गंगूबाई काठियावाड़ी की दर्दभरी कहानी ! Maurya News18

0
206

पति ने 500 रुपये में बेचा और फिर ऐसे बनीं ‘माफिया क्वीन ऑफ मुंबई’

 आलिया भट्ट स्टारर फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ का टीजर रिलीज हुआ। टीजर रिलीज होने का साथ ही सोशल मीडिया पर आलिया भट्ट जोरदार चर्चा में आ गईं और खूब तारीफें बंटोरने लगीं। हालांकि, आलिया भट्ट के साथ ही ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ के नाम की भी चर्चा तेज हो गई। कई लोग इस बारे में जानने चाह रहे हैं कि आखिर कौन हैं ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’, तो इस रिपोर्ट में हम आपको बताते हैं ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ की जिंदगी के बारे में।
लेखक एस हुसैन जैदी की किताब ‘माफिया क्वीन्स ऑफ मुंबई’ के मुताबिक गंगूबाई गुजरात के काठियावाड़ की रहने वाली थीं, जिसके चलते उनको गंगूबाई काठियावाड़ी कहा जाता है। गंगूबाई काठियावाड़ी का असली नाम गंगा हरजीवनदास काठियावाड़ी था। गंगूबाई बचपन में अभिनेत्री बनना चाहती थीं। करीब 16 साल की उम्र में गंगूबाई को अपने पिता के अकाउंटेंट से प्यार हो गया और शादी करके वह मुंबई भाग गईं। बड़े- बड़े सपने देखने वाली गंगूबाई को उनके पति ने धोखा देकर महज 500 रुपये में कोठे पर बेच दिया।
पति के सौदेबाजी की वजह से कम उम्र में ही गंगूबाई वेश्यावृत्ति में पहुंच गईं, जिसके चलते बाद में कई कुख्यात अपराधी गंगूबाई के ग्राहक बने। किताब में बताया गया है कि लाला की गैंग के एक सदस्य ने गंगूबाई के साथ बलात्कार किया था। इसके बाद इंसाफ की मांग के लिए गंगूबाई करीम लाला से मिलीं और राखी बांधकर अपना भाई बना लिया। करीम लाला की बहन होने के चलते जल्दी ही कमाठीपुरा की कमान गंगूबाई के हाथ में आ गई।
ऐसा कहा जाता है कि गंगूबाई किसी भी लड़की को उसकी बिना मर्जी के कोठे में नहीं रखती थीं। गंगूबाई ने सेक्स वर्कस और अनाथ बच्चों की मदद के लिए बहुत काम किए थे। 
अब बात फिल्म की करें तो फिल्म में गंगूबाई का किरदार आलिया भट्ट निभा रही हैं। ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ 30 जुलाई 2021 को रिलीज होगी। फिल्म के कुछ पोस्टर्स पहले भी रिलीज हुए थे, हालांकि कोविड की वजह से फिल्म रिलीज में देरी हो गई। टीजर रिलीज होने के साथ ही फैन्स आलिया की खूब तारीफ कर रहे हैं।