दूसरी ओर देखो…देखो भेड़िया भी है।
वो तो चिल्ला भी रहा है। कोई बात नहीं भेड़िए को चिल्लाने दो…ज्यादा चिलाएगा तो गर्दन दबोच लेंगे। अगले ही पल…गर्दन पेड़ पर टंग गई…। तालाब किनारे गर्दन। सड़कों के किनारे किसी खंभे में लटके गर्दन। लथपथ शरीर।

मैं हूं नयन। इस वक्त पश्चिम बंगाल में हूं। शहर कोलकता में हूं। नाटक देख रहा हूं। ये जो दृश्य हमने आपके सामने रखे हैं..। मेरे मन के अंदर…आंखों के अंदर उतरे दृश्य हैं…। इस नाटक का नाम है राजनीति। ये नाटक सिर्फ पश्चिम बंगाल में ही दिख रहा है। सो, आपके सामने पेश कर दिया। खैर, आगे बढ़ते हैं।

आप कहेंगे ऐसी राजनीति…बाबा रे बाबा…। बंगाल ये तेरे को क्या हो गया। पर कुछ तो हुआ है। बंगाल को कुछ तो हुआ है। जानते हैं उसी सरजम़ी से। उसी की मिट्टी से । उसी जन-मानस से। कैसी है यहां की राजनीति।  

सुनिए..सुनिए…।

आज की पहली कड़ी में हम बात कर रहे हैं… कोलकाता, पश्चिम बंगाल की। ममता सरकार की। तृणमूल कांग्रेस की। बंगाल भाजपा की। 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव और भाजपा की बंगाल पर चढ़ाई की। देश इस वक्त बंगाल में होने वाले चुनाव को राजनीति का सबसे सुपर-डुपर मैच के रूप में देख रहा है। वजह साफ है….भाजपा केन्द्र में काबिज है। वहां के बाद अब धीरे-धीरे कई राज्यों में भी सरकार बना चुकी है। कुल मिलाकर, भाजपा आज की तारीख में मुश्किल से मुस्किल परिस्थितियों में भी राज्य में भी सरकार बनाने में माहिर हो चली है, बिहार चुनाव के बाद बंगाल पर भी काबिज करने की पूरी प्लानिंग में है। जो अभी से देखी जा रही है। गृह मंत्री अमित शाह का लगातार दौरा औऱ ये कहना कि बंगाल में 200 प्लस सीट लाएंगे। राजनीति हचलत स्वभाविक है। ऐसे में ….

यहां क्या होगा। कैसे भाजपा के चाणक्य अमित शाह इस इलाके को फतह करेंगे। कैसे क्या होगा। मुस्लिम वोटर 30 प्रतिशत जो भाजपा के हैं नहीं। फिर कैसे भाजपा हूंकार भर रही- बंगाल जीत लूंगा…200 प्लस सीट लाउंगा । क्या लोकसभा चुनाव में बंगाल से 16 सीटों पर बाजी मारने के बाद क्या वाकई भाजपा यहां ताकतवर हो गई है। ऐसे ही क्या औऱ कैसे…जैसे कई सवालों के दौर में बंगाल की हालत ये है कि यहां अब सारे सवाल राजनीति पंडितों के समझ से भी बाहर होते जा रहे हैं। ऐसे में पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी पार्टी त्रिमूल कांग्रेस यानि टीएमसी क्या बाकई घबराई हुई है। या फिर चुपचाप समय का इंताजार कर रही है।

खैर, मौर्य न्यूज18 कोलकाता पहुंचक राजनीति से जुड़े प्रबुद्दजनों, कार्यकर्ताओं, समाजसेवियों से खास मुलाकात कर…  जानने की कोशिश में लगी है कि 2021 बंगाल विधानसभा चुनाव आने से पहले आपको राजनीति करने वालों के अंदर की स्थिति का पता चल जाए।


इसी क्रम में हमरी तृणमूल कांग्रेस के युवा नेता और न्यू टाउन जैसे इलाके में जनता की सेवा में निरंतर लगे रहने वाले जुलू दा से एक मुलाकात हुई । इस मुलाकत की खास बात आपके सामने है।  

