काम को मिला सम्मान, दिव्यांगों की सेवा के लिए पटना के डॉ. उमा शंकर सिन्हा को अमेरिका से मिला प्रशस्ति पत्र। Maurya News18

0
26

Maurya News18, Patna

Health Desk

आप अगर नि:स्वार्थ भाव से अच्छा काम करते हैं तो उसका परिणाम भी सुखद मिलता है। आज हम आपको पटना के एक ऐसे डॉक्टर की कहानी बताने जा रहे हैं, जो तन, मन व धन से दिव्यांगों की सेवा में हमेशा लगे रहते हैं। घंटों-घंटों उनकी बेहतरी के लिए काम करते हैं। युवा हैं, इसलिए जोश व जज्बा भी है।

जी हां, हम बात कर रहे हैं बिहार के सुप्रसिद्ध फिजियोथेरेपिस्ट एवं आस्था चैरिटेबल, पटना के सचिव डॉ. उमाशंकर सिन्हा की। आज उनकी चर्चा चहुंओर हो रही है। पटना में रहते हुए उन्हें अमेरिका से सम्मान पाने का गौरव हासिल हुआ है। दिव्यांगों के हित के लिए उनके बेहतर कार्य व उपलब्धि को देखते हुए डॉ. उमाशंकर सिन्हा को बिहार-झारखंड एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका (बजाना) द्वारा न्यू जर्सी में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया।

भारतीय समयानुसार यह सम्मान उन्हें सुबह के 7 बजे दिया गया। दिव्यांगता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य और समाज में बेहतरीन कार्य करने के लिए बजाना के अध्यक्ष डॉ. अविनाश गुप्ता के द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान कर विशेष रूप से सम्मानित किया गया।

विदित हो कि डॉक्टर सिन्हा बजाना अमेरिका के साथ कई वर्षों से बिहार के लिए विभिन्न परिस्थितियों में कार्य कर चुके हैं और विशेष रूप से पटना में बाढ़ के समय और अभी कोरोना महामारी में 2020 से लगातार काम कर रहे हैं।

डॉ. सिन्हा को बिहार सरकार द्वारा दिव्यांगजन सशक्तिकरण प्रक्षेत्र में “दिव्यांग व्यक्तियों के निमित कार्यरत सर्वोतम व्यक्ति श्रेणी अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य करने हेतु अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस, 2020 के अवसर पर राज्य स्तरीय सम्मान प्रदान भी किया गया है। साथ ही दर्जनों राष्ट्रीय सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों द्वारा वे सम्मानित भी किए जा चुके हैं।

डॉ. सिन्हा पिछले 20 वर्षों से दिव्यांगता के क्षेत्र में सराहनीय कार्य कर रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय सम्मान मिलने पर बजाना के उपाध्यक्ष अनुराग कुमार सिंह, आलोक कुमार, संजीव कुमार और संस्था के सभी सदस्यों ने डॉक्टर उमाशंकर सिन्हा को बधाई एवं शुभकामनाएं दीं। सभी ने उनके बेहतर भविष्य के लिए कामना की।