Google search engine
रविवार, जून 20, 2021
[t4b-ticker]
Google search engine
होमPOLITICAL NEWSपीएम मोदी क्या चाहते हैं कांग्रेस से !

पीएम मोदी क्या चाहते हैं कांग्रेस से !

-

पीएम ने सदन में तंज भरे लहजों में कांग्रेस की तारीफ की

नयन, मौर्य न्यूज18

दिल्ली। कांंग्रेस आप खूब उंचाइयों पर जाइए। आप और उंचाइयों को पाइए । आप इतने ऊपर चले जाइए कि नीचे के लोग आपको छोटे-छोटे दिखने लगे। लेकिन मुझे तो जमीन और जड़ से जुड़े रहना है। हमारी मंशा साफ है कि जड़ को मजबूत कर देश को मजबूत करते रहें। लेकिन कांग्रेस को ऊंचाई पसंद है। उन्हें ऊंचाई मुबारक हो।

पीएम मोदी ने कहा कि देश में अबतक जितनी भी सरकारें रहीं सबने देश के लिए कुछ ना कुछ बेहतर किया। देश के लिए योगदान देने से किसी का इनकार नहीं है। मेरा भी नहीं। लेकिन सदन के अंदर कभी भी कांग्रेस ने परिवार छोड़कर किसी भी सरकार की प्रशंसा नहीं की। ये बहुत ही दुख की बात है।

पीएम मोदी 25 जून 2019 को सदन में अपनी बातें रख रहे थे। उन्होंने कहा कि चुनाव बाद सदन के अंदर बहुत सारी छायावादी बातें हुईं। सबने अपने-अपने एजेंडे के तहत बातें रखीं। अच्छी बात ये भी रही कि सबने अपनी राय सदन में खुलकर रखी ।

अब मैं ये कह सकता हूं कि जो भी इस देश को चलाते रहे उन्हें कोसने भर के लिए मैं यहां नहीं हूं। देश की तरक्की के लिए लोकतंत्र की मजबूती के लिए काम करते रहेंगे। पीएम ने कहा कि कांग्रेस इतने समय से देश पर शासन की और एकबार भी अटल की सरकार किसी काम के लिए कोई तारीफ में यहां एक शब्ब भी नहीं बोली। और तो और 2004 के बाद 2014 कांग्रेस की ही सरकार रही नरसिंहम्हा राव से लेकर मनमोहन सिंह तक । अगर इनकी भी तारीफ कांग्रेस की होती तो बात समझ में आती। लेकिन नहीं की। इनके कामों के बारे में एक शब्द भी नहीं कही। नाम तक नहीं लिया गया। समझ सकते हैं कि कांग्रेस सिर्फ और सिर्फ किसका नाम लेना चहती है।

ALSO READ  देशद्रोह मामला : आज पुलिस के सामने पेश होंगी मॉडल आयशा सुल्ताना
ALSO READ  देशद्रोह मामला : आज पुलिस के सामने पेश होंगी मॉडल आयशा सुल्ताना

पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस को सबका सम्मान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुझे बार-बार कहा जाता है कि सिर्फ अपनी उपलब्धि ही गिवाता हूं। तो उनको ये जानना चाहिए कि गुरजरात में जब में सरकार चलाने का मौका मुझे मिला तो गुजरात स्थापना काल के 50 बर्ष पूरे होने पर हमने शुरू से लेकर उस समय तक राज्यपाल के जरिए सरकार दिए गए अभिभाषण का संग्रह कराकर उसकी कितबें बनवाई। उसमें तो हमारे तीन र्टम को छोड़कर बांकी तो आपही के कामकाजों का लेखा-जोखा था। फिर भी हमने उसे एक उपलब्धि के तौर पर तमाम भाषणों को संग्रहित कर उसे उपयोगी बनाया।

लेकिन कांग्रेस कभी ऐसा नहीं सोचती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

देशद्रोह मामला : आज पुलिस के सामने पेश होंगी मॉडल आयशा...

Social Activist हैं आयशा, कोच्चि से लक्षद्वीप के लिए हुई रवाना, बोली- मैं कुछ भी गलत नहीं बोली।
ALSO READ  बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में लग गया है।
कोच्चि/नई दिल्ली, मौर्य न्यूज18 कोच्चि, लक्षद्वीप की सामाजिक...