Google search engine
शनिवार, जून 19, 2021
Google search engine
होमPOLITICAL NEWSतेजस्वी के मास्टर स्ट्रोक में फंसी BJP, नीतीश ने भी दे दी...

तेजस्वी के मास्टर स्ट्रोक में फंसी BJP, नीतीश ने भी दे दी ढील। Maurya News

-

Maurya News18, Patna

Political Desk

विधानमंडल में शनिवार को अजीबोगरीब नजारा देखने को मिला। सबकुछ नियम के विरुद्ध और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के मनमुताबिक हो रहा था। विधानसभा में भाजपाई स्पीकर घिर भी गए और अकेले भी पड़ गए। फिर विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के साथ पूरी टोली को राजभवन तक मार्च से भी सरकार ने नहीं रोका।

भाजपाई मंत्री रामसूरत राय को लेकर BJP को JDU का साथ नहीं मिलना चर्चा में है। रामसूरत के सही या गलत होने से ज्यादा चर्चा इस बात की चल रही है कि भाजपाई रामसूरत राय के मुद्दे पर सरकार ने विपक्ष को इतनी छूट दी तो कैसे ?

तेजस्वी न केवल विधानसभा से पैदल निकले, बल्कि राजभवन के सामने 20 मिनट तक नारेबाजी के साथ प्रदर्शन भी किया और विपक्षी विधायकों के साथ राज्यपाल फागू चौहान के पास रामसूरत राय की बर्खास्तगी की मांग भी कर आए।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा, जिसमें मांग की कि गैर संवैधानिक कार्य करने वाली सरकार को बर्खास्त किया जाए। ज्ञापन में बताया गया कि सदन में सरकार के मंत्री आसन को निदेशित करते हैं। सवालों का सही से जवाब नहीं देते, लोकहित के मुद्दों को सदन में उठाने नहीं देते, ऐसी सरकार को बर्खास्त किया जाए।

इससे पहले शराब मामले में विपक्ष ने विधानसभा में जबर्दस्त हंगामा किया। विपक्ष के हंगामे की वजह से 2 बजे तक के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई। इसके बाद विपक्ष के विधायक विधानसभाध्यक्ष विजय सिन्हा के चैंबर के सामने हंगामा करने लगे। मंत्री राम सूरत राय की बर्खास्तगी की मांग करने लगे। इस दौरान BJP पूरी तरह अकेली नजर आई।

स्पीकर विजय सिन्हा को भी एक समय यह लगने लगा कि उन्होंने इस विषय पर चर्चा का मौका देकर ही गलती कर दी। सदन में सत्ता को कमजोर पड़ता देख विपक्षी दलों ने ताकत झोंक दी। 10 मिनट धरना और नारेबाजी के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के साथ विपक्ष के विधायक राजभवन की ओर निकल गए।

सत्र चलने के दौरान राजभवन मार्च का प्रावधान नहीं होता है। शनिवार को जब तेजस्वी विपक्षी विधायकों और अपने समर्थकों के साथ राजभवन जा रहे थे तो उन्हें रोका नहीं गया, बल्कि राजभवन और CM हाउस के बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी गई। सिटी SP सेंट्रल विनय तिवारी, सचिवालय, लाइन और ट्रैफिक DSP, सचिवालय और शास्त्रीनगर थाना की पुलिस सिर्फ सबकुछ देखती रही।

मार्च से पहले सदन की कार्यवाही के दौरान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और डिप्टी CM तारकिशोर प्रसाद के बीच कहासुनी हो गई। तेजस्वी ने कहा कि मंत्री राम सूरत राय के खिलाफ पूरा सबूत है। विपक्ष की बात सदन को सुननी होगी। साक्ष्य दे रहा हूं, मंत्री पर सरकार कार्रवाई करे। इस पर डिप्टी CM तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि यह ठीक नहीं है। बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

ALSO READ  एक अभिनेता की असली ताकत क्या है, हर कलाकार को जानना चाहिए : अमोल पालेकर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में...

कोरोना की धीमी लहर के बाद राज्य निर्वाचन आयोग के काम करने की रफ्तार तेज अनुमान दो-तीन माह में चुनाव कराने पर चल रहा विचार बाढ़...

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।