Google search engine
गुरूवार, जून 24, 2021
होमBIHAR NEWSतेरा बढ़ता बिहार और मेरा मरता बिहार…जिओ नीतीशे कुमार ! MAURYA NEWS18

तेरा बढ़ता बिहार और मेरा मरता बिहार…जिओ नीतीशे कुमार ! MAURYA NEWS18

-

कोरोना में मर-मर के बढ़ता बिहार…वाह रे नीतीशे कुमार !

नयन, पटना, मौर्य न्यूज18

बढ़ता बिहार नीतीशे कुमार…याद है ना कि भूल गए…। नहीं भूले हैं तो बढ़िया है…। बढ़िए खूब बढ़िए…मर-मर के बढ़ना ही है…बिहार में नीतीशे कुमार जो हैं । जिओ नीतीश कुमार । कोरोना सूबे को चपेट में ले रखा है । राजा साहब कारकेड संग काफिला लिए खुली सड़कों पर निकल चुके हैं , पता नहीं क्या निहारने चले हैं । वो भी पटना के बेली रोड पर …लगता है घर में बैठे-बैठे मन उब गया होगा तो सोंचे कि चलो सैर कर आते हैं । गाड़ी के अंदर बैठे शीशे से बाहर रोड पर लोगों को मुलूर-मुलूर ताके हमने भी देखा था । वो सोंचे होंगे कि मीडिया को खबर लगेगी तो वो खुद ही हमारे बारे में उगलेगा…कि कोरोना संकट को निहारने निकले हैं । ज्यादा निगेटिव बोलेगा तो क्लास ले ही लेंगे। ये भी सोंच कर भी निकले होंगे कि कोरोना बेली रोड में मिला तो ठीक नहीं तो एक अणे मार्ग में ठाठ तो है ही। विपक्ष भी बोलेगा तो कह दूंगा…मैं निकला गढी लेके एक मोड़ आया औऱ मैं कोरोना देख आया…। वैसे जमाने को चाहे जितनी तकलीफ हो मानना तो पड़ेगा…कि हॉस्पीटल में ऑक्सीजन नहीं, जीवन रक्षक दवा की कालाबाजारी, दारू की होम डिलीवरी….ये बढ़ता बिहार नहीं तो और क्या है । पटना के बेली रोड पर तो आपको बढ़ता बिहार दिखेगा ही हुजूर ।

एकबार सरकारी अस्पताल भी घूम लेते


एक बार अपने चहेते हॉस्पीटल पीएमसीएच भी घूम लेते…दुलारा सा प्यारा सा एनएमसीएच भी हो लेते …, हेलीकॉप्टर है थोड़ा जिले के अस्पतालों का हाल भी जान लेते ….आप तो गर्मी में जब लू चलती है उस टाइम में भी हेलीकॉप्टर से लू देखने निकल जाते हैं । लेकिन हॉस्पीटल देखने नहीं जा रहे, जनता जहां मर रही है वहां नहीं जा रहे.. वजह भी है, अस्पतालों में तो कोरोना से मरीज मर रहे हैं…गंदगी बजबजायी हुई है…चिकित्सा सुविधा वेंटिलेटर पर है । छोड़िए कितना गिनाउं । आपका भी पारा हाई हो जाएगा ।

आपसे बस एक बात पूछनी थी …


वैसे. आप से बस एक बात पूछनी थी …ईमानदारी से बता दीजिए तो मान लूंगा ….बिहार का कोई एक ऐसा हॉस्पीटल बता दीजिए हुजूर जहां जनता जाएं तो लगे कि हां यहां सब बढ़िया है । लेकिन आपका अस्पताल तो ठहरा… घटिया….घटिया…महाघटिया…। ये आपको नहीं कह रहे हैं आपके सिस्टम को कह रहे हैं । जो जैसा है बोलना ही पड़ता है। आपके यहां आपके घर में भगवान ना करें किसी को कुछ हो । आप भी हिफाजत से रहिए…आपकी उमर लंबी हो..कोरोना से बच के रहिए । पब्लिक की जान जा रही है तो क्या हुआ…12 करोड़ की आबादी वाले स्टेट के राजा बाबू हैं आप और आपके सिस्टम चलाने वाले बाबू जो आपके दुलारूआ लोग हैं…एसी में रहकर आपको आंकड़ा इतना गिनवा देंगे कि आपको प्रेस के सामने बोलने में दिक्कत भी नहीं होगी । बांकी तो आप ये बोलने में माहिर तो हैं ही कि जो काम नहीं करेगा उसपर कार्रवाई करूंगा ।

