खौफनाक मंजर : भगवान ऐसी बीवी किसी को न दे।

0
244

पहली पत्नी बार-बार हत्या की देती थी धमकी।

पांच दिन पहले फोन पर कहा था- ऐसी घटना को अंजाम देंगे कि सभी का BP बढ़ जाएगा।

30 साल के ऋषिदेव की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी

Maurya News18, Patna

Crime Desk

लोग शादी करते हैं, नयी जिंदगी की शुरुआत करते हैं। सात जनमों तक साथ निभाने की कसमें खाते हैं लेकिन ये औरत सात जनम क्या एक जनम भी रिश्ते की लाज को नहीं संभाल पाई। आप जब इसकी कहानी जानेंगे तो कांप उठेंगे। क्या एक बीवी, एक पत्नी ऐसा भी कर सकती है…

दरअसल, पूरा मामला लखीसराय जिले का है। सूर्यगढ़ा थाना इलाके में नंदपुर ढाल के पास अपराधियों ने बैंककर्मी ऋषि की गोली मारकर हत्या कर दी।  

बुधवार देर रात ​​​​​​वे बैंक ऑफ इंडिया की सूर्यगढ़ा शाखा से ड्यूटी कर घर लौट रहे थे, तभी पूर्व से घात लगाए बाइक सवार अपराधियों ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। बैंककर्मी की पीठ में 1 गोली लगी, वे घायल होकर गड्ढे में गिर गए। इसी दौरान पीछे से आ रहे ग्रामीणों की नजर घायल पर पड़ी। अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में ही बैंककर्मी ने दम तोड़ दिया।

मृतक की पहचान मेदनीचौकी थाना क्षेत्र स्थित भिड़हा गांव निवासी ऋषिदेव कुमार (30) के रूप में हुई है। वह BOI के सूर्यगढ़ा शाखा में क्लर्क था।

ऋषिदेव की फाइल फोटो

बैंककर्मी ऋषिदेव के पिता ने हत्या का आरोप उसकी पहली पत्नी पर लगाया है। बता दें कि बैंककर्मी ने बिना तलाक लिए ही खगड़िया की एक लड़की से दूसरी शादी कर ली थी।

पहली पत्नी से पुलिस कर रही पूछताछ


SP अभियान अमृतेश कुमार और जिला परिषद उपाध्यक्ष मनोज कुमार की पहल पर 2 घंटे बाद हाइवे पर स्थिति सामान्य हुई। पुलिस ने सभी अपराधियों की गिरफ्तारी का आश्वासन भी दिया। पुलिस के अनुसार, बैंककर्मी ड्यूटी कर घर लौट रहा था, तभी अपराधियों ने वारदात को अंजाम दिया। आपसी विवाद की बात सामने आ रही है।

घरवालों के बयान के आधार पर ऋषि की पहली पत्नी नूतन मेहता को हिरासत में लिया गया है। उससे पूछताछ की जा रही है।

पहली पत्नी से तलाक को लेकर विवाद चल रहा था


परिजनों के अनुसार, उसकी पहली पत्नी से तलाक को लेकर विवाद चल रहा था। पहली पत्नी सूर्यगढ़ा CHC में अकाउंटेंट है। परिजनों ने पहली पत्नी पर हत्या का आरोप लगाया है। पहली पत्नी बार-बार हत्या की धमकी देती थी।

मेदनीचौकी थानाध्यक्ष रुबीकांत कच्छप ने बताया कि मृत बैंककर्मी की पहली पत्नी के मोबाइल को खंगाला गया। ऋषिदेव की मौत के बाद नूतन ने आखिरी कॉल अपने ही विभाग एक अधिकारी को किया था। मामला संदिग्ध लग रहा है। जांच की जा रही है।

5 दिन पहले पहली पत्नी ने फोन पर दी थी धमकी

ऋषिदेव के पिता नरेंद्र कुमार ने बताया कि 5 दिन पूर्व नूतन ने कॉल कर धमकी देते हुए कहा था कि ऐसी घटना को अंजाम देंगे कि सभी का BP बढ़ जाएगा। इसके बाद से हमलोग दहशत में आ गए थे। उन्होंने आरोप लगाया कि नूतन ने ही साजिश रचकर उनके बेटे की हत्या करवाई है।

2006 में पहली शादी हुई, 6 साल का बेटा भी है

ऋषिदेव की पहली शादी मेदनीचौकी थाना क्षेत्र के हुसैना गांव निवासी नूतन मेहता से वर्ष 2006 में हुई थी। उससे एक 6 साल का बेटा हंसराज है। शादी के बाद सूर्यगढ़ा CHC में अकाउंटेंट के पद पर नौकरी लग गई। शादी के बाद ऋषिदेव के साथ करीब 5 साल तक रही थी। संदिग्ध चरित्र एवं ऋषिदेव के माता-पिता के साथ बनाव नहीं रहने के कारण पति-पत्नी के बीच तनाव उत्पन्न हो गया। उसके बाद नूतन अपने मायके में रहने लगी।

तलाक को लेकर नूतन ने केस भी किया। दोनों के बीच मामला कोर्ट में चल रहा है। इसके बाद ऋषिदेव ने दूसरी शादी 2015 में खगड़िया जिले के बन्नी गांव में प्रीति कुमारी के साथ कर ली। प्रीति से एक लड़का और एक लड़की है।