Google search engine
शुक्रवार, जून 18, 2021
Google search engine
होमBIHAR NEWSबिहार में पंचायती राज विभाग : स्वास्थ्य विभाग का संकट मोचन बनकर...

बिहार में पंचायती राज विभाग : स्वास्थ्य विभाग का संकट मोचन बनकर आया । Maurya News18

-

कोरोना काल में मंत्री सम्राट चौधरी की पहल रंग लाई

केन्द्र से मिला एक्सट्रा पावर

स्वास्थ्य विभाग का मजबूती से देंगे साथ

नयन, पटना, मौर्य न्यूज18 ।

पंचायती राज विभाग स्वास्थ्य विभाग का संकट मोचन कैसे ? समझने के लिए पढ़िए मौर्य न्यूज18 की पूरी रिपोर्ट …।


कोरोना संकट में सिस्टम को लेकर चहुंओर से आवाज उठ रही …कि कुछ करिए… जनता मुश्किल में है…जान जा रही है । इन्हीं सब चिंताओं को लेकर पंचायती राज मंत्री मंत्री सम्राट चौधरी पहले सूबे में अपने इलाके मुंगेर, खगड़िया जिले का दौरा किया औऱ ये जानने की कोशिश की वास्तव में ग्रामीण इलाकों में , जिलों में स्वास्थ्य व्यवस्था कैसी है । जनता का क्या हाल है । दौरा करने से पहले…खगड़िया के लिए अपने विधान पार्षद कोटे से कार्यकर्ताओं के डिमांड पर 25 लाख फंड भी रिलीज किए, फिर दौरा किया और सारी व्यव्यस्था देखने समझने के बाद लगा कि स्थिति से निपटने के लिए बड़े पैमाने पर फंड की जरूरत है… आक्सीजन सिलेंडर, मास्क, अस्पातल के लिए बेड, ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन कंसेंट्रेटेड बेड की आवश्यकता लगभग सभी जिला अस्पताल, अनुमंडल अस्पताल, प्रखंड अस्पतालों में अतिआवश्यक है । इसके बिना स्थिति से निपटना काफी मुश्किल होगा ।


फिर क्या था केन्द्र का दरवाजा खटखटाया और जिला परिषद के जरिए खर्च की जाने वाली तामाम राशि जो अब तक किसी और कामों के लिए लगाई जानी थी…उसे कोरोना संकट से निपटने के लिए जिला परिषद के खर्च करने की गुहार लगा दी ।

पहल रंग लाई….


मंत्री सम्राट चौधरी के इस पहल को केन्द्र की सरकार ने हाथों-हाथ लिया। केन्द्र ने तुरंत एक पत्र जारी कर कहा – यश कीजिए, जितना कर सकते हैं कीजए…दिया सारा फंड खर्च करने को। …जनता की रक्षा के लिए जो भी कर सकते हैं करिए फिर क्या था …पंचायती राज विभाग को इतनी राशि मिल गई कि अब वो स्वास्थ्य विभाग के मोहताज नहीं रहेगा…बल्कि ये समझ लीजिए कि स्वास्थ्य विभाग के लिए संकट मोचन की तरह खड़ा रहेगा ।


कुल मिलाकर ये समझिए कि बिहार में पंचायती राज विभाग बिहार के सभी जिले के अस्पतालों, अनुमंडल के अस्पतालों और प्रखंड अस्पतालों …में चाहे जितने अस्पताल बेड की जरूरत होगी, चाहे आक्सीजन सिलेंडर, मास्क, ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन कंसेंट्रेटेड बेड की जरूरत होगी सारा कुछ जिला परिषद के फंड से व्यवस्था की जाएगी ।


इस तरह के पावर मिलने पर पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी काफी राहत महसूस कर रहे हैं । मौर्य न्यूज18 से खास बातचीत में उन्होंने कहा कि केन्द्र नरेन्द्र मोदी की सरकार और बिहार में नीतीश कुमार की सरकार होने की वजह से ये सब संभव हो पाया है …जो काफी राहत भरी खबर है ।

पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी की प्रतिक्रिया भी सुन लीजिए …


मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा कि इस पहल से पंचायती राज विभाग ग्रामीण जनता को कोरोना में बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने में सक्षम होगी । उन्होंने साफ कहा कि इस वक्त हर हाल में गांव के लोगों की रक्षा करना…गांवों कस्बों, जिलों के अस्पतालों में बेहतर से बेहतर चिकित्सा सुविधा पहुंचाना हमारी सबसे बड़ी जिम्मेदारी है, जिसे हम नज़र अंदाज नहीं कर सकते । उन्होंने कहा कि केन्द्र का इस तरह के अनुमद से पंचायतरी राज विभाग को काफी ताकत मिली है । औऱ हमारा विभाग स्वास्थ्य विभाग को पूरी तरह से मजबूती के साथ कदम से कदम मिलाकर सहयोग करेगा ।


क्या है इस तरह के फंड मिलने के मायने ….


