Global Statistics

All countries
198,183,006
Confirmed
Updated on Saturday, 31 July 2021, 19:09:57 IST 7:09 pm
All countries
177,340,924
Recovered
Updated on Saturday, 31 July 2021, 19:09:57 IST 7:09 pm
All countries
4,228,091
Deaths
Updated on Saturday, 31 July 2021, 19:09:57 IST 7:09 pm
होमBIHAR NEWSआज है लव यू पापा...और मेरे बड़े भैया के बीच “रामविलास पासवान...

आज है लव यू पापा…और मेरे बड़े भैया के बीच “रामविलास पासवान बर्थ डे” पॉलिटिक्स

-

रामविलास पासवान की पहली जयंती पर लोजपा के दोनों गुटों का शक्ति परीक्षण ।

नयन, पटना, मौर्य न्यूज18

आज 5 जुलाई है । दलित नेता रामविलास पासवान की पहली जयंती है। लोजपा किसकी बेटे की या भाई की ये पहला बर्थ डे इसी पॉलिटिक्स की भेंट चढ़ने को है । एक तरफ लव यू पापा …तो दूसरी ओर मेरे भैया जैसे संदेश के साथ सोशल मीडिया पर चीजें छायी हुई है । संवेदनाएं और सहानुभूति की मोमबत्तियां जला दी गई है। राजनीति लोजपा की है । पॉलिटिक्स लोजपा की है । जिसमें एक और बेटे हैं तो दूसरी ओर भाई । एक ओर चाचा हैं तो एक ओर भतीजा । इन सब से अलग अन्य राजनीतिक पार्टियां भी रामविलास पासवान के नाम पर। दलित राजनीति के नाम पर जयंती की मोमबत्तियां जलाएंगे….आंसू बहाएंगे। गमगीन शब्दों के साथ कसीदें पढ़ेंगे । समारोह होंगे । फूल-मालाएं मूर्ति पर लादी जाएगी। वो सब कुछ होगा जिससे से जनता को दिखे कि रामविलास पासवान तो नहीं रहे लेकिन उनके नाम पर छाति पीटने वालों की कमी नहीं है ।

सदमे व्यक्त करने वालों की आज भीड़ सी उमड़ेगी । उजले लिवास में आज वो सब होगा जो शायद रामविलास पासवान कभी जीतेजी नहीं पा सके थे । ना ही पॉलिटिक्स से, ना ही पॉलिटिकल संबंधों से । जीवन पर भला-बुरा कहने वाले भी आज उनके नाम पर कसीदें पढ़ रहे हैं । सुनिएगा तो लगेगा कि बाबा रे बाबा इतनी संवेदना । लेकिन ये पॉलिटिक्स है । इसमें ज्यादा दिमाग लगाकर खुद को चिंता में डालने या भ्रमित होने की जरूरत नहीं है । बस देखिए …देखते जाइए…आगे-आगे होता है क्या । लेकिन लव यू पापा और मेरे भैया के बीच बर्थ डे पॉलिटिक्स ही आज बड़ी खबर है । जिसमें लोजपा के चिराग और पारस गुट का शक्ति प्रदर्शन ही मेन है ।

आज 5 जुलाई को रामविलास पासवान उनकी मृत्यु के बाद का पहला जन्म दिवस मनाया जा रहा है । लोजपा दो गुट में बंटी है । स्थिति समझिए …देर रात को रामविलसा के पुत्र चिराग पासवान सोशल मीडिया पर अपने पापा के लिए लिखते हैं….लव यू पापाजी ।

चिराग के हूबहू लिखे शब्दों को यहां रख रहा हूं आप भी पढ़ लीजिए ।

Happy Birthday Papa Ji

आप की बहुत याद आती है।मैं आप को दिए वादे को पूरा करने की पूरी कोशिश कर रहा हूँ।आप जहां कहीं भी हैं मुझे इस कठिन परिस्तिथि में लड़ते देख आप भी दुखी होंगे।आप ही का बेटा हूँ , हार नहीं मानूँगा। मैं जानता हूँ आपका आशीर्वाद हमेशा मेरे साथ है। Love You Papa Ji

