Google search engine
शनिवार, जून 19, 2021
Google search engine
होमBIHAR NEWSपत्रकार सच नहीं दिखाये हुजूर

पत्रकार सच नहीं दिखाये हुजूर

-

अभिजीत

पत्रकार सच का आइना दिखाने एवं खबर लिखने के लिए है, सच को सच कहना ही पत्रकारिता है। बक्सर में जिस तरह एक डिजिटल मीडिया पत्रकार पर एफआईआर दर्ज कराई गई है वो एनडीए सरकार की बट्ट पर साख लगा रहा है। इससे सबसे ज्यादा नीतीश कुमार की छवि धुमिल हो रही है। अब तो इस मामले में विपक्षी पार्टियां भी सरकार पर सवालिया निशान लगा रहा। बिहार विधानसभा के विपक्षी नेता तेजस्वी यादव भी इस मामले में कूद पड़े हैं। उन्होंने ट्वीटर के जरिये नीतीश कुमार की सरकार को कटघरे में खड़ा करना चाहा है।

दरअसल, सत्ता हो या विपक्ष ! पत्रकारों पर प्रहार दोनो अपनी-अपनी तरीकों से करते रहे हैं। पत्रकार हकीकत को अगर दिखाता है तो सरकार को मिर्ची लगती है, वहीं अगर सरकार के हित में खबर दिखाया जाए तो विपक्षी उस खबर को बिकाऊ तक कहने से गुरेज नहीं करते हैं। पत्रकारों पर ऐसे हमले बिहार में ही नहीं बल्कि देशभर में होते रहे हैं। जिस खबर को लेकर बक्सर के पत्रकार पर एफआईआर दर्ज कराया गया है वो इसका ही परिणाम है।

बक्सर में जिस खबर को दिखाने के मामले में पत्रकार पर एफआईआर दर्ज की गई है वो सौ फिसदी बिहार सरकार के लिए नुकसानदेह साबित होने वाला है। आप पत्रकारों पर एफआईआर दर्ज तो करा सकते हैं लेकिन आपको मालूम होना चाहिए कि इस देश में न्यायपालिका भी है।

ALSO READ  बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में लग गया है।

पत्रकारों पर ऐसे एफआईआर का मतलब है कि आप सच को देखने का मद्दा नहीं रखते हैं। जाहिर है बक्सर में केन्द्रीय मंत्री अश्वनी चौबे और बिहार सरकार में सहयोगी पार्टी भाजपा के दबाव में जरुर एफआईआर दर्ज की गई हो लेकिन इसकी पहुंच अब नीतीश कुमार तक है। आने वाले दिनों में बिहार सरकार की छवि को बिगाड़ने में बक्सर का यह मामला अभी और तुल पकड़ने बाला है। इस मामले में अब नीतीश कुमार कोई बड़ा एक्सन लेना चाहिए ताकि संविधान के मुताबिक लोकतंत्र के चौथे स्थम्भ को दाबने की कोशिश नाकाम हो सके।

ALSO READ  बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में लग गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here
ALSO READ  बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में लग गया है।

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में...

कोरोना की धीमी लहर के बाद राज्य निर्वाचन आयोग के काम करने की रफ्तार तेज अनुमान दो-तीन माह में चुनाव कराने पर चल रहा विचार बाढ़...

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।