Google search engine
शनिवार, जून 19, 2021
Google search engine
होमSTATEएंटीलिया केस में सचिन के घर से मिलीं 62 गोलियां, भेजे गए...

एंटीलिया केस में सचिन के घर से मिलीं 62 गोलियां, भेजे गए जेल। Maurya News18

-

Maurya News18, Patna

Political Desk

एंटीलिया केस में गिरफ्तार मुंबई पुलिस के API सचिन वाजे के घर से 62 गोलियां मिली हैं। केंद्रीय जांच एजेंसी ने बताया कि 62 कारतूसों का कहीं कोई रिकॉर्ड नहीं है। वझे को सर्विस रिवॉल्वर के लिए दी गई 30 गोलियों में से सिर्फ पांच बरामद हुई हैं। पूछताछ में वझे ने यह नहीं बताया कि बाकी की गोलियां कहां गईं।

मुंबई पुलिस के API सचिन वाजे को लेकर गुरुवार को NIA कोर्ट में सुनवाई हुई। जांच एजेंसी की दलीलों के बाद कोर्ट ने वझे को 3 अप्रैल तक के लिए कस्टडी में भेज दिया।

अदालत में सुनवाई के दौरान सचिन वाजे ने कहा कि वे राजनीति के शिकार हुए हैं। उसे इस केस में बलि का बकरा बनाया जा रहा है। मैंने 12 दिनों तक इस केस की छानबीन की और फिर कुछ बदलाव हुआ और मुझे NIA ने गिरफ्तार कर लिया।

NIA ने शनिवार की शाम सचिन वझे से 12 घंटे तक पूछताछ की थी, उसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। वझे के खिलाफ आईपीसी की धारा 285, 465, 473, 506(2), 120 B के तहत केस दर्ज किया गया है।

क्या है पूरा मामला

25 फरवरी को हरे रंग की स्कॉर्पियो उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर लावारिस खड़ी मिली थी। बम डिस्पोजल स्क्वॉड ने उसमें से 20 जिलेटिन स्टिक्स बरामद की थीं। साथ में अंबानी के काफिले की कुछ गाड़ियों के नंबर प्लेट्स और एक चिट्टी भी मिली थी।

इस स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन का शव 5 मार्च को मुम्ब्रा की खाड़ी से बरामद हुआ था। इसके बाद महाराष्ट्र ATS ने इसमें हत्या का केस दर्ज किया था। वहीं, एंटीलिया केस में NIA की एंट्री हुई और उन्होंने सचिन वाजे को अरेस्ट किया था। वाजे 25 मार्च तक NIA कस्टडी में थे।

ALSO READ  यूपी के कलाकारों को मिल रही आर्थिक मदद, जरूरतमंद उठा सकते हैं लाभ : राजू श्रीवास्तव

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में...

कोरोना की धीमी लहर के बाद राज्य निर्वाचन आयोग के काम करने की रफ्तार तेज अनुमान दो-तीन माह में चुनाव कराने पर चल रहा विचार बाढ़...

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।