ये सुबह की शुरूआत है । बिहार की सड़कों पर आज आशीर्वाद यात्रा निकलनी है । जिसकी घोषणा पहले ही की जा चुकी है । शुरूआत हाजीपुर से हो रही है । पूरे देश के नेताओं की नज़र इसपर है । मीडिया भी पूरी तैयारी में कवरेज करने में लगी है । जनता के बीच किसमें कितना दम है यही देखना होगा । जैसी प्रतिक्रिया जनता से इस गुटबाजी के बाद मिली है। चिराग पासवान के साथ सहानुभूति पूर्वक जनता साथ होती दिख रही है । चाचा के प्रति जनता में गुस्सा भी है और चिराग को लेकर उत्साह भी । बिहार की सड़कें इसकी गवाह के रूप में रहेगी ।

ALSO READ  मिलन : फिर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिल आए सीएम योगी। एक महिने में दो बार।
ALSO READ  देश का पहला मॉब लिंचिंग, जिसमें सिर्फ एक राजनेता को मिली फांसी की सजा

अब पारस गुट के बारे में …

वहीं दूसरी ओर चाचा पशुपति पारस गुट भी सुबह-सुबह सोशल मीडिया पर पोस्ट डाला है । जिसमें कहा है कि मेरे बड़े भैया ….आपकी बहुत याद आ रही है । पारस गुट भी 5 जुलाई को दरिद्र नारायण भोज कर रहा है । बड़े भैया की याद में दरिद्र नारायण के भोज के नाम पर एक तरह से शक्ति प्रदर्शन भी होना है । यहां एक ऐसी स्थिति भी आन पड़ी है कि जब बिहार की धरती पर पशुपति पारस औऱ चिराग पासवान दोनों एक-दूसरे से नफरत भी कर रहे और एक दिवंगत आत्मा को याद करने के नाम पर पॉलिटिक्स भी कर रहे ।

यहां आप देंखे तो पारस गुट ने चिराग के सोशल मीडिया पर रामविलास पासवान को याद करने में देरी कर दी । जहां चिराग पासवान देर रात को ही सोशल मीडिया फोटो के साथ संदेशे लिखे वही पशुपति कुमार पारस सुबह होने के बाद।

यहां ये भी देखना दिलचस्प होगा कि आखिर पशुपति कुमार पारस ने देर से ही सही आखिर रामविलास पासवान को क्या लिखकर याद किया । उन्होंने जो भी लिखा है. जैसा भी लिखा है उसे आप भी पढ़ि …..

बड़े भैया, आज आपके जन्मदिन के अवसर पर आपकी बहुत याद आ रही है। आपके विचारों को में अपनी पूरी शक्ति से आगे बढ़ाते रहूंगा। आज मेरे जैसे लाखों कार्यकर्ता आपकी कमी महसूस कर रहे हें।

-सांसद पशुपति कुमार पारस । बागी लोजपा गुट ।

कहें तो दोनों गुट जिस तरह से आज रामविलास पासवान के नाम पर बर्थडे पॉलिटिक्स करेंगे । औऱ राजद भी अपनी स्थापना दिवस के अवसर पर रामविलास पासवान की जयंती को विशेष तौर पर मना रही है औऱ भी दल जयंती मनाएंगे ही । जदयू हो या भाजपा रामविलास पासवान की जयंती के नाम पर याद करेंगे औऱ पॉलिटिक्स भी होगी ही । लेकिन सबकी नज़र चिराग पासवान पर टिकी है औऱ पटना आगमन पर जिस तरह से भीड़ उमड़ी है । पटना एयर पोर्ट का नज़रा देखते बन रहा है। वैसे इसकी शुरूआत करने से पहले चिराग पासवान ने पत्रकार प्रदीप श्रीवास्तव की लिखी रामविलास पासवान के नाम की पुस्तक का लोकार्पण किया । और फिर यात्रा शुरू की है ।

ALSO READ  खगड़िया पॉलिटिक्स : भाजपा में तेजी से जुड़ रहीं जिलेभर की महिलाएं ।
ALSO READ  खगड़िया पॉलिटिक्स : भाजपा में तेजी से जुड़ रहीं जिलेभर की महिलाएं ।

