अनिल उरांव की हत्या पर LJP का फूटा गुस्सा, पुलिस पर लगाया संगीन इल्जाम। Maurya News18

0
105

Maurya News18, Patna

Political Desk

प्रदेश में कोरोना तो कहर बरपा ही रहा है वहीं अपराधियों ने भी नाक में दम कर रखा है। लूट, चोरी, अपहरण और हत्या की वारदात से बिहार की जनता कराह रही है। हाल ही में लोजपा आदिवासी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष व मनिहारी विधानसभा से पार्टी के प्रत्याशी रहे अनिल उरांव का बदमाशों ने पहले अपहरण कर लिया और फिर उनकी बेरहमी से हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि परिजनों ने उनकी रिहाई के लिए 10 लाख रुपये फिरौती भी दी थी।

लोजपा प्रवक्ता प्रो. विनीत सिंह

पार्टी प्रवक्ता प्रो. विनीत सिंह ने बताया कि अनिल उरांव के अपहरण के तुरंत बाद ही लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने पूर्णिया के पुलिस अधीक्षक से बात कर पूरे मामले की जानकारी ली थी और उनकी सुरक्षित रिहाई के लिए पुलिस के अन्य आलाधिकारियों से बात की थी। लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था। बदमाशों ने अनिल उरांव की हत्या कर दी।

इस घटना पर प्रो. विनीत सिंह ने रोष और दुःख प्रकट किया है और साथ ही कहा कि इसके लिए पूरी तरह से बिहार पुलिस और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि बिहार की पुलिस केवल अपने राजनैतिक आकाओं की सेवा करती है।

प्रवक्ता ने कहा कि पुलिस को आम जनता की सुरक्षा से कोई लेना-देना नहीं है। प्रदेश में आपराधिक घटनाओं में बेतहाशा बढ़ोतरी हो रही है पर इसकी सुध सरकार को नहीं है। उन्होंने सरकार से अनिल उरांव के परिवार को मुआवजा देने और सुरक्षा प्रदान करने की मांग की।