  • ——————————————————————————

युवा लीडर जुलू दा … जो स्वभाव से शांत औऱ जॉली मूड वाले दिखे । हमलोंगों की मुलाकात न्यू टाउन के सेक्टर तीन इलाके में डोसे की एक दुकान पर होती है। डोसा चला। बातचीत आगे बढ़ी। वो मुस्कुराए। मैं मुस्कुराया। हैप्पी धनतेरस। हैपी दीवाली हुई। फोटो-सोटो हुआ। कुछ गुदगुदी। कुछ मस्ती भरी बातें हुई। वो बंगाली। मैं बिहारी। मिल बैठे साथ ..तो राजनीति तो होनी ही थी।

लगे हाथ मैं पूछ बैठा…।

बिहार में चुनाव हुआ। रिजल्ट आए। आपने देखा होगा। क्या कहेंगे।

थोड़ा हंसे। मुस्कुराए। बोले…सब गअड़बअड़ कर दियाआ। भाजपा वाला सब गड़बड़ कअर दिया। लालू के बेटे का सरकार बअन गअया था। लेकिन भाजपा वाला बेइमानी कअर लियाआ।  

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के परिणाम को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी गड़बड़ी वाला बताया है। कहा है कि परिणाम देखकर लगता है बड़े पैमाने पर सरकारी मिशनरी के जरिए धांधली हुई है। राजद नेता औऱ महागठबंधन की ओर से सीएम उम्मीदवार तेजस्वी यादव से बातचीत भी की और डटे रहने की सलाह भी दी।
  • ———————————————————————————————-

अच्छा। हां…यही बात है। ईवीएम में धांधली कअरता है भाजपा वाला। सेंटिंग है। तभी तो ऐसा हुआ। तेजस्वी जीता हुआ था…लेकिन देर रात तक रिजल्ट हार में बदल दिया। लेकिन आप इतना जान लो बंगाल में दीदी के पास किसी का कुछ नहीं चलेगा। यहां भाजपा का कुछ नहीं चलेगा। आने दो चुनाव देखता है मशीन में कैसे गअड़बअड़ कर लेता है।

धनतेर का दिन…दीपावली..की तैयारी…बंगाल में काली पूजा तो और भी बड़े पैमाने पर मनाए जाते हैं…सो, उसको लेकर रंगोली भरी बंगला गीत…और चहुंओर से गाड़ियों की चिलपॉ के बीच हमारी और जॉली दा की बातें गहराई में डूबती रही।

बात राजनीति की छिड़ी थी…सो, मूड भांपते ही हमने जुलू दा से भाजपा के बारे में धीरे से सवाल उठा दिया..जुलू दा बंगाल में भाजपा के बारे में क्या कहेंगे।

वैसे, अपको बता दें कि आये दिन हत्या। कभी पेड़ पर लटका । तो कभी तालाब किनारे..। कभी झोपड़ी में लाश। तो कभी सड़को पर खून से लथपथ भाजपाई। समाचार पत्रों के जरिए बंगाल में यही सब हो रहा है ऐसी जानकारी लेकर मैं बैठा था… फिर सोंचता रहा कि जुलू दा से पहली ही मुलाकात में ये सब पूछूं या ना पूंछूं….। लेकिन जरूरत नहीं पड़ी। पूछने की।

जुलू दा…बंगाल में भाजपा के सवाल पर …थोड़ा मुस्कुराए…फिर मेरी आंखो में देखा…निहारा…औऱ हंस पड़े…हाअ..हाअ…हाअ…।

कहने लगे…भाजपा औऱ बंगाल में। इस प्रदेश में भाजपा बस उतना ही है जितने में दुनिया जानती रहे कि भाजपा भी यहां है। लेकिन आपको बता दें कि बंगाल की राजनीति में ममता दीदी ही जनता के बीच सबसे भरोसे की लीडर है । बंगाल में किसी का कुछ नहीं चलने वाला। सिर्फ ममता दीदी।

दीदी की एक आवाज काफी है….जनता सिर आंखों पर बिठाती है दीदी को।

जनता के बीच पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी। फाइल फोटो । मौर्य न्यूज18 ।
  • ———————————————————————————–

