Google search engine
शनिवार, जून 19, 2021
Google search engine
होमटॉप न्यूज़ताजा खबर 150 करोड़ रुपए के बेनामी होटल की ! Maurya News18

ताजा खबर 150 करोड़ रुपए के बेनामी होटल की ! Maurya News18

-

गेस्ट रिपोर्ट

जाने-माने वरिष्ठ पत्रकार सुरेन्द्र किशोर की कलम से

गुरगांव स्थित होटल जिसे आयकर विभाग ने जब्त किया है। और दूसरी तस्वीर कांग्रेसनेता कुलदीप बिसन्नोई की।

नाजायज संपत्ति का भंडाफोड़ होता रहा है

आज के अखबार में खबर है कि हरियाणा के एक पूर्व मुख्य मंत्री के परिजन का 150 करोड़ रुपए के बेनामी होटल का पता चला है। आयकर महकमे ने उसे जब्त कर लिया है। वह दिवंगत मुख्यमंत्री दल -बदल कर -करके सत्ता में बना रहता था। यानी हर दल में उसके समर्थक -प्रशंसक थे। हालांकि इस देश के साथ ऐसा सलूक करने वाला वह अकेला नेता नहीं है । पक्ष-विपक्ष के ऐसे न जाने कितने नेताओं के अरबों -खरबों रुपए की नाजायज संपत्ति का समय -समय पर भंडाफोड़ होता रहता है। भ्रष्टाचार के आरोपों में कई नेता जेलों में हैं और कई अन्य उसी रास्ते पर हैं।

सोने की चिड़िया सुनकर विदेशी लुटेरे आए…!

कांग्रेस लीडर सोनिया गांधी औऱ राहुल गांधी के साथ लाल घेरे में कुलदीप बिशन्नोई । फाइल फोटो ।

कभी अपने देश को सोने की चिडि़या कहा जाता था। विदेशी लुटेरे उसी खबर को सुनकर यहां आए। चंगेज खान से लेकर बाबर और ईस्ट इंडिया कंपनी  तक। कई लूट कर चले गए। कई अन्य अपने धर्म के विस्तार के लिए यहीं बस गए। पर, 1947 के बाद भी छोटे -बड़े देसी चंगेज खान,नादिरशाह और वारेन हेस्ंिटग्स सक्रिय रहे। पहले कम और समय बीतने के साथ ज्यादा। पहले हम ईमानदार नेताओं की भीड़ में लुटेरे खोजते थे।  अब हम लुटेरों की भीड़ में ईमानदार नेता खोजते हैं। हालांकि आज की राजनीति में भी कुछ ईमानदार नेता मौजूद हैं।   यदि आजादी के बाद  पक्ष-विपक्ष के नेतागण कठोर ईमानदार रहे होते तो हम एक बार फिर सोने की  चिडि़या होते। फिर तो न हमारी ओर चीन को आंख उठाकर देखने की हिम्मत होती न ही कोई अन्य  देश जिहाद के लिए हमारे यहां लश्कर भेज पाता।

चीन में लश्कर भेजने की हिम्मत क्यों नहीं ! 

चीन में किसी को लश्कर भेजने की हिम्मत क्यों नहीं हो रही है जबकि वहां 2 करोड़ अल्पसंख्यकों को वहां की सरकार जबरन अपने ‘अनुकूल’ बना रही है ?  इसलिए नहीं हो रही है क्योंकि चीन में भ्रष्टों को फांसी पर चढ़ा दिया जाता है।अपने पैसों को लूट में जाने से रोककर चीन ने खुद को मजबूत बना लिया है। पर हमारे यहां जो जितना बड़ा भ्रष्ट,अपराधी और जातिवादी-संप्रदायवादी है,उसके लिए उतने ही अधिक ऊंचे पद पर पहुंच जाने की संभावना बनी रही है।

ALSO READ  एक अभिनेता की असली ताकत क्या है, हर कलाकार को जानना चाहिए : अमोल पालेकर
ALSO READ  बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में लग गया है।

गेस्ट परिचय

आपने रिपोर्ट लिखी है

सुरेन्द्र किशोर

आप बिहार से हैं। आप जाने-माने वरिष्ठ पत्रकार हैं। देश के कई प्रतिष्ठत संस्थानों में संपादकीय विभाग में आपने अपनी सेवा दी है। आपकी कलम से लिखी गई कई रिपोर्ट देश औऱ समाज को बेहद गहरी खबरें दी हैं। आपकी लेखनी बेवाक रही है। आप देशहित में चलने वाले विभिन्न आंदोलनों में भी प्रत्य़क्ष और अप्रत्यक्ष रूप से हिस्सा लेते रहे हैं।

आपका आभार !

जानकारी के लिए बता दें कि

हरियाणा के कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई और उनके भाई का निकला 150 करोड़ का बेनामी होटल

नई दिल्ली से खबर है कि इंकटैक्स डिपार्टमेंट ने हरियाणा कांग्रेस के नेता कुलदीप बिश्नोई और उनके भाई का गुड़गांव में स्थित 150 करोड़ रुपए का एक होटल ‘बेनामी’ सम्पत्ति के तौर पर जब्त कर लिया है। मिल रही जानकारी के अनुसार पूरी तरह से पता लगाने के बाद मंगलवार 28 अगस्त को इसका खुलासा किया गया । जानकारी के अनुसार, विभाग की दिल्ली बेनामी निषेध इकाई ने होटल सम्पत्ति को जब्त करने के आदेश जारी किए थे। विभाग ने बताया कि बेनामी संपत्ति लेनदेन (निषेध) अधिनियम 1988 की धारा 24(3) के तहत आदेश जारी किए गए थे। विभाग ने बिश्नोई और उनके परिवार के खिलाफ कर चोरी के आरोपों के चलते इस साल जुलाई में व्यापक स्तर पर छापेमारी की थी।

आयकर विभाग द्वारा जब्त की गई संपत्ति का स्वामित्व ब्राइट स्टार होटल प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर है, जिसमें 34% शेयर ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड के हैं। यह कंपनी संयुक्त अरब अमीरात से संचालित होती है। आयकर विभाग ने यह कार्रवाई जुलाई 2019 में कंपनी से जुड़ी जांच में सबूत के आधार पर की है। इस जांच में आयकर विभाग को कई ऐसे सबूत हाथ लगे थे जिससे कंपनी के स्वामित्व पर शक हुआ था। ब्रिस्टल होटल के स्वामित्व को लेकर आयकर विभाग ने अनियमितता पाई थी। इसके बाद कार्रवाई करते हुए बेनामी संपत्ति को जब्त कर लिया।

ALSO READ  दिल्ली - आखिर जमानत मिल ही गई ।
ALSO READ  दिल्ली - आखिर जमानत मिल ही गई ।


मौर्य न्यूज18 के लिए गेस्ट रिपोर्ट

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Must Read

बिहार में पंचायत चुनाव : रहिए तैयार, आयोग EVM जुटाने में...

कोरोना की धीमी लहर के बाद राज्य निर्वाचन आयोग के काम करने की रफ्तार तेज अनुमान दो-तीन माह में चुनाव कराने पर चल रहा विचार बाढ़...

दिल्ली – आखिर जमानत मिल ही गई ।