रस्सी जैसी ऐंठन से कम आप कम थोड़े ही हैं हुजूर


रही बात आपके स्वभाव की तो ऐंठी हुई रस्सी के बारे में बचपन से किस्सा सुनता रहा हूं । कि जो रस्सी ऐठी हुई होती है वो जल जाती है लेकिन ऐंठन नहीं जाती । सो, महाराज आप भी ऐठन वाली रस्सी से कम थोड़े ही हैं…सो.,कहना तो पड़ेगा कि ये है बढ़ता बिहार…नीतीशे कुमार…
रोज पब्लिक ब़ड़ी संख्या में कोरोना से ज्यादा सिस्टम की लापरवाही और लुटेरों व कालाबाजारियों की वजह से मर रही है । और ये सब तो आपके इर्द-गिर्द ही घुमते हैं । आपतक पहुंच रखने वाले हैं । मलाई लगा कर आपको खिलाते रहते होंगे सो अलग । आपके गदगद रहने का सारा इंतजाम होता रहे बस प्रभु से यही कामना करता हूं । क्योंकि आप ऐंठी हुई रस्सी जो ठहरे सो आपकी ऐंठन भी अच्छी लगने लगी है ।
क्या होगा 12 करोड़ जनता में से एक-आध लाख लोग निकल ही लेंगे तो क्या फर्क पड़ता है । है कि नहीं । सिस्टम आपका उस्ताद है ही आंकड़ों से खिलवाड़़ करके आपको बचाता ही रहेगा …लेकिन जरा ऊपर वाले से डरिएगा…ये एक छोटी सी सलाह है मेरी …। मान लीजिएगा ।

आपका सिस्टम और स्वास्थ्य विभाग तो आपके हाथों ही डिल हो रहा है राजा साहब….।


आपका सिस्टम और स्वास्थ्य विभाग तो आपके हाथों ही डिल हो रहा है राजा साहब….। आपने जिन्हें मंत्री बनाया हुआ है उसकी तो आप चलने नहीं देते । माथा ठोक कर बैठना पड़ता है आपके सारे मंत्री को । मजाल है जो आपके बिना कुछ कदम उठा ले…नहीं तो क्या कारण है कि आपके हॉस्पीटल …शमशान में तबदील हैं । नगर निगम का कूड़़ा घर बना हुआ है । कालाबाजारी करने वाले जमकर जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे । प्राइवेट हॉस्पीटल पर आपकी तो नज़र भी नहीं जाती । वो, लूट रहे हैं…आगे आपके काम ही आएंगे…तभी तो ये सब आप निहार रहे हैं ।
कोरोना में आजकल वर्चुअल मिंटिंग खूब कर रहे । करिए बढ़िया है । बढ़ता बिहार नीतीशे कुमार हम लोग छाती में गोदवा लेंगे । क्योंकि अब तो कोई दूसरा विकल्प भी नहीं है ।

लेकिन जब कोर्ट ने लथाड़ा तो फकफका गए….लॉकडाउन लगाना पड़ा…जबतक भाजपा बोलती रही तो ऐंठते रहे…यही बात है ना हुजूर


हाई कोर्ट ने इतना नंगा किया आपको फिर जाके आपने लॉकडाउन लगाया । मानना पड़ेगा आपकी ऐंठन को …लाजवाब हैं आप । भाजपा वालों ने तो आपको शुरू में ही कहा था कि लॉकडाउन जल्द से जल्द कर दीजिए….लेकिन आपकी ऐंठन को ये सब तनिक नहीं सुहाया…सुहाता भी कैसे…आपकी ऐंठन जो ढिली पड़ जाती । लेकिन जब कोर्ट ने लथाड़ा तो फकफका गए….। तुरंत ऐसे करने लगे जैसे गिरगिट । रंग बदलती है…तुरंत से फन-फैलाकर बैठ गए मीटिंग करने…सुना देर रात तक आंख मल-मल के मीटिंग किए औऱ तय किया कि अब लॉकडाउन लगा देना चाहिए । बहुत मेहनत करते हैं आप भी । आपके बाबू लोग तो दिन रात खट रहे है बाबा रे बाबा । क्या मेहनत करते हैं आप और आपका सिस्टम जो महामेहनती है ।

