Google search engine
शुक्रवार, जून 18, 2021
Google search engine
होमBIHAR NEWSखगड़िया : बाइक पर होकर सवार गर्दा-गर्दा कर दिए डीएम साहब ...

खगड़िया : बाइक पर होकर सवार गर्दा-गर्दा कर दिए डीएम साहब ! Mauray News18

-

मोटरसाइकिल चलाते रहे और पीछे-पीछे भागते रहे गांव वाले ।

कोविड टीकाकरण जागरूकता के लिए रॉबिन हुड की भूमिका में दिखे डीएम आलोक रंजन घोष, बाइक चलाकर गांव-गांव पहुंचे

खगड़िया, मौर्य न्यूज18 ।

खगड़िया जिलाधिकारी डॉ आलोक रंजन घोष ।

ये देखिए खगड़िया के डीएम साहब को । मोटरसाइकिल पर हेल्मेट लगाए बैठे हैं । खुद ही चला रहे हैं । अरे साहब हैं, डीएम साहब… मोटरसाइकिल पर सवार हैं। अपनी चरपहिया गांड़ी कहां छोड़ आए । लगता है ये डीएम साहब बांकी अफसर से अलग हैं । जमीनी आदमी हैं । मोटरसाइकिल से भी निकल लेते हैं । जनता की सेवा करने की धुन में ये सब कर रहे हैं । बढ़िया है , चलो-चलो देखते हैं अपने गांव क्यों आये हैं ।

साहब की मोटरसाइकिल रूकती है । गांव वाले नमस्कार करते हैं । साहब पूछते हैं…वैक्सीन लिया क्या । आपने कोरोना का वैक्सीन लिया क्या । नहीं लिया है तो ले लीजिए । टीका एक्सप्रेस आपके द्वार पर भी आएगा । नहीं आएगा तो पास के किसी हेल्थ सेंटर पर चले जाइएगा ले लीजिएगा । जरूर से लेना है । कोरोना को हराना है तो टीका लगवाना है । समझे कि नहीं । जी, साहब जरूर ले लेंगे । कुछ गड़बड़ तो नहीं होगा ना । अरे नहीं ये कौन कह दिया, हम खुद ही लेकर आपके पास आए हैं । आप लीजिए और फालतू बात दिमाग से निकाल दीजिए । आप स्वस्थ्य रहेंगे तो देश भी स्वस्थ्य मजबूत रहेगा । हॉस्पिटल का मुंह नहीं देखना पड़ेगा, समझे ।

ये सब याद रखेगी खगड़िया की कई पीढ़ी…।

कुछ इसी अंदाज में समझाते-बुझाते । हेल्मेट लगाए …बाइक पर सवार । गांव की पगडंडियों पर धूल गर्दा उड़ाते । टीकाकरण अभियान का गर्दा-गर्दा कर दिए साहब । ये धूल । ये मिट्टी । ये मेहनत कल जरूर रंग लाएगी । देश में एक ऑफिसर चाहे और अपने काम पर उतारू हो जाए तो स्थिति परिस्थिति चाहे जितनी भी खराब हो …. माहौल हिम्मत वाला हो ही जाता है । लड़ने की ताकत डीएम डॉ आलोक रंजन घोष ने जिस तरह से गांव वालों में भरी है । आने वाली कई पीढी इन्हें याद रखेगी ही ।

यूं समझ लीजिए । खगड़िया पिछड़ा इलाका है । यहां के लोगोें ने उम्मीद छोड़ दी है कि कोई इनका रहनुमा आएगा । करिश्मा दिखाएगा और उनके दुख-दर्द का हिस्सा बनेगा । यहां की जनता को जैसी व्यवस्था मिलती है जीने को तैयार रहते हैं । शिकायत किससे करें । सिस्टम तो सुनेगा नहीं इसी धारणा के साथ खगड़िया जिलावासी जीने को आदि हो चले थे । लेकिन शुक्र कहिए इस मिट्टी की कि एक ऑफिसर बड़े दिनों बाद इस मिट्टी की लाल की तरह जनता के बीच कोरोना से लड़ने की ताकत भर रहा है । उसकी जान की रक्षा के लिए हर दरबाजे तक पहुंचने की कोशिश में लगा है ।

यानि कह सकते हैं कि जनता की ताकत को ही अपनी ताकत बनाकर । उनका साथ लेकर खगड़िया को ही बुलंद कर रहे । बाइक पर सवार होना कोई बड़ी बात नहीं थी लेकिन जिस तरह से गांव-गांव में जाकर धूल फांकते रहे डीएम साहब वो देखने लायक थी और बांकियों को सीखने लायक ।

आप आये दिन सुनते होंगे कि आज डॉक्टर गायब है, तो नर्स गायब है । स्वास्थ्य कर्मी गायब हैं । सिविल सर्जन साहब निजी कामों में व्यस्त हैं । बांकी अधिकारी कोरोना के नाम पर घर में मौज मस्ती में लगे हैं । सबको अपनी पड़ी है लेकिन डीएम साहब के लिए तो मानों खगड़िया की जनता ही परिवार है । गांव के बच्चे मानों उनके ही बच्चे हैं । गांव के बुजुर्ग उनके ही मां-बाबूजी, चाचा-मामा-बुआ-फुफा। बड़े भाई-भाभी हों । सबको अपनापन देते गए ,,,,समझाते गए टीका लगवा लेना। लगा लिए हो तो औरों को लगवाने के लिए प्रेरित करना । अच्छे से रहना । मास्क पहनना । नियम कानून का पालन करना।

अब आप ही बताइए कि ऐसे ऑफिसर की बात जनता नहीं मानेगी तो किसकी मानेगी । सो, खगड़ियावासी गदगद है । कहते हैं बड़ी किस्मत से ऐसे ऑफिसर मिले हैं । जय हो । खगड़िया की जय हो ।

खबरों पर गौर करें तो ….

जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष अलौली प्रखंड में कोविड टीकाकरण अभियान के निरीक्षण को पहुंचे। इस दौरान वे सुदूर ग्रामीण इलाकों में बाइक चलाते दिखे । मतलब रविवार को डीएम रॉबिन हुड की भूमिका में दिखे। जिलाधिकारी ने इस दौरान कई जगह पर कोविड टीकाकरण स्थल का निरीक्षण भी किया। वहीं वे लोगों को कोविड महामारी के बचाव की जानकारी देने के अलावा टीका लगाने के लिए जागरूक भी किया।

————————————————————————————————–

इस बावत डीएम डॉ आलोक रंजन घोष ने कहा कि जिले में कोविड टीकाकरण किया जा रहा है, उन्होंने लोगों से टीका लगवाने की अपील के साथ कोविड की रोकथाम के लिए सरकार के नियम को मानने की भी अपील की है।

डॉ आलोक रंजन घोष, जिलाधिकारी, खगड़िया ।

ALSO READ  यूपी के कलाकारों को मिल रही आर्थिक मदद, जरूरतमंद उठा सकते हैं लाभ : राजू श्रीवास्तव
ALSO READ  पर्यावरण की रक्षा हेतु पौधे अवश्य लगाएं : लक्षमण गंगवार

खगड़िया से मौर्य न्यूज18 की रिपोर्ट ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।

तिहाड़ जेल से नताशा, देवांगना और आसिफ बाहर आए नई दिल्ली, मौर्य न्यूज18 । स्टूडेंट एक्टिविस्ट नताशा नरवाल, देवांगना कलिता और आसिफ इकबाल को आखिरकार 17...