Google search engine
शनिवार, जून 19, 2021
Google search engine
होमSTATEकांग्रेस नेता विद्या बोलीं- किसानों को शराब और पैसे भी दो। Maurya...

कांग्रेस नेता विद्या बोलीं- किसानों को शराब और पैसे भी दो। Maurya News18

-

Maurya News18

National Desk

आप किसी आंदोलन का समर्थन करें या फिर विरोध, ये आपका निजी मामला हो सकता है लेकिन जब आप सरेआम, खुलेआम शराब और पैसे से किसानों की मदद की बात करते हैं तो फिर सार्वजनिक रूप से इसकी जितनी भर्त्सना की जाए, कम है। खासकर जब ऐसी बात कोई राष्ट्रीय पार्टी के नेता करें। किसान आंदोलन का समर्थन कर रहे कांग्रेसी लगातार मोदी सरकार पर हमलावर हैं। कांग्रेस के एक नेता के बयान ने पार्टी की किरकिरी करा दी है।

किसान आंदोलन का बिगड़ता स्वरूप

हरियाणा की नेता विद्या रानी ने कहा है कि किसान आंदोलन हम नेताओं को चलाना है। किसानों की हर तरह से मदद करें। जो पैसा दे सकता है, वो पैसा दे। कुछ लोग शराब भी दे सकते हैं। विद्या रानी के इस बयान का वीडियो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है।

भाषण वाला वीडियो वायरल

विद्या देवी हरियाणा के जींद में कांग्रेस नेताओं से बातचीत कर रही थीं। इस दौरान उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन तो खत्म हो गया था, लेकिन 26 जनवरी के बाद ये फिर मजबूती से खड़ा हो गया है। अब हमलोगों को इस आंदोलन को आगे ले जाना है। ऐसे में आंदोलन कर रहे किसानों की हर तरह से मदद करनी चाहिए। जो सब्जी दे सकता है वो सब्जी दे, जो घी दे सकता है वो घी दे। पैसे से उनकी सहायता करनी चाहिए। विद्या रानी के बेतुके बयान वाला वीडियो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है।

कौन है विद्या रानी

विद्या रानी जींद जिले के गांव दनोदा की रहने वाली हैं। वह कांग्रेस की टिकट पर 2014 और 2019 में नरवाना से विधानसभा चुनाव लड़ चुकी हैं। दोनों ही बार उनकी हार हुई थी। केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने उनके बयान की निंदा की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस स्तर तक गिर गई है। यह दिखाता है कि किसानों का आंदोलन कांग्रेस के लिए क्या मायने रखता है।

नई दिल्ली से मौर्य न्यूज18 के लिए नेशनल डेस्क की रिपोर्ट।

ALSO READ  यूपी के कलाकारों को मिल रही आर्थिक मदद, जरूरतमंद उठा सकते हैं लाभ : राजू श्रीवास्तव

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में...

कोरोना की धीमी लहर के बाद राज्य निर्वाचन आयोग के काम करने की रफ्तार तेज अनुमान दो-तीन माह में चुनाव कराने पर चल रहा विचार बाढ़...

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।