विधानसभा अध्यक्ष का पारा चढ़ा, अंगुली दिखाना बंद करिए नहीं तो…। Maurya News18

0
187

Maurya News18, Patna

Political Desk

गर्मी में पारा चढ़ना शुरू हो गया है। बाहर तो तापमान बढ़ ही रहा है, सदन के अंदर भी कम गर्माहट नहीं है। पक्ष और विपक्ष में हर रोज कोई-न-कोई मुद्दे को लेकर जबरदस्त हंगामा देखने को मिलता है। शुक्रवार को भी हंगामा इतना बढ़ गया कि विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा को कार्यवाही मंगलवार तक के लिए स्थगित करनी पड़ी।

बजट सत्र के 19वें दिन शुक्रवार को विधानसभा की दूसरी पाली की कार्यवाही शुरू होते ही पुलिस अधिनियम बिल 2021 को लेकर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया। नारेबाजी करते हुए विपक्ष के विधायक वेल में पहुंच गए। कई सदस्य आसन की ओर बिल की प्रति फाड़ कर फेंकने लगे। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने चेतावनी देते हुए कहा कि गलती मत कीजिएगा, मेरी तरफ अंगुली मत दिखाइएगा। विपक्षी सदस्यों के शांत नहीं होने पर अध्यक्ष ने विधानसभा की कार्यवाही मंगलवार 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

बिल की प्रति फाड़कर इसी जगह पर फेंक दी गई

शराबबंदी को लेकर राजद विधायकों का हंगामा

कार्यवाही शुरू होने से पहले विधानसभा गेट पर राजद विधायकों ने शराबबंदी को लेकर जमकर बवाल काटा। राजद विधायक आलोक मेहता ने कहा कि बिहार सरकार के संरक्षण में शराब की बिक्री हो रही है। पुलिसकर्मी शराबबंदी में लगे हुए हैं। इस वजह से लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति खराब होती जा रही है। साथ ही बिहार के पहले CM डॉ. श्रीकृष्ण सिंह और जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिलाने की मांग की गई।

राजद विधायक छोटेलाल राय ने सदन में सवाल उठाते हुए कहा कि DM को पत्र लिखने के बाद भी कोरोना संक्रमित 58 लोगों की मौत के बाद उनके आश्रितों को मुआवजा नहीं मिला है। भाजपा की विधायक गायत्री देवी ने सीतामढ़ी जिले में कोरोना से मौत के बाद मुआवजा नहीं मिलने का मामला उठाया। जवाब में मंत्री मंगल पांडे ने एक सप्ताह के भीतर मुआवजा दिलाने की बात कही।

राजद विधायकों का हंगामा

नयी समिति करेगी जांच

बिहार विद्यापीठ में अतिक्रमण को लेकर कांग्रेस MLC प्रेमचंद्र मिश्रा ने उठाया। मंत्री आलोक रंजन के जवाब से असंतुष्ट होने के बाद कमेटी बनाकर जांच कराने की मांग की गई। इसका सत्ता पक्ष के भी कई MLC ने समर्थन किया। सभापति अवधेश नारायण सिंह ने कहा कि पिछली बार सदन की कमेटी बिहार विद्यापीठ के लिए बनी थी। इसके कई सदस्य रिटायर हो गए और अब तक रिपोर्ट सदन के पटल पर नहीं आ सकी। सदस्यों ने मांग की कि कमेटी का समय निर्धारित कर दिया जाए। इस पर अवधेश नारायण सिंह ने कहा कि कमेटी के लिए समय निर्धारित रहता है लेकिन वह अपनी गति से चलती रहती है, और समय बढ़ता रहता है। इसके बाद सभापति ने बिहार विद्यापीठ के लिए नयी समिति बनाने की घोषणा की।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव

सदन में तेजस्वी ने रखी ADR की रिपोर्ट

इससे पहले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव विधानसभा में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दांगी मंत्रियों को लेकर सरकार पर हमला बोला। उन्होंने दागी मंत्रियों की लिस्ट भी विधानसभा अध्यक्ष को सौंपी। मंत्री रामसूरत राय को लेकर तेजस्वी यादव ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि नीतीश सरकार अपने मंत्री को बचा रही है। लेकिन उनके खिलाफ सारे सबूत विधानसभा अध्यक्ष को सौंप दिया है। ADR रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि 31 मंत्रियों में से 18 यानी 64 प्रतिशत मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं।

विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने कहा कि ADR की रिपोर्ट में तो मेरे ऊपर भी आचार संहिता का मामला दर्ज होगा, कई सदस्यों पर मामला दर्ज होगा, आप भी नहीं बचे होंगे। कोई नयी जानकारी है तो रखिए।