Google search engine
मंगलवार, जून 22, 2021
Google search engine
होमBIHAR NEWSबिहार में एक जनप्रतिनिधि ऐसी भी...

बिहार में एक जनप्रतिनिधि ऐसी भी…

-

बाढ़ में मददगारों से मिली राशि के खर्च का हिसाब किताब की सार्वजनिक

रितु जयसवाल, मुखिया, सिंहवाहिनी पंचायत, सीतामढ़ी, बिहार ने इस तरह जारी की रिपोर्ट कार्ड

सीतामढ़ी, बिहार।

भीषण बाढ़ में हमारे गाँव के लिए आप के द्वारा भेजी गई मदद के लिए आपको हृदय से प्रणाम। खर्चे का विवरण और आपके द्वारा खाते में भेजी गई आर्थिक मदद का स्टेटमेंट भी साझा कर रही हूँ। पारदर्शिता के लिए ये करना ज़रूरी है।

बाढ़ की त्रासदी के बाद आप ने हमारे पंचायत सिंहवाहिनी की देखभाल में मेरा जो साथ दिया उसके लिए मैं सदा आपकी ऋणी रहूंगी।

सीधे तौर पर किये गए आर्थिक मदद की विवरणी:

कुल SBI वाले खाते में सीधे या गूगल पे के माध्यम से 1,26,112 रुपये आये, फ़ोन पे के माध्यम से एक्सिस के खाते में कुल 10,285 रुपये आये और पेटीएम में कुल 80,189 रुपये आये। कुल मिला कर 2,16,586 रुपए आप लोगों ने सीधा खाते में भेजे। पटना की पल्लव झा मैडम ने 5000 रुपये मेरे हाथों में कैश और हमारे पंचायत के एक मैनेजर साहब (नाम नहीं बताने को उन्होंने कहा था) ने 3000 रुपये कैश मदद किया। 1 रुपये से ले कर पाँच हजार से 10 हजार तक भी भेजे गए जिसका अपडेट किया हुआ तीनों खाते के स्टेटमेंट आप से साझा कर रही हूँ। तो कुल मिला कर पैसे की मदद जो हम तक पहुँची वो कुल रकम है दो लाख चौबीस हजार पाँच सौ छियासी रुपये (2,24,586)

अब बात खर्चे की! कहाँ कहाँ कैसे ये राशि खर्च की गई?

1. गुजरात से जो समान आया उसे लाने में 22500 (गाड़ी भाड़ा लेबर चार्ज इत्यादि) का खर्च
2. 3500 रुपये लाने गए 3 लोगों के खर्चे 2 दिन के
3. बिहार महिला संघ ने जो राहत सामग्री दिया उसे पटना से लाने का खर्च 5000
4. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एल्युमनाई एसोसिएशन, कतर से ज़ियाउल हक जी ने आ कर 300 तिरपाल दिया था और उसे पहुँचाने के लिए गाड़ी का किराया पूछा था अंकित से तो उसने 4000 बता दिया था पर एक स्कॉर्पियो ने लिए 6000। तो 2000 यहाँ लगे।
5. 300 अतिरिक्त तिरपाल खरीदे गए 217 रुपये प्रत्येक के हिसाब से 65100
6. इन्हीं पैसों को हमने पंचायत में चलने वाले सिलाई सेंटर के लिए इस्तेमाल किया। जिसमें से 9500 रुपये की प्रोत्साहन राशि जो 3 महीने से बाकी थी वो बिंदु जी (प्रशिक्षिका) को दिया गया और 7000 सिलाई सेंटर के बाकी खर्चे।
7. बाढ़ आने के तीसरे हीं दिन 2000 रुपये मच्छर भगाने की अगरबत्ती, मोमबत्ती माचिस नरकटिया गाँव के लोगों को दिया गया।
8. एक बच्चे की डूब कर मृत्यु हो जाने वाले दिन तीन मोटरसाइकल में पाँच-पाँच सौ रुपये का पेट्रोल (1500)
9. बाढ़ राहत के कार्यों के सम्बंध में जब हम सभी ग्रामीण ट्रैक्टर से प्रखण्ड कार्यालय गए थे उसका किराया 1500
10. खुटहा गाँव में लगाये गए मेडिकल कैम्प में डॉक्टरों के सहयोग के अलावा 1300 रुपये का खर्च
11. जानकी नगर गाँव में लगाये गए मेडिकल कैम्प में डॉक्टरों के सहयोग के अलावा 1300 रुपये का खर्च
12. 3700 रुपये अंकित को दिए गए पटना से राहत सामग्री लाने केलिए
13. नव अस्तित्व फाउंडेशन के माध्यम से मिले orx ड्रिंक और पटना में अलग अलग जगह से लोगों द्वारा मदद के रूप में दिए गए सामग्री को एकत्रित कर के पंचायत तक पहुँचाने में 8000 का खर्च
14. खुटहा गाँव के युगेश्वर जी की दुकान से 1500 और 2000 रुपये का चूड़ा आया
15. बाढ़ से प्रभावित बाजितपुर गाँव में डेंटल कैम्प केलिए 5800 रुपये का टूथब्रश और टूथपेस्ट
16. राहत सामग्री को पटना जा कर फिर बाजितपुर पहुँचाने का खर्च 4000 रुपये
17. 10000 का खर्च बड़ी सिंहवाहिनी गाँव के मुहल्ले में जमा हुए पानी को पम्प से निकालने में।
18. बाढ़ के दौरान डेढ़ महीने में हमलोगों को कई बार पटना जाना आना पड़ा बाढ़ राहत का सामान लाने हेतु जिसके लिए डीजल के खर्चे 17000
19. एक बार बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं था तो गाँव से मोटरसाइकल से, फ़िर पिक अप से और उसके बाद पास के गाँव जगधर से पटना आने जाने केलिए तय किये गए भाड़े की गाड़ी का आने जाने का खर्च 7000
20. विकास को 20000 रुपये भेजे गए चूड़ा और गुड़ केलिए जो पंचायत में बांटे गए
21. 6400 (डेंटल, साबुन, शैम्पू, कंघी इत्यादि) का पैकेट अपने पंचायत के जानकी नगर के मल्ली टोला में वितरित किया गया
22. पड़ोस के मलहा टोल गाँव मे मेडिकल कैम्प पर 7000 खर्च हुए
23. 1000 रुपये पटना में भर्ती एक पत्रकार जो कैंसर मरीज हैं उनके विषय मे पढ़ने पर उनके खाते में भेजा

