Google search engine
गुरूवार, जून 24, 2021
होमPOLITICAL NEWSमंत्री के घर से मिलीं शराब की बोतलें, विपक्ष का हंगामा, CM...

मंत्री के घर से मिलीं शराब की बोतलें, विपक्ष का हंगामा, CM ने साधी चुप्पी। Maurya News18

-

Maurya News18

Political Desk

राजद विधायकों ने नारे लगाए ”नीतीश कुमार का खेल है, शराबबंदी फेल है”।

नशा शराब में होती तो नाचती बोतल…बिहार विधानसभा में बुधवार को शराब को लेकर जबरदस्त हंगामा हुआ। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार के मंत्री रामसूरत राय का जिक्र करते हुए कहा कि उनके आवास परिसर से शराब की कई बोतलें बरामद हुई हैं। इस पर सरकार को सोचना चाहिए।

तेजस्वी यादव ने पहले मंत्री का नाम नहीं लिया था लेकिन फिर राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय का नाम लिया। इसके बाद जबरदस्त हंगामा हुआ। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार क्या कार्रवाई करेगी, यह जानना चाह रहे हैं।

घर-घर बिक रही शराब

विपक्ष के विधायकों ने कहा कि घर-घर शराब बिक रही है। इसके जवाब में विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने कहा कि अगर आपके पास कोई साक्ष्य है तो वह सदन के पटल पर उपलब्ध कराएं। साथ ही हंगामा कर रहे विधायकों को सलाह देते हुए कहा कि आप लोग सरकार को सुझाव दीजिए, सदन के अंदर झूठी दलील मत दीजिए।

मंत्री से इस्तीफे की मांग

विपक्ष के हंगामा को देखते हुए विधानसभा की कार्यवाही को दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया। विपक्ष के सदस्यों ने उत्पाद एवं मद्य निषेध मंत्री सुनील कुमार से इस्तीफे की मांग की। राजद विधायकों ने ”नीतीश कुमार का खेल है शराबबंदी फेल है” जैसे नारे लगाए।

जबतक शराब नहीं पीते नींद नहीं आती

इससे पहले राजद विधायक भाई बीरेंद्र ने कहा कि कई अफसर ऐसे हैं जिनको शराब के बिना रात में नींद नहीं आती है। विधानसभा में CM के सामने ही विपक्ष के सदस्यों ने नीतीश कुमार हाय-हाय के नारे लगाए। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि बंगाल चुनाव में जाना है। वहां बंगाल की खाड़ी से उनकी अंतरात्मा को निकाल कर लाएंगे। वहीं उन्होंने एक बार फिर मंत्री रामसूरत राय का मामला उठाते हुए कहा कि इनकी भी गिरफ्तारी नहीं होगी।

सोमवार को होगी शराबबंदी पर सर्वदलीय बैठक

विधानसभा में शराबबंदी को लेकर जोरदार नारेबाजी और हंगामे के बाद अध्यक्ष विजय सिन्हा ने बड़ा फैसला लिया। उन्होंने कहा कि सोमवार की सुबह 10 बजे सर्वदलीय बैठक होगी, जिसमें सभी दलों के बड़े नेता शराबबंदी पर चर्चा करेंगे। विधानसभा अध्यक्ष ने साफ कहा कि दलीय नेताओं के साथ बैठक करके इस मुद्दे का समाधान निकालेंगे। इसके बाद सदन की कार्यवाही शुरू हुई।

शराबबंदी पर कांग्रेस में मतभेद

भाजपा MLA संजय सरावगी ने विधानसभा में कहा कि कोई माई का लाल भाजपा के किसी मंत्री पर भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा सकता है। वहीं, विधानसभा में कांग्रेस के विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने शराब बेचने की पैरवी की। उन्होंने कहा कि अगर शराब दोगुना और तिगुने दाम पर बिकेगी तो अवैध कारोबार टूट जाएगा। इससे सरकार को राजस्व में भी फायदा होगा।

लेकिन कांग्रेस के MLC प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी शराबबंदी के पक्ष में है, विधानसभा में किसी ने कुछ कहा है, मैं उससे सहमत नहीं हूं, पार्टी के प्रवक्ता तौर पर पक्ष रख रहा हूं।

ALSO READ  राजद से TEJ बोले - CHIRAG तय करें कि संविधान के साथ रहेंगे या गोलवलकर के साथ

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

राजद से TEJ बोले – CHIRAG तय करें कि संविधान के...

तेजस्वी ने चिराग पासवान को साथ आने का दिया न्योता राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद जल्द होंगे पटना में, शुरू होगी राजनीति पॉलिटिकल ब्यूरो, पटना, मौर्य...