बजट सत्र के दौरान विधानसभा के अंदर अफरातफरी, क्यों भागने लगे लोग, जानिए। Maurya News18

0
38

Maurya News18, Patna

Political Desk

विधानसभा में हर रोज की तरह मंगलवार को भी नेता, मीडियाकर्मी व अन्य कर्मचारी मौजूद थे। बजट सत्र चल रहा है लिहाजा सुरक्षाकर्मी भी मुस्तैद थे। अन्य दिनों की तरह सबकुछ सामान्य ही था तभी एक बस परिसर के अंदर तेज गति से आती है और चहारदीवारी से टकरा जाती है। कुछ देर के लिए वहां अफरा-तफरी का माहौल बन जाता है। आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला…

थोड़ी देर बाद स्थिति सामान्य होने पर पता चलता है कि एक इलेक्ट्रिक बस का संतुलन खो गया था जिसके कारण वह विधानसभा परिसर के अंदर बाउंड्री से टकरा गई थी। इस दौरान कुछ देर के लिए अफरातफरी का माहौल जरूर रहा लेकिन शुक्र था कि जान-माल को कोई नुकसान नहीं पहुंचा।

इसके पहले नीतीश कुमार ने मीडियाकर्मियों से कहा था कि इलेक्ट्रिक बस में गाड़ी चलाने वाले, मेंटेंन करने वाले ट्रेंड हैं, एक्सीडेंट की संभावना कम रहेगी। और, कुछ ही देर बाद पहली यात्रा में उनके पीछे चलती बस के स्विच को किसी ने ऑफ कर दिया तो वह रुक गई। फिर मुख्यमंत्री के काफिले के रूप में विधानमंडल से लौटते समय यही बस वहां की रेलिंग से टकरा गई।

इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंगलवार की सुबह संवाद भवन परिसर में परिवहन विभाग का झंडा दिखाकर बसों को रवाना किया। इनमें 12 इलेक्ट्रिक बसों समेत कुल 82 बसें शामिल हैं।

यह नई बस सेवा पटना नगर, पटना-राजगीर और पटना-मुजफ्फरपुर के लिए आज से शुरू हो चुकी है। CM नीतीश कुमार खुद इस इलेक्ट्रिक बस में सवार होकर विधानसभा पहुंचे। मुख्यमंत्री के साथ इस मौके पर डिप्टी CM तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, परिवहन मंत्री शीला कुमारी और परिवहन सचिव संजय अग्रवाल भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि इलेक्ट्रिक व्हिकल के आने से लोगों का खर्च भी घटेगा। पर्यावरण का संकट भी कम होगा। बस के अंदर काफी सुविधाएं हैं। किराये की बात पर CM ने कहा कि इस बस का किराया भी अधिक नहीं लिया जाएगा।

परिवहन सचिव संजय अग्रवाल ने बताया कि इलेक्ट्रिक बसों को चार्ज करने के लिए परिवहन परिसर फुलवारीशरीफ में कुल 1200 किलोवाट के चार्जिंग स्टेशन बनाए गए हैं। रात्रि में इलेक्ट्रिक बसें चार्ज करने के बाद यहीं से खुलेंगी।