बिहार में सब आपकी मेहरबानी है हुजूर…सुना है आजकल आपही हेल्थ मिनिस्टर भी बने हुए हैं ….।


बिहार में हेल्थ मिनिस्टर कोई है भी ये भी किसी को पता नहीं है । सब आपकी मेहरबानी है महाराज । दूसरे मंत्री के बारे में भी कोई बहुत बढ़िया फिडबैक नहीं है महाराज। लेकिन खैर, किस्मत वाले जो ठहरे आप ।

देखिए ना विपक्ष भी घोर निद्रा में सोया है । क्या खिला रखा है आपने ।

देखिए ना विपक्ष भी घोर निद्रा में सोया है । क्या खिला रखा है आपने । आपके लोग उनको ट्वीटर बबुआ कहते हैं ना….और ट्वीटर बबुआ आपको अंकल कहते हैं ना…बताइए इतना सुंदर रिश्तेदार हैं आप तो अंकल की संगत का कुछ तो असर होगा ही । विपक्ष आपको अंकल कहता है…। आपको याद होगा…..अभी कुछ दिन पहले ही ट्वीटर बबुआ अपने पप्पा की रिहाई के लिए कितना दुआ पर दुआ मांगे फिर रहे थे….मंदिर-मंदिर भटक रहे थे…सिस्टर बर्दर सब के सब रोजा तक रख लिया । बाबा रे बाबा….यानि कोई कसर नहीं छोड़ा…अपने पप्पा की सलामती के साथ जेल से रिहाई की दुआ मांगने में लेकिन देखिए जनता जब मर रही है….तो बबुआ लेपटॉप पर बैठकर ट्वीट-ट्वीट खेल रहे हैं और अपने सीएम अंकल पर हौले-हौले- प्यार भड़ी झपकी दे रहे हैं । विरोध का बरा सुंदर नज़रा जनता देख रही है हुुजूर ।

एकबार फिर से पूरे राज्य में बढ़ता बिहार…नीतीशे कुमार वाला पोस्टर लगवा दीजिए हुजूर…बहुत देखने का मन हो रहा है …।

वैसे जनता को पता है विपक्ष से भी आपका अच्छा तालमेल है । खैर, इस बारे में ज्यादा क्या कहना….कुछ तो लोग कहेंगे…लोगों का काम है कहना…बेकार की बातों में तो में ही फंस गया हूं । आप बढ़ता बिहार..नीतीशे कुमार का पोस्ट एक बार फिर से पूरे बिहार में लगवा दीजिए । बहुत तरस्ता है देखने का पोस्ट आपका । आप उसमें गाल पर हाथ रखके बहुत स्टाइल वाली …चिंतन मु्द्रा वाली तस्वीर जो डलवाते हैं । बहुत अच्छा लगता है। एकबार फिर वैसा पोस्टर लगवाइए ना प्लीज । लेकिन हां, याद रखिएगा…इसबार पोस्टर पर अपनी फोटो में मास्क जरूर लगावा दीजिएगा….। सुना है कोरोना हवा में तैरता है…कहीं पोस्टर में घूस गया तो…इसलिए मास्क वाला पोस्टर दीजिएगा हुजूर। और स्लोगन तो जरूर से लिखवाइएगा…बढ़ता बिहार…नीतीशे कुमार । ये वाला स्लोगन तो मस्त है । मेरा वाला स्लोगन… मरता बिहार…जिओ नीतीशे कुमार….भूल से भी नहीं लगाइएगा ।

पटना से नयन की खास रिपोर्ट । रिपोर्ट व्यंग पर आधारित है ।

ALSO READ  बिहार पंचायती राज : जिनका क्षेत्र नगर निकाय में चला गया वो अब पंचायत प्रतिनिधि नहीं माने जाएंगे । प्रमुख पद भी उसी दिन से समाप्त : मंत्री सम्राट चौधरी
ALSO READ  क्या होगा चिराग का लॉलीपॉप, धर्म संकट से मुक्त नहीं हुई है भाजपा !

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

राजद से TEJ बोले – CHIRAG तय करें कि संविधान के...

तेजस्वी ने चिराग पासवान को साथ आने का दिया न्योता राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद जल्द होंगे पटना में, शुरू होगी राजनीति पॉलिटिकल ब्यूरो, पटना, मौर्य...