कहने लगे भाजपा बैर कराती है। फूट कराती है। धर्म के नाम पर सबको बांटती है। आप जान लो बंगाल में सब बंगाली है। जिनको जो भी धर्म मानना है वो मानते हैं…लेकिन रहते सब साथ हैं। एक दूसरे से प्यार के साथ बंगाली बनकर रहते हैं। धर्म चाहे जो भी हो…पहले हम बंगाली हैं। भाजपा इसमें फूट डालने का काम कर रही।

भाजपा बंगाल में हिन्दू-मुस्लिम कर रही..ममता दीदी को ये पसंद नहीं – जॉली दा

भाजपा बंगाल में लोगों को हिन्दू-मुस्लिम कर रही है। ममता दीदी इस बात को कभी पसंद नहीं करती है। भाजपा के कार्यकर्ता जबर्दस्ती हिन्दू-मुस्लिम करते हैं…जिसकी वजह से हिंसा..मारकाट की घटना सुनने को मिलती है। ऐसा होना नहीं चाहिए। हिंसा से प्रदेश की बदनामी होती है। जुलू दा कहते हैं…. तृणमूल कांग्रेस इसके लिए पूरी तरह से भाजपा औऱ भाजपा कार्यकर्ताओं के रवैये को दोषी ठहराती है। जनता को धर्म के नाम पर भरकाएंगे तो हिंसा तो होगी ही। राजनीति करने का और भी तरीका है.. किसी और तरीके को अपनाइए…लेकिन हिन्दू-मुस्लिम मत करिए।

जुलू दा…बातों बातों में वो सब कह गए जो हमें जानना था…जुलू दा कहने लगे…कभी आइए..मेरे ऑफिस पर आराम से करेंगे पॉलिटिक्स। खूब होगी बातें। अभी तो डोसा का मजा लेते हैं। काली पूजा और दीपावली में कोलकाता से बढ़िया और कोई जगह नहीं मिलेगा। यहां की काली पूजा जरूर देखिए।

 बातचीत के दौरान ही नज़र पास में ही बनाई जा रही रंगोली पर पड़ी…., एक कलाकार जमीन पर रंगोली बनाए जा रहा था…। और वहीं पास में साउंड बॉक्स औऱ पंडाल लगे थे…बंगाली गाने बज रहे थे…गाने की धुन पर रंगोलियां तैयार की जा रही थी। जॉली दा फोन पर बिजी हो गए…कहने लगे बुलाहट है पार्टी कार्यलय पर। जरूरी है जाना। कुछ लोग मिलना चाहते हैं। फिर क्या था…बाय-बाय टाटा। आइएगा मेरे ऑफिस…मैं देखता निहारता रहा…।

एक मुलाकात : कोलकता में टीएमसी के युवा नेता जुलू दा। दाहिने से दूसरे नम्बर पर उजले चेक शर्ट में हैं। मौर्य न्यूज18
  • ——————————————————————————————————

जाते-जाते कुछ फोटो-सोटो हुआ। वो मुस्कुराए…मैं मुस्कुराया…और वो चल दिए…मैं ठहरा रहा…लेकिन राजनीति हंसती रही। मानो राजनीति मुझसे कह रही थी…बोली बंगाल में हो….जरा संभल कर…यहां राजनीति करने का है…बोलने का नहीं। कुल मिलाकर राजनीति बुलाएगी…पर जाने का नहीं।

चलते-चलते –

इसमें कोई शक नहीं की बिहार विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद बंगाल का चुनाव ही निकट भविष्य में है। ऐसे में यहां अभी से राजनीतिक गहमा-गहमी शुरू है। भाजपा का मिशन बंगाल यहां के सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस के साथ-साथ कॉम्यूनिस्ट पार्टी को भी अलर्ट कर दिया है। सो, गली-गली में हर पार्टियां अपने खुट्टे-खंभे मजबूत कर रही है। ऐसे में हमारे लिए यहां हर राजनीतिक कार्यकर्ता या इससे जुड़े लोगों की राय को जानना-समझना जरूरी है…इसी कड़ी में ये पहली प्रस्तुति थी…आगे और भी पेश करेंगे। आप बने रहिए मौर्य़ न्यूज18 डॉट कॉम के साथ ।

धन्यवाद।

कोलकाता से मौर्य न्यूज18 के लिए नयन की रिपोर्ट।