Google search engine
शनिवार, जून 19, 2021
Google search engine
होमSTATEजलजमाव पीड़ितों की सेवा कर रहे भाई बहन !Maurya News18

जलजमाव पीड़ितों की सेवा कर रहे भाई बहन !Maurya News18

-

सीतामढ़ी से पटना तक जनसेवा

मुखिया रितु जायसवाल की कलम से

हमलोग सीतामढ़ी में हर साल बाढ़ झेलते हैं। इस साल के बाढ़ से अब तक उबड़ भी नहीं पाए हैं। वैसी ही हालत हमारे राजधानी पटना की हो गई है महज तीन दिन की बारिश में। इस परिस्थिति में वहाँ हालात क्या होंगे ये समझ सकती हूँ क्योंकि इस सुदूर देहात में हर दिन इन तकलीफों से जूझना हमारी दिनचर्या हो चुकी है। सरकारी तंत्र कितनी मदद करती है ये आपको बता हीं चुकी हूँ हमारे पंचायत में आये बाढ़ के समय में।

यूं कर रहे आम जनता की सेवा

पटना के अलावा हमारे बिहार के कई इलाकों में बहुत पानी आया है। इस विकट परिस्थिति में हमारे बहुत सारे भाई बहन आम जनता की सेवा में रात दिन लगे हैं। मुझे लगातार सोशल मीडिया से इसकी जानकारी मिल रही है। आपका साथ देने वहाँ आ नहीं पा रही क्योंकि यहाँ गाँव में भी एक अलग लड़ाई चलते हीं रहती है जिससे आपको समय समय पर अवगत कराते रहती हूँ। पर मन से आपके साथ हूँ।

इंसानियत अभी जिंदा है

मानवता की सेवा यूँ हीं आप सब करते रहिये। आप सब के सेवा भाव को देख कर ये कह सकती हूँ कि इंसानियत अभी ज़िंदा है। बस अपना ख्याल रखना सब लोग क्योंकि अच्छे और निस्वार्थ लोग कम हीं हैं।

गेस्ट परिचय

आपने रिपोर्ट लिखी है।

रितु जायसवाल

आप जनप्रतिनिधि हैं। मुखिया हैं। सीतामढ़ी जिले के सिंंहवाहनी पंचायत से मुखिया चुनी गई हैं। समाजसेवा के तौर पर देश में इनकी पहचान बनी है। ईमानदारी से सीतामढ़ी में बाढ़ पीडितों की सेवा करना काफी चर्चा में रहा। आपको इसके लिए उपराष्ट्रपति के हाथों पुरस्कार भी मिला।

ALSO READ  यूपी के कलाकारों को मिल रही आर्थिक मदद, जरूरतमंद उठा सकते हैं लाभ : राजू श्रीवास्तव
ALSO READ  पर्यावरण की रक्षा हेतु पौधे अवश्य लगाएं : लक्षमण गंगवार

मौर्य न्यूज18 के लिए गेस्ट रिपोर्ट

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में...

कोरोना की धीमी लहर के बाद राज्य निर्वाचन आयोग के काम करने की रफ्तार तेज अनुमान दो-तीन माह में चुनाव कराने पर चल रहा विचार बाढ़...

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।