बिहार विधानसभा में हाथापाई, RJD और BJP के विधायक भिड़े। Maurya News18

0
52

Maurya News18, Patna

Political Desk

विधानसभा के अंदर शनिवार को सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायक आपस में भिड़ गए। BJP विधायक संजय सरावगी, डॉ. संजीव और उप सचेतक जनक सिंह के साथ RJD के विधायक रामवृक्ष सदा ने हाथापाई की। सदन से बाहर आने के बाद अलौली से RJD विधायक रामवृक्ष सदा ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी के भाषण के दौरान सत्ता पक्ष के विधायक हंगामा करने लगे। मना करने पर उन्होंने अपशब्दों का इस्तेमाल किया।

अलौली से राजद विधायक रामवृक्ष सदा

उन्होंने यह भी कहा कि तीनों विधायकों ने जातिसूचक शब्द से संबोधित किया। उन्होंने बताया कि तेजस्वी यादव से आदेश लेने के बाद SC-ST एक्ट के तहत केस दर्ज कराएंगे। इससे पहले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और डिप्टी CM तारकिशोर प्रसाद के बीच कहासुनी हो गई।

दरअसल, तेजस्वी यादव स्वास्थ्य बजट के कटौती प्रस्ताव पर भाषण दे रहे थे। इस दौरान उन्होंने शराबबंदी का जिक्र करते हुए डिप्टी CM तारकिशोर प्रसाद पर तंज कस दिया। उन्होंने कहा कि CM का पद तो संवैधानिक है लेकिन डिप्टी CM का पद गैर संवैधानिक है। इसके बाद सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायक हंगामा करने लगे। विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा की बार-बार अपील के बावजूद विधायक नहीं मानें। विपक्ष के विधायक वेल के पास आ गए और सत्ता पक्ष के विधायकों के साथ भिड़ंत हो गई।

तेजस्वी यादव ने कहा कि आसन से निर्देश मिलने के बाद भी मुझे बोलने से रोका गया। कोई यहां बैठ कर आसान को गाइड करे, यह उचित नहीं है।

वहीं, इस पर जवाब देते हुए सदन में संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि तेजस्वी यादव के बयान का हम खंडन नहीं कर सकते हैं। सरकार की मंशा कभी भी आसन को डिक्टेट करने की नहीं होती है। आसन सदन की मर्यादा का प्रतीक है। उत्तेजना और आवेश में कुछ बातें होती हैं।

विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने कहा कि सदन में हुई मारपीट की घटना से दुखी हूं। सदन में विमर्श किया जाता है, यहां सभी को बोलने का अधिकार है। वेल में आना और एक दूसरे पर अनर्गल आरोप लगाना, यह उचित नहीं है। विधानसभा अध्यक्ष ने यह भी कहा कि जिस दल के विधायक ने इस तरह का व्यवहार दिखाया है, उस दल के नेता उनको सदन के व्यवहार को बताएं।

उधर, राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री राम सूरत राय ने सदन में कहा कि दो दिन के भीतर तेजस्वी यादव अगर माफी नहीं मांगते हैं तो उनके खिलाफ मानहानि का दावा करूंगा। उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर लगाए गए आरोप गलत है। तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार के मंत्री राम सूरत राय को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की है।

तेजस्वी ने कहा कि मुजफ्फरपुर में राम सूरत राय की एक जमीन है, जिस पर स्कूल चलता है। वहां कुछ दिन पहले भारी मात्रा में शराब बरामद हुई थी, उस स्कूल के संस्थापक खुद मंत्री रामसूरत राय हैं।