ALSO READ  कोरोना का रोना, बिहार में कई प्राइवेट स्कूल बंद !
ALSO READ  समस्तीपुर : टीका लगवा लीजिए नहीं तो वेतन नहीं मिलेगा ।

कुल खर्चे हो गए 2,14,100। बाकी 10, 486 (2,24,586 – 2,14,100) रुपये हमारे पास बचे हैं जिनका सामाजिक कार्यों में समय के अनुसार उपयोग किया जाएगा।

इसके अलावा जिन संस्थाओं/व्यक्तियों ने आगे आ कर राहत सामग्री के रूप में जो मदद भेजी उसकी लिस्ट भी डाल रही हूँ जो आज भी वितरित की जा रही है। और बाकी सम्बंधित संस्था के द्वारा भेजे गए राहत सामग्री का वितरण सीधा अपने पेज से लाइव आ कर आपको दिखाती रही हूँ। मदद भेजने वाली संस्थाओं/व्यक्तियों के नाम नीचे दिए गए हैं।

जेपी ब्रिगेड, बिहार फ्रेटर्निटी, सीतामढ़ी पब्लिक स्कूल, डॉक्टर तौशिफ़ जी, रफ़ीक अहमद जी, राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं सामाजिक न्याय आयोग के मुजफ्फरपुर इकाई के संदीप जी एवं मुकेश जी (ये जब आये थे तब मैं पंचायत में नहीं थी इसलिए इनके विषय में किसी लाइव में बता नहीं पाई थी), प्रकाश प्रसाद जी, ललित अग्रवाल जी एवं जयप्रकाश अग्रवाल जी, माता भगवती नयन ज्योति अस्पताल, बाजितपुर, अंतराष्ट्रीय हिन्दू परिषद एवं राष्ट्रीय बजरंग दल, नव अस्तित्व फाउंडेशन, रितु चौबे जी, bpsc के फ्रेशर बैच के प्रशिक्षु सहायक आयुक्त की टीम (संजय मिश्रा जी और टीम), बिहार प्रदेश जयसवाल महासभा (पटना एवं बक्सर की टीम), महिला महासभा, डॉक्टर इंतेखाब परवेज़, फ्रण्टेज स्कूल, सीतामढ़ी, उम्दा एनजीओ अभिषेक, लायन्स क्लब सीतामढ़ी सेंट्रल, बिहार महिला संघ, गुजरात से ऋषिकेश जी एवं रामपाल सिंह जी और टीम, एएमयू एल्युमनाई असोसिएशन (कतर), 1 Hour एक प्रयास, ब्याहुत सभा, मुज़्ज़फरपुर, बेंगलोर से रविश ओझा जी। (मैंने किन्हीं का नाम नहीं छोड़ा है पर फ़िर भी यदि भूलवश छूटा हो तो सम्बंधित व्यक्ति/संगठन कृपया बेहिचक बतायें। ये पारदर्शिता केलिए ज़रूरी है)। और जिन्होंने आर्थिक मदद की उनका तो स्टेटमेंट में नाम लिखा है।

ALSO READ  देशद्रोह मामला : आज पुलिस के सामने पेश होंगी मॉडल आयशा सुल्ताना
रितु जयसवाल , मुखिया, सिंहवाहिनी पंचायत, सीतामढी।



इस कठिन परिस्थिति में आपके द्वारा किया गया सेवा दान हमारी ज़हन में सदा रहेगा। देश के ज़िम्मेदार नागरिक होने का फ़र्ज़ आप यूँ ही निभाते रहे। आपके कोशिशों को मैं सलाम करती हूँ। तस्वीरों और वीडियो के माध्यम से इन कार्यों को प्रमाणित किया गया था जिसे आप पुराने पोस्ट्स में देख सकते हैं। और बाकी इन कार्यों को पारदर्शी रखने केलिए बाढ़ के दौरान समय समय पर आप सब के बीच लाइव आ कर भी आपको तंग करती रहती थी। आप सभी को फ़िर से बहुत बहुत धन्यवाद।


कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

दिल्ली : उद्योग विहार की जूता फैक्टरी में लगी आग

दमकल की दर्जनों गाड़ियां मौके पर, छह कर्मचारी लापता बबली सिंह, नई दिल्ली, मौर्य न्यूज18 दिल्ली के उद्योग विहार स्थित एक जूता फैक्टरी और आसपास...