Home POLITICAL NEWS स्वस्थ तन में ही स्वस्थ मन का निवास होता है, बच्चों को...

स्वस्थ तन में ही स्वस्थ मन का निवास होता है, बच्चों को समझाना जरूरी। Maurya News18

271

Maurya News18, Patna

Health Desk

व्यावसायिक शिक्षा के साथ हेल्थ एजुकेशन भी जरूरी

स्वास्थ्य जागरूकता हर शिक्षा के साथ जरूरी

वेबिनार के माध्यम से छात्राओं ने जाना बिगडे़ स्वास्थ्य की आपात व्यवस्था

निरोग शरीर से ही आप किसी युद्ध को जीत सकते हैं। कहा भी गया है कि जो व्यक्ति तन और मन से स्वस्थ होता है, वह संसार का सबसे सुखी प्राणी है, क्योंकि स्वस्थ तन में ही स्वस्थ मन का निवास होता है।

निजी और व्यावसायिक पढ़ाई के दौरान छात्र-छात्राएं स्वास्थ्य संबंधी छोटी बड़ी जागरूकता को लेकर अनभिज्ञ रहते हैं जबकि हर शिक्षा के साथ स्वास्थ्य संबंधित शिक्षा की भी जानकारी बच्चों को होनी चाहिए। यदि यात्रा के दौरान दुर्घटना हो जाए या कोई अन्य यात्री किसी रोग से ग्रसित हों तो उन्हें आपातकालीन चिकित्सा व्यवस्था देने की सूझबूझ होनी चाहिए , ताकि दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को तत्काल समुचित चिकित्सा सेवा मिल जाए ।

उक्त बातें इंटरनेशनल स्कूल पटना में पारस एच एम आर आई अस्पताल के तत्वाधान में आयोजित एक वेबिनार मे डॉ. श्वेता, प्लास्टिक एवं कॉस्मेटिक सर्जन ( Topic : Acid Attack ) डॉ. नीरज नारायण सिंह स्पाइन एंड ऑर्थोपेडीक सर्जन (Topic : Back pain), डॉ. विकास कुमार Urologist and Renal Transplant Surgeon (Topic :Urinary Tract infection ), डॉ. रत्नेश सिंह ऑर्थोपेडिक एंड जॉइन्ट रिप्लेसमेंट (Topic : Knee Pain ) ने यहां आयोजित वेबिनार में छात्राओं को स्वास्थ्य जागरूकता सेमिनार में कही।

इंटरनेशनल स्कूल पटना में पारस एच एम आर आई के सौजन्य से उक्त अस्पताल के डॉक्टरों के द्वारा अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में यहां की छात्राओं के लिए एक दिवसीय आँन लाइन वेबिनार एवं महिलाओं के लिए स्वास्थ्य जागरूकता विषयक पर वेबिनार का आयोजन किया गया था। जिसमें संस्थान के कक्षा VI से XII तक की छात्राओं ने भाग लिया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here