अब चिराग औऱ नीतीश कुमार के बीच राजनीति तल्ख होती है या ढिले पड़ेंगे ।

यहां देखना होगा कि चिराग पासवान की ताकत जनता जब दिखाएगी तो चिराग औऱ नीतीश कुमार की राजनीति और तल्ख होती है या नीतीश कुमार ढिले पड़ते हैं । इस खेल को भाजपा के शीर्ष नेता भी पैनी नज़र से देख रहे हैं । ये कहना गलत नहीं होगा कि जब से लोजपा में टूट हुई है औऱ चिराग जिस तरह से संयम से काम ले रहे हैं । औऱ इसी क्रम में अहमदाबाद में पीएम मोदी से मुलाकात की है , इस मुलाकात के बाद चिराग की ताकत बढ़ गई है । वैसे जनता की राय शुरू से चिराग पासवान के पक्ष में ही दिखी है । कुछ छुटभैके नेताओं ने ही पशुपति पारस के नाम के गुब्बारे में हवा भर रहे थे लेकिन आज की तारीख में जिस तरह से जनता चिराग के पीछे उमड़ी है पारस गुट के साथ-साथ साजिश के सूत्रधार कहे जाने वाले जदयू सुप्रीमो नीतीश कुमार की दलित पॉलिटिक्स पर बुरा असर पड़ेगा ।

चिराग की ताकत देख क्या सुर बदलेंगे साजिश करने वाले…या कोई दूसरी रणनीति अपनाएंगे ।

जाहिर है इस भीड़तंत्र को जब सभी पार्टियां देख रही होगी तो निश्चित ही चिराग पासवान के पक्ष में सारे स्वर निकलने लगेंगे जो अब तक उनके खिलाफ आग उगलते रहे, वो या तो ढिले पड़ेंगे या फिर सुर बदलेंगे । वही पारस गुट भी दरिद्र नारायण का भोज करा रहा है लेकिन वहां वो बात नहीं जो चिराग को लेकर है जनता सेंटिमेंटल है । बल्कि ये कहें कि पारस गुट को जनता भर-भर पेट कोस रही है । ये सब देखते हुए पारस की हवा निकल गई है । अब आगे-आगे पारस गुट को उकसानेवाले आगे क्या करते हैं औऱ पारस गुट का कैसे साथ देते हैं । जनता की नारजगी के बाद भी पारस गुट का साथ देने वाले कितना रिश्क लेंगे या फिर पीछे हटेंगे देखना होगा । यहां उम्मीद है कि पारस गुट में जाने वाले सांसद पुन विचार कर लें । ऐसी संभावना ज्यादा दिख रही है । देखना दिलचस्प होगा ।

ALSO READ  दिल्ली में बाढ़ का खतरा: खतरे के निशान से ऊपर बह रही यमुना।

पटना से मौर्य न्यूज18 के लिए नयन की रिपोर्ट ।

Nayan Kumarhttps://www.mauryanews18.com%20
MANAGING EDITOR MAURYA X NEWS18 PVT LTD . #March 2019 to till now ------- #20yrs Experience field of Journalism, #Mass Com - Print Media & Electronic Media #Former Sr. Subeditor, Dainik Jagaran, India's No-1 Hindi Daily News Paper, Patna, Bihar, 12 April 2000 -March2008 #Former Channel Co-Ordinator, Maurya Tv, Patna, Bihar/Jharkhand, April 2008 - March 2013 Channel Co-Ordinator, Zee Bihar/Jharkhand news from march 2013- march2014 #Editor, Ommtimes.com news portal, Patna, Bihar, April 2014 - AuG2018 #Former Editor, Maurya News, news Portal, Sept.2018-Feb2019
ALSO READ  जानकारी : अब गांवों में भी खुल रहे बायोडीजल पंप

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Must Read

दिल्ली में बाढ़ का खतरा: खतरे के निशान से ऊपर बह...

दिल्ली में शुक्रवार को यमुना में जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया। इससे निचले इलाकों में बाढ़ की आशंका जताई जा रही...