दरअसल, जिला परिषद के तहत कई तरह के कार्य होंते हैं, विभिन्न तरह के विकास कार्यों के लिए बजट में खर्च की जाने वाली राशि भी तय की जाती है लेकिन उस फंड को अब कोरोना संकट के लिए उपयोग में लाया जाएगा । ऐसा तभी संभव हो पाता है जब केन्द्र सरकार के समक्ष … इस संबंध में ठोस जानकारी और आवश्यक आवश्यकताओं को मुकम्मल तरीके से रखा जाता है । जो बिहार के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने केन्द्र को भेजे गए पत्र में इस चिंता से अवगत कराया था । नतीजा, सामने है ।

अब होगा क्या…

इससे होगा ये कि पंचयती राज विभाग बिहार में खुलकर स्वास्थ्य के फिल्ड में काम करेगा । और छोटे-छोटे शहरों, गांवों में जरूरत के हिसाब से स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करा पाएगा । इसके लिए विभाग को कहीं किसी से अनुशंसा कराने की जरूरत नहीं होगी । विभागीय मंत्री औऱ जिला परिषद से जुड़े अधिकारी इसका निस्पादन अपने स्तर से कर पाने की स्तिथि में होंगे ।

इस संबंध में जो पत्र जारी किए गए हैं….वो भी उसे आप देख सकते हैं …।

पहल पर एनडीए कार्यकर्ता भी हुए गदगद..बोल रहे थैंक्यू मंत्रीजी…


इसकी खबर जैसे ही बिहार की जनता और एनडीए कार्यकर्ता को लगी। मंत्रीजी के फोन घनघनाने लगे। चहुंओर से थैंक्यू….बधाई हो..बहुत अच्छी पहल जैसे संदेशे आने लगे। मैसेज के जरिए और सोशल मीडिया के जरिए न्यूज तेजी से फैलने लगा । उम्मीद जगी जिला पार्षदों को भी अब हम भी कुछ कर सकते हैं…उम्मीद जगी संबंधित अधिकारियों को भी अब हम भी कुछ कर सकते हैं । इसी बीच मंत्रीजी के कर्म क्षेत्र से जुड़े भाजपा कार्यकर्ता की ओर से भी प्रतिक्रियाओं का दौर चला।

बिहार भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश प्रवक्ता संजय खंडेलिया और खगड़िया जिला के भाजपा अध्यक्ष सुनील कुमार ने इस संबंध में एक प्रेस रिलीज जारी कर पंचायती राज मंत्री को बधाई दी है । और कहा है कि इस तरह की पहल तुंरत उठाए जाने की आवश्यकता थी, इसकी मांग भी की जा रही थी । जो मंत्री सम्राट चौधरी की सक्रियता की वजह से इतनी त्वरित पहल हो गई । मौर्य न्यूज18 से खास बातचीत में खगड़िया के लोजपा सांसद महबूब अली कैसर के सांसद प्रतिनिधि बाबू लाल शौर्य भी पीछे नहीं रहे….उन्होंने कहा कि पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी युवा हैं। उनकी सोंच हमेशा से पॉजिटिव दिशा में काम करती रही है। उनसे ऐसे ही कार्यों की उम्मीद रहती है । मुझे पूरा भरोसा है कि पंचायती राज मंत्री इस कार्य को बेहतर तरीके से निभाएंगे। हमारी ओर से भी बहुत-बहुत बधाई मंत्रीजी को ।

पटना से नयन की खास रिपोर्ट ।

ALSO READ  पर्यावरण की रक्षा हेतु पौधे अवश्य लगाएं : लक्षमण गंगवार
ALSO READ  पर्यावरण की रक्षा हेतु पौधे अवश्य लगाएं : लक्षमण गंगवार

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।

तिहाड़ जेल से नताशा, देवांगना और आसिफ बाहर आए नई दिल्ली, मौर्य न्यूज18 । स्टूडेंट एक्टिविस्ट नताशा नरवाल, देवांगना कलिता और आसिफ इकबाल को आखिरकार 17...