Google search engine
शनिवार, जून 19, 2021
Google search engine
होमSTATEएक बुढ्ढा दुष्कर्मी निकला, चॉकलेट खिलाकर करता रहा कुकर्म ! Maurya News18

एक बुढ्ढा दुष्कर्मी निकला, चॉकलेट खिलाकर करता रहा कुकर्म ! Maurya News18

-

पहले चॉकलेट खिलाकर फंसाया फिर लूटी नाबालिग की अस्मत

Maurya News 18, Banaras

शर्मनाक, बेहद घिनौना…वाराणसी के बालाघाट के वारासिवनी से इंसानियत को शर्मसार कर देनेवाली एक खबर सामने आई है। 55 वर्षीय बुजुर्ग ने 14 वर्षीय नाबालिग को अपनी हवस का शिकार बनाया है। उसकी इज्जत से खिलवाड़ किया है। बताया जा रहा है कि आरोपी पिछले दो महीने से पीड़िता को चॉकलेट के बहाने घर बुलाकर उसके साथ लगातार दुष्कर्म करता रहा। हालांकि पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित को हिरासत में लेकर न्यायालय में पेश किया और फिर जेल भेज दिया।

शिकायत मिलते ही हरकत में आई पुलिस

थाना प्रभारी नीरज मीणा ने बताया कि वार्ड नंबर एक में रहनेवाली पीड़िता पांच फरवरी को अपने परिजनों के साथ थाने पहुंची थी और बुजुर्ग के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। उसने पुलिस को बताया कि उसके पड़ोस में रहने वाले 55 वर्षीय बुजुर्ग राजेश्वर नागेंद्र ने उसके साथ दुष्कर्म किया है। शिकायत मिलते ही पुलिस हरकत में आई और राजेश्वर नागेंद्र के खिलाफ भरतीय दंड संहिता की धारा 376,  342 व 506 के तहत मामला दर्ज कर लिया। साथ ही आरोपी को गिरफ्तार कर कानूनी प्रक्रिया के तहत जेल भेज दिया गया।

लड़की को चॉकलेट के बहाने बुलाता था घर

लड़की ने शिकायत में बताया कि 22 जनवरी को राजेश्वर ने उसे चॉकलेट देने के बहाने अपने घर बुलाया और जान से मारने की धमकी देकर दुष्कर्म किया। हालांकि काफी मशक्कत के बाद वह वहां से भागने में कामयाब हो पाई और घर पहुंचकर अपने परिजनों को घटना की जानकारी दी। लगभग दो महीने तक यह सब चलता रहा लेकिन 22 जनवरी की घटना के बाद उससे सहन नहीं हुआ और उसने हिम्मत जुटाकर सारी बात परिजनों को बता दी।

वाराणसी के वारासिवनी से रूपेश कुमार की रिपोर्ट।

ALSO READ  दिल्ली - आखिर जमानत मिल ही गई ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में...

कोरोना की धीमी लहर के बाद राज्य निर्वाचन आयोग के काम करने की रफ्तार तेज अनुमान दो-तीन माह में चुनाव कराने पर चल रहा विचार बाढ़...

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।