Google search engine
शनिवार, जून 19, 2021
Google search engine
होमSTATEBIG DECISION : भारत में आर्थर रोड जेल के बैरक नंबर 12...

BIG DECISION : भारत में आर्थर रोड जेल के बैरक नंबर 12 में कटेगी ‘मोदी’ की रात, UK की अदालत ने सुनाया फैसला। Maurya News18

-

Maurya News18, Delhi

Legal Desk

अभी-अभी नीरव मोदी को लेकर ब्रिटेन की अदालत से एक बड़ी खबर आ रही है। यूके की अदालत ने फैसला सुनाया कि नीरव मोदी को भारत प्रत्यर्पित किया जाएगा। बता दें कि नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक से करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी करने का आरोप है।

यह मामला सुर्खियों में आने के बाद हीरा कारोबारी नीरव मोदी जनवरी, 2018 में भारत छोड़कर फरार हो गया था। इसी के बाद भारत सरकार ने नीरव मोदी को प्रत्यर्पित करने की प्रक्रिया शुरू की थी। नीरव मोदी फिलहाल लंदन की एक जेल में बंद है।

कोर्ट ने गुरुवार को कहा कि नीरव मोदी का मामला प्रत्यर्पण कानून के सेक्शन 137 की अपेक्षाओं को पूरा करता है। प्रत्यर्पण से बचने के लिए नीरव मोदी की तरफ से भारत में सरकारी दबाव, मीडिया ट्रायल और अदालतों की कमज़ोर स्थिति को लेकर दी गई दलीलों को वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने खारिज कर दिया।

लंदन की अदालत ने इस बात को भी नकारा कि नीरव मोदी की मानसिक स्थिति और स्वास्थ्य प्रत्यर्पण के लिए फिट नहीं है। अदालत ने आर्थर रोड जेल के बैरक नंबर 12 में नीरव मोदी को रखे जाने के बारे में दिए गए आश्वासनों को भी संतोषजनक बताया।

कोर्ट ने कहा कि उसे भोजन, साफ पानी, साफ टॉयलेट, बिस्तर की सुविधा दी जाए। मुंबई सेंट्रल जेल के चिकित्सक भी नीरव के लिए उपलब्ध रहें। अदालत ने सेक्शन 3 के तहत भारत में जान के खतरे को लेकर दी गई दलीलों को भी खारिज कर दिया। 

नीरव मोदी को प्रत्यर्पण वारंट पर 19 मार्च, 2019 को गिरफ्तार किया गया था। प्रत्यर्पण मामले के सिलसिले में हुई कई सुनवाइयों के दौरान वह वॉन्ड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के जरिए कोर्ट की कार्यवाही में शामिल होता था।

ALSO READ  दिल्ली - आखिर जमानत मिल ही गई ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में...

कोरोना की धीमी लहर के बाद राज्य निर्वाचन आयोग के काम करने की रफ्तार तेज अनुमान दो-तीन माह में चुनाव कराने पर चल रहा विचार बाढ़...

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।