तू डीएसपी के लायक नहीं…और बना दिया इंस्पेक्टर। Maurya News18

0
62

जांच के बाद पोल-पट्टी खुली तो हो गया एक्शन

कभी सीएम नीतीश भी भड़के थे इनपर, नतीजा सामने है

Maurya News18, Patna

Crime Desk

बिहार में एक डीएसपी का नायाब खेल सामने आया है। अनुसंधान के नाम पर बड़ा गड़बड़झाला पकड़ा गया है। नीतीश सरकार ने एक डीएसपी पर सख्त कार्रवाई की है। उन्हें डिमोट कर इंस्पेक्टर बना दिया गया है। गृह विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार DSP रहे निसार अहमद अब इंस्पेक्टर हो गए हैं। आइए विस्तार से जानते-समझते हैं कि पूरा मामला क्या है…

यह पूरा मामला 2018 का है, तब निसार अहमद नरकटियागंज के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी थे। इसी दौरान एक युवक द्वारा शादी का झांसा देकर एक युवती से शारीरिक संबंध बनाने का मामला उनके समक्ष आया। इसमें पुणे के सार्थक थाना के रहने वाले जरार शेरखर को नामजद अभियुक्त बनाया गया था।

जरार शेरखर पर आरोप था कि शादी का झांसा देकर उसने महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाया है जबकि उनके घरवालों का कहना है कि वह कभी बिहार आया ही नहीं था। दुष्कर्म के झूठे मामले को सत्य करार देने को लेकर यह मामला दर्ज कराया गया था। नरकटियागंज के तत्कालीन डीएसपी निसार अहमद पर पद पर रहते हुए अनुसंधान में भारी लापरवाही का आरोप लगा था। जिसके बाद जांच बैठाई गई थी।

आरोप है कि इस कांड की जांच करते हुए उन्होंने गंभीरता नहीं बरती। वारदात में शामिल युवती की निसार अहमद ने मेडिकल जांच तक नहीं कराई। निसार अहमद ने निजी लाभ एवं स्वार्थ के लिए अत्यधिक जल्दबाजी करते हुए साक्ष्यों की समीक्षा किए बिना ही निर्णय ले लिया। हालांकि बाद में जांच में आरोपी निर्दोष साबित हुआ जिसको लेकर निसार अहमद की काफी किरकिरी हुई। इसी मामले में कार्रवाई करते हुए गृह विभाग ने उन्हें डीएसपी से अवर निरीक्षक की कोटि में अवनति दी है।

बीपीएससी द्वारा दंड पर सहमति व्यक्त किए जाने के बाद निसार अहमद की डीएसपी साहब वाली कुर्सी छीन ली गई। वे फिर से इंस्पेक्टर बन गए। बता दें कि अब तक 2 दर्जन से अधिक एसडीपीओ और डीएसपी पर कार्रवाई हो चुकी है।