Google search engine
शनिवार, जून 19, 2021
Google search engine
होमटॉप न्यूज़बॉलीबुड की दुनिया और चाचा नसीरूद्दीन शाह के व्यवहार पर खुलकर बोले-...

बॉलीबुड की दुनिया और चाचा नसीरूद्दीन शाह के व्यवहार पर खुलकर बोले- अभिनेता मो. अली शाह। Maurya News18

-

दोस्त सुशांत को खोने का गम मुझे भी, बॉलीबुड में कोई किसी का नहीं

सुशांत मेरे दोस्त थे, वो आत्महत्या नहीं कर सकते।  

नयन, नई दिल्ली, मौर्य न्यूज18 ।

बॉलीबुड की दुनिया। देशभर में हॉट दुनिया बनी हुई है। एक कलाकार सुशांत का इस दुनिया छोड़ जाना, कलाकार दर कलाकार पर सवाल उठ रहे हैं। कैसी है ये बॉलीबुड की दुनिया। क्या सच में जानलेवा है। क्या सच में बिना आका वाले कलाकार जो उड़ने की सपने देखता है वो शुली पर चढ़ जाता है। ब़ॉलीबुड में तरक्की पा भी लिए तो यहां के गैंग के शिकार हो जाते हैं।

आज मिलवाते इसी दुनिया के एक कलाकार से नाम है मो. अली। अभिनेता भी हैं। मोटिवेशनल स्पीकर भी। देश के सामने विवादित ब्यान के बहादुरों में सुशामर नशरूद्दीन शाह के भतीजे हैं। मौर्य न्यूज18 से खास बातचीत औऱ जानने की कोशिश की कि कैसी है बॉलीबुड की दुनिया, कैसा है चाचा नसीरूद्दीन का व्यवहार। जब वो देश में कोई विवादित ब्यान देते हैं तो क्या होता है आपका रिएक्शन, क्या कहना है चाचा नसीरूद्दीन शाह के बारे में और सुशांत सिंह का यूं दुनिया छोड़ जाना …इन सब पर रिएक्शन जानने की कोशिश की तो खुलकर बोले अभिनेता मेजर मो. अली शाह।


अभिनेता मो. अली कहते हैं…चाचा नसीरूद्दीन शाह क्या बोलते हैं। किस तरह का ब्यान देते हैं । वो देशहित में है या नहीं। कितना विवादित है। इस बारे में मुझे कुछ नहीं कहना। मुझे तो बस उनकी कलाकारी पसंद है। वो बॉलीबुड की दुनिया के बड़े कलाकार हैं।

अभिनेता मो. अली ने साफ कहा कि नसीरूद्दीन शाह मेरे चाचा हैं। बॉलीबुड के बेहतरीन कलाकारों में से हैं। लेकिन उनके विवादित बोल के बारे में मुझे कुछ नहीं कहना। मैं तो कला के तौर सिर्फ कला देखता हूं।

रही बात नसीरूद्दीन शाह चाचा हैं। तो इसका ये मतलब नहीं कि मुझे इसका कोई फायदा मिला हो। मैंने अपने दम पर बॉलीबुड में जगह बनाई है। सच पूछिए तो बॉलीबुड की दुनिया में कोई किसी का नहीं है। चाचा-भतीजे का कोई लाभ तो मुझे नहीं मिला।

रही बात, सुशांत सिंह राजपूत की तो वो बिना आका के काफी आगे के कलाकारों की श्रेणी में ना शुमार कर लिया था। मुझे भी उनके रहने और दोस्ती का मौका मिला था। मेरी उनकी अच्छी दोस्ती थी। उनके व्यवहारों को मैं जितना जानता हूं , ये कह सकता हूं कि वो कभी भी इस कदर दुनिया छोड़कर जाने वाले इंसान तो नहीं थे। अच्छा कैरियर जा रहा था । फिर ऐसा क्यों किया। दाल में काला तो लगता है।  

उनका जाना मेरे लिए भी सदमे की बात है। उनके परिवार वालों को और उनके चाहने वालों को न्याय मिलनी चाहिए। इस रहस्य से तो पर्दा उठना जरूरी है।   

क्या ये कहा जा सकता है कि बॉलीबुड की दुनिया में गैंग चलता है। जिसकी मर्जी के इर्द-गिर्द सारी चीजे चलती है।

गैंग की बात क्या कहूं। लेकिन इतना तो तय है कि नए कलाकारों को और जिनका कोई आका नहीं है तो समझिए खुद का साहस और पेशेंस ही आपको आगे ले जा सकता है।

बतौर कलाकार आपकी दुनिया कैसी रही।

मैंने पहले सेना में पांच साल काम किया। मेयर के तौर पर इसलिए नाम में मेयर लगाता हूं। फिल्मी दुनिया में 1998 में इंट्री की। 22 साल हो गए। शॉट फिल्म से शुरूआत की । एनएसडी में पढ़ाई की । बड़े बैनर तले भी काम किया बजरंगी भाईजान, एजेंट विनोद, हैदर जैसी फिल्मी में अभिनय किया।

अब मुश्किल दौर कोरोना को लेकर है तो ऑन फिल्में कर रहा हूं । पिछले ही दिन Zee5  पर फिल्म YAARA का टीजर रिलीज किया गया है। इस तरह फिल्मी सफर चल रहा है। गिर-गिर कर उठा हूं तो अब किसी के भरोसे हूं भी नहीं । सुशांत के जाने के बाद हम लोग काफी शतर्क रहने लगें हैं। किसी घटना का दिल पर लेकर नहीं चलना है ।  

बिहार की बात चली तो कहने लगे कि पटना, रांची और मुजफ्फरपुर की यात्रा मैंने की है। कई दोस्त हैं मेरे वहां। रिश्ते के कुछ लोग भी हैं ।

वहां से बॉलीबुड के महान कलाकार शत्रुघ्न सिन्हा मेरे बहुत फेबरेट हैं। प़ॉलिटिशिय़न के तौर पर भी मुझे बिहार से वही पसंद हैं।

पुराने दौर की अभिनेत्री शबाना आजमी औऱ नये दौर की दीपिका पादुकोण और हीरो के तौर पर शाहरूख खान पसंद हैं।

कोरोना काल में एक परिवर्तन जरूह आया है कि मुम्बई से दिल्ली सिफ्ट कर गया हूं। जरूरत पड़ने पर ही मुम्बई जाता हूं। या जाउंगा। अब तो हर चीज ऑनलाइन ही हो रहे हैं।

ऐसे में जब भी गुणगुनाता हूं….कि हम होंगे कामयाब, हम होंगे कामयाब एक दिन…।

बहुत खूब।

मौर्य न्यूज18 से बातचीत करने के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया।

आपका भी शुक्रिया।

ALSO READ  बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में लग गया है।
ALSO READ  बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में लग गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में...

कोरोना की धीमी लहर के बाद राज्य निर्वाचन आयोग के काम करने की रफ्तार तेज अनुमान दो-तीन माह में चुनाव कराने पर चल रहा विचार बाढ़...

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।