Home BIHAR NEWS नेपाल-बिहार सीमा पर ड्रोन का डॉन कौन !

नेपाल-बिहार सीमा पर ड्रोन का डॉन कौन !

263

SSB ने पूर्वी चंपारण से पकड़े 8 : चीन निर्मित ड्रोन

आतंकी घटनाओं में उपयोग करने की आशंका, जांच पड़ताल तेज

पॉलिटिकल ब्यूरो, पटना/पूर्वी चंपारण, मौर्य न्यूज18

भारत नेपाल सीमा पर पूर्वी चंपारण (बिहार)में तस्करी कर लाए जा रहे 8 ड्रोन जहाज पकड़े जाने के बाद सनसनी फैल गई। ये ड्रोन जहाज नेपाल से भारत लाये जा रहे थे । सीमा सुरक्षा बल ने संदेह के आधार पर एक वाहन को रोककर तलाशी ली तो इस राज का खुलासा हुआ। मामले की जानकारी मिलते ही उच्च स्तर पर सरगर्मियां तेज हो गए। प्रारंभिक छानबीन में पता चला है कि देश के किसी महत्वपूर्ण क्षेत्र में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने के लिए इन ड्रोन जहाजों को लाया जा रहा था। सभी ड्रोन अत्याधुनिक हैं और सभी में कैमरे भी लगे हुए हैं।

2 किलो वजन तक का सामान ले जा सकता है ये ड्रोन, खुफिया कैमरा भी अत्याधुनिक

इन पर 2 किलोग्राम तक के वजन के सामान ले जा सकते हैं । आशंका है कि इस पर आरडीएक्स सहित किसी भी विस्फोटक पदार्थ को आराम से चिन्हित स्थान पर गिरा कर विस्फोट किया जा सकता है।
दरअसल, जम्मू में ड्रोन के जरिए आतंकी साजिश का पर्दाफाश होने के बाद देश की सीमाओं पर चौकसी बढ़ा दी गयी है। इस बीच बिहार से सटे नेपाल की सीमा पर भारी संख्या में ड्रोन कैमरा बरामद होने के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। नेपाल के रास्ते आंतकियों के ड्रोन साजिश का खुलासा होने का बाद सुरक्षा एजेंसियों और जांच एजेंसियों के सामने बड़ी चुनौती खड़ी हो गई है।

भारत-नेपाल सीमा पर आठ ड्रोन जहाज बरामद

भारत नेपाल की सीमा पर तैनात एसएसबी जवानों ने आठ ड्रोन जहाज बरामद किया है। इनमें कैमरा भी लगे हैं। ये सभी ड्रोन चीन में बने हैं, जिसे तीन तस्कर नेपाल के रास्ते भारत ला रहे थे । गुप्त सूचना पर गुआबरी सीमा पर तैनात एसएसबी के जवानों ने कार को रोका और जांच के दौरान आपत्तिजनक सामान को बरामद किया है। कार पर सवार तीनो तस्करों को एसएसबी के जवानों ने गिरफ्तार कर कुण्डवा चैनपुर थाना पुलिस को सौंपा है।
उधर कुण्डवा चैनपुर थाना ने केंद्रीय खुफिया विभाग से संपर्क कर पूरे मामले की जांच करने को कहा है। फिलहाल पुलिस ने तीनों तस्करों को जेल भेज दिया है।

तीन तस्कर को एसएसबी जवान ने दबोचा

पूर्वी चंपारण के एसपी एनसी झा के मुताबिक कि आठ ड्रोन बरामद हुए है। जिन्हें उजले रंग के वैगन आर कार ले लाया जा रहा था। एसएसबी ने इन्हें पकड़ कर कुण्डवा चैनपुर थाना पुलिस को सौंपा है। ड्रोन को लाने वाले तीन तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। जिन्हें जेल भेजा गया है। गिरफ्तार तस्करों में दो सीतामढ़ी के और एक कुण्डवा चैनपुर थाना क्षेत्र के निवासी है।


सभी पहलुओं पर पुलिस जांच कर रही है। जांच के बाद ही पूरे मामले का स्पष्ट जानकारी मिल सकेगी। मामले की छानबीन चल रही है कि इन ड्रोन के खरीदार कौन हैं। कौन सप्लायर है और किस मंसा के तहत उपयोग किए जाने थे। पुलिस और खुफिया एजेंसियों के लिए असली चुनौती इसके खरीदार को पकड़ने की है क्योंकि खरीदार ही इन का अपने गतिविधियों में इस्तेमाल करने वाला था।

बिहार के ADG JITENDRA KUMAR क्या बोले –

पटना (बिहार) : अधिकारियों ने कहा कि नेपाल के साथ सीमा पर बिहार के मोतिहारी जिले में तीन लोगों के पास से आठ ड्रोन जब्त किए गए। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) के अनुसार जितेंद्र कुमार ने कहा कि सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) 26 जून को गश्त कर रहा था, जब उन्होंने तीन लोगों को आठ पैक्ड ड्रोन ले जाते हुए देखा। पूछताछ करने पर, आरोपियों द्वारा ड्रोन के बारे में कोई प्रासंगिक जानकारी नहीं दी गई और उन्हें आगे की जांच के लिए पुलिस को सौंप दिया गया, उन्होंने एएनआई को बताया। डीजीपी ने कहा, “भारतीय दंड संहिता की धारा 379 और 411 के तहत चोरी का मामला दर्ज किया गया है।”पुलिस अधिकारी ने आगे कहा, “अब तक की गई जांच के अनुसार, पहचाने गए आरोपी स्थानीय हैं और उन्होंने दावा किया है कि वे एक शादी की वीडियोग्राफी के लिए ड्रोन ले जा रहे थे। विस्तृत जांच से ही सही तथ्य सामने आ सकते हैं।” यह घटना पिछले रविवार को जम्मू में भारतीय वायु सेना स्टेशन पर हुए हमले के बाद हुई है और इसके बाद ड्रोन के लिए अलर्ट जारी किया गया था। (एएनआई)

पटना से मौर्य न्यूज18 के लिए पॉलिटिकल ब्यूरो की रिपोर्ट ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here