Google search engine
मंगलवार, जून 22, 2021
Google search engine
होमPOLITICAL NEWSप्रशांत किशोर को मिला नया ठिकाना, बंगाल के बाद पंजाब में दिखाएंगे...

प्रशांत किशोर को मिला नया ठिकाना, बंगाल के बाद पंजाब में दिखाएंगे ‘हाथ’ का कमाल। Maurya News18

-

Maurya News18

Political Desk

रणनीतिकार प्रशांत किशोर को नया ठिकाना मिल गया है। बंगाल के बाद अब वे पंजाब में अपने ‘हाथ’ का कमाल दिखाएंगे। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोमवार को चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को अपना प्रिंसिपल एडवाइजर बनाया है। वे 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की रणनीति तैयार करने में मदद करेंगे। प्रदेश सरकार ने उन्हें कैबिनेट मिनिस्टर का दर्जा दिया है। हालांकि, प्रशांत किशोर की सैलरी एक रुपये होगी।

हालांकि कांग्रेस ने एक तरह से कहें तो रिस्क ही लिया है क्योंकि यूपी में 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी को बुरी तरह हार मिली थी। तब भी प्रशांत किशोर ही कांग्रेस के रणनीतिकार थे। पार्टी ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन किया था। चुनाव नतीजे आने के बाद प्रशांत किशोर ने इस हार के लिए सपा के साथ गठबंधन को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने कहा था कि यूपी में टॉप मैनेजमेंट ने मुझे खुलकर काम नहीं करने दिया, ये हार उसी का नतीजा है। कांग्रेस को इस चुनाव में सिर्फ 7 सीटें मिली थीं। ये आजादी के बाद पार्टी का अब तक का सबसे खराब परफॉर्मेंस था

बता दें कि बिहार चुनाव में JDU की बेहतरीन जीत के बाद नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर को पार्टी जॉइन कराई थी। उन्हें जदयू का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया था। इसके बाद दोनों के रिश्तों में खटास आ गई।

लोकसभा चुनाव 2014 में प्रशांत किशोर और उनकी टीम ने जिस तरह से भाजपा के लिए काम किया, उससे राजनीतिक दलों की नजर में उनका महत्व बढ़ता चला गया। PK के नाम से मशहूर हुए प्रशांत की टीम ने आंध्रप्रदेश में YSR कांग्रेस के लिए काम किया और एन.चंद्रबाबू नायडू जैसे राजनीति के धुरंधर खिलाड़ी को मात देकर वाईएस जगनमोहन रेड्डी को मुख्यमंत्री बनवाने में कामयाब हुए।

फिलहाल प्रशांत किशोर पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के लिए काम कर रहे हैं। हालांकि, TMC के नेताओं को प्रशांत का दखल पसंद नहीं आया। ममता के साथ पार्टी बनाने में प्रमुख भूमिका निभाने वाले मुकुल रॉय 2017 में अलग होकर भाजपा में गए थे। अब तो जैसे सिलसिला ही शुरू हो गया है। पिछले कुछ महीनों में शुभेंदु अधिकारी, राजीब बनर्जी और वैशाली डालमिया समेत कई बड़े जमीनी नेता ममता का हाथ छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो चुके हैं।

ALSO READ  लक्ष्यद्वीप : वकील के साथ Police के पास पहुंची मॉडल Aisha Sultana

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

दिल्ली : उद्योग विहार की जूता फैक्टरी में लगी आग

दमकल की दर्जनों गाड़ियां मौके पर, छह कर्मचारी लापता बबली सिंह, नई दिल्ली, मौर्य न्यूज18 दिल्ली के उद्योग विहार स्थित एक जूता फैक्टरी और आसपास...