Google search engine
रविवार, जून 20, 2021
Google search engine
होमPOLITICSबिखरती जिंदगी ...

बिखरती जिंदगी संतोष आनंद बॉलीवुड राइटर,गीतकार की कहानी !

-

MAURYA News 18

हिन्दी फिल्मों के क्षेत्र में एक प्रतिष्ठित गीतकार,लेखक

ऐसे लेखक गीतकार के बारे में जिन्होंने बहुत सारी रचनाएं लिखी और जिन्हें बॉलीवुड में हमेशा याद किया जाता है ! जिंदगी की न टूटे लड़ी प्यार कर ले घड़ी दो घड़ी ,जिन्होंने लिखा संतोष आनंद जी ,जिन्होंने , 224 फिल्में ,109 गाने , 2 फिल्म फेयर अवार्ड 2016 में मिला। मशहूर बॉलीवुड राइटर जिनकी कलम से निकला हर एक शब्द आज सभी के दिलों पर राज करता है ,संतोष आनंद जी का जन्म 5 मार्च 1940 हिसार के सिकंदराबाद में हुआ था ! आरंभ में इनकी पढ़ाई अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में हुई थी ! संतोष आनंद जी को कविताओं का बहुत शौक था ,दिल्ली में ही वह छोटे-मोटे कवि सम्मेलन में जाने लगे थे इनकी रचना लोगों को बहुत भाने लगा था ,लोग इन्हें मुंबई जाने को कहते थे ,गीत लिखने के उद्देश्य से संतोष आनंद मुंबई आ गए संतोष आनंद जी मुंबई तो आ गया लेकिन उस समय बॉलीवुड में काम मिलना बहुत ही मुश्किल था !
  • सन 1970 में संतोष आनंद जी को मनोज कुमार जी ने पहचाना और अपनी फिल्म पूरब और पश्चिम में काम दिया।उस फिल्म में पुरवा सुहानी आई रे गीत उन्होंने लिखा जो कि उस समय काफी ज्यादा हिट गया !उसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और एक के बाद एक सुपरहिट सॉन्ग देते चले गए और इसी प्रकार सन 1970 से इन्होंने अपने 109 गाने का सफर पूरा किया !इन के मशहूर गाने कुछ इस प्रकार थे !
ALSO READ  समस्तीपुर : टीका लगवा लीजिए नहीं तो वेतन नहीं मिलेगा ।

प्रसिद्ध रचनाएं

  • मुहब्बत है क्या चीज
  • इक प्यार का नगमा है।….
  • जिंदगी की ना टूटे लड़ी ….
  • मारा ठुमका बदल गई चाल मितवा ….
  • मेधा रे मेधा रे मत जा तू परदेश (प्यासा सवान)
  • मैं न भूलूंगा,इन रश्मो इन कश्मो को (रोटी कपड़ा और मकान)
  • ओ रब्बा कोई तो बताए (संगीत)
  • आप चाहें तो हमको (संगीत )
  • जिनका घर हो अयोध्या जैसा (बड़े घर की बेटी)
  • दिल दीवाने का ढोला (तहलका)
  • जिंदगी की ना टूटे लड़ी( क्रांति)
  • चना जोर गरम….(क्रांति)
  • ये शान तिरंगा (तिरंगा)
  • पीले पीले ओ मोरी…
  • मैंने तुमसे प्यार किया …(सूर्या)
ALSO READ  बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में लग गया है।
जैसे भावुक कर देने वाले गीत लिखने वाले संतोष आनंद जी को पूरा भारतीय समाज कभी नहीं भूल सकता। उनके अनमोल योगदान को बॉलीवूड को भी कभी नहीं भूलना चाहिए

सन्दर्भ

संतोष आनंद फिल्म इंडस्ट्री के सबसे चहेते प्रसिद्ध गीतकार रहें हैं। इन्होंने कई फ़िल्मों में गीतों की रचना की।।

1) पूरब और पश्चिम (1971)

(2) शोर (1972)

(3) रोटी कपड़ा और मकान (1974)

(4) पत्थर से टक्कर (1980)

(5) क़्रांति (1981)

(6) प्यासा सवान (1981)

(7) प्रेम रोग (1982)

(8) गोपीचंद सावन (1982)

(9) जख़्मी शेर (1984)

(10) मेरा ज़बाब (1985)

(11) पत्थर दिल (1985)

(12) लव 86 (1986)

(13) मज़लूम (1986)

(14) बड़े घर की बेटी (1989)

(15) नाग नागिन (1989)

(16) सूर्या (1989)

(17) दो मतवाले (1991)

(18) नागमणि (1991)

(19) रणभूमि (1991)

(20) जूनुन (1992)

(21) संगीत (1992)

(22) तिरंगा (1993)

(23) संगम हो के रहेगा (1994)

ALSO READ  बिहार : TRANSFER जहानाबाद, मुंगेर व सीतामढ़ी के डीएम बदले गए
(24) प्रेम अगन (1998)
इनके गीतों को लता मंगेशकर, महेंद्र कुमार, मोहम्मद अजीज, कुमार सानू, कविता कृष्णमूर्ति जैसे अनेक गायकों ने आवाज दी।
हिंदी फिल्मों के शोमैन कहे जाने वाले राज कपूर, मनोज कुमार जैसे अभिनेताओं की फिल्मों के लिए गीतों की रचनाएं की।।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

देशद्रोह मामला : आज पुलिस के सामने पेश होंगी मॉडल आयशा...

Social Activist हैं आयशा, कोच्चि से लक्षद्वीप के लिए हुई रवाना, बोली- मैं कुछ भी गलत नहीं बोली। कोच्चि/नई दिल्ली, मौर्य न्यूज18 कोच्चि, लक्षद्वीप